Sunday, July 14, 2024
Homeदेश-समाजप्रिंसिपल रिजवान अहमद ने छात्रा को नग्न किया, फिर करने लगा अश्लील हरकतें: स्कूल...

प्रिंसिपल रिजवान अहमद ने छात्रा को नग्न किया, फिर करने लगा अश्लील हरकतें: स्कूल में छुट्टी के बाद बंधक बनाया, कमरा बंद कर के यौन शोषण

साथ ही उसने छात्रा को धमकी भी दी कि वो किसी को भी इस घटना के बारे में कुछ न बताए। पीड़िता 5वीं कक्षा में पढ़ती है और मात्र 10 साल की है।

उतर प्रदेश के अयोध्या में एक स्कूली छात्रा के यौन शोषण के मामला सामने आया है। ये घटना किसी और ने नहीं बल्कि स्कूली शिक्षक ने ही अंजाम दिया। स्कूल के प्रधानाचार्य रिजवान अहमद ने लड़की को अकेले देख कर उसके साथ हैवानियत की। वो उसे जबरदस्ती एक कमरे में लेकर गया और कमरे को अंदर से बंद कर लिया। उसकी जोर-जबरदस्ती के कारण बच्ची रोने लगी। प्रधानाध्यापक रिजवान अहमद ने बच्ची को उसके कपड़े उतारने के लिए मजबूर किया।

साथ ही उसने छात्रा को धमकी भी दी कि वो किसी को भी इस घटना के बारे में कुछ न बताए। पीड़िता 5वीं कक्षा में पढ़ती है और मात्र 10 साल की है। ये घटना रुदौली तहसील क्षेत्र के बाबा बाजार थाने के अंतर्गत आने वाले इलाके की है। मामला कुछ यूँ है कि शनिवार (16 सितंबर, 2023) को नाबालिग छात्रा प्राइमरी विद्यालय भूलामऊ द्वितीय में पढ़ने के लिए गई थी। छुट्टी के बाद जब वो सभी बच्चों के साथ घर जाने लगी तो प्रधानाध्यापक रिजवान अहमद ने उसे रोक लिया।

जब सभी शिक्षक और छात्र-छात्राएँ स्कूल से चले गए तो रिजवान अहमद ने बच्ची के साथ गलत हरकतें करनी शुरू कर दी। बच्ची विरोध करती रही, लेकिन इसने उसके कपड़े उतरवा दिए। बच्ची को निर्वस्त्र करने के बाद वो अश्लील हरकतें करने लगा। इस घटना और उसकी धमकियों से बच्ची इतनी डर गई कि वो गुमसुम रहने लगी और किसी से इसका कोई जिक्र नहीं किया। परिवार वालों को शक हुए तो उन्होंने काफी पूछताछ की, तब जाकर इस घटना का भेद खुला।

इसके बाद परिजन उसे बाबा बाजार थाने लेकर गए और वहाँ उसकी शिकायत के आधार पर FIR दर्ज की गई। CO ने फिर घटनास्थल का दौरा किया। पुलिस ने आरोपित प्रिंसिपल रिजवान अहमद को गिरफ्तार कर लिया है। उसे जेल भेज दिया गया है। शिक्षा विभाग ने भी उसे निलंबित कर के विभागीय जाँच के आदेश दिए हैं। पुलिस ने फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट के माध्यम से सज़ा दिलाने का आश्वासन दिया है। उसके खिलाफ पॉक्सो की धारा भी लगाई गई है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जगन्नाथ मंदिर के ‘रत्न भंडार’ और ‘भीतरा कक्ष’ में क्या-क्या: RBI-ASI के लोगों के साथ सँपेरे भी तैनात, चाबियाँ खो जाने पर PM मोदी...

कहा जाता है कि इसकी चाबियाँ खो गई हैं, जिस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सवाल उठाया था। राज्य में भाजपा की पहली बार जीत हुई है, वर्षों से यहाँ BJD की सरकार थी।

मांस-मछली से मुक्त हुआ गुजरात का पालिताना, इस्लाम और ईसाइयत से भी पुराना है इस शहर का इतिहास: जैन मंदिर शहर के नाम से...

शत्रुंजय पहाड़ियों की यह पवित्रता और शीर्ष पर स्थित धार्मिक मंदिर, साथ ही जैन धर्म का मूल सिद्धांत अहिंसा है जो पालिताना में मांस की बिक्री और खपत पर प्रतिबंध लगाने की मांग का आधार बनता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -