Saturday, July 20, 2024
Homeराजनीति'यादव सिर्फ 7%, हम 25%': मुस्लिम को बनाएँ सपा का राष्ट्रीय अध्यक्ष, अखिलेश से...

‘यादव सिर्फ 7%, हम 25%’: मुस्लिम को बनाएँ सपा का राष्ट्रीय अध्यक्ष, अखिलेश से बरेलवी उलेमा ने माँगी कुर्बानी

मौलाना ने कहा है कि अखिलेश यादव की बिरादरी के लोग पूरे उत्तर प्रदेश में महज 7% हैं। राज्य में मुस्लिमों की तादाद 22 से 25% है। ये मुस्लिमों का हक है कि इस बार समाजवादी पार्टी के तमाम बड़े ओहदे वही तय करें।

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से समाजवादी पार्टी (SP) का राष्ट्रीय अध्यक्ष किसी मुस्लिम को बनाने की माँग की गई है। यह माँग बरेलवी उलेमा मौलाना शहाबुद्दीन ने की है। वे ऑल इंडिया मुस्लिम जमात के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी हैं।

मौलाना ने कहा है कि यदि अखिलेश यादव ऐसा नहीं करते हैं तो मुस्लिमों के पास भी विकल्प खुले हैं। उन्होंने सपा के मुस्लिम प्रेम को महज दिखावा करार दिया है। ये बातें उन्होंने मंगलवार (27 सितंबर 2022) को कही।

मौलाना शहाबुद्दीन ने अपने वीडियो संदेश की शुरुआत में 28-29 सितंबर 2022 को लखनऊ में होने वाले समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सम्मेलन का जिक्र किया है। कहा है कि इस सम्मेलन में सपा का राष्ट्रीय अध्यक्ष तय होना है। मौलाना शहाबुद्दीन के अनुसार ये लगभग पहले से तय है कि अखिलेश यादव ही राष्ट्रीय अध्यक्ष बनेंगे।

अपने वीडियो में मौलाना शहाबुद्दीन ने आगे कहा है कि इस बार समाजवादी पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष किसी मुस्लिम को बनाया जाना चाहिए, क्योंकि मुस्लिमों ने मुलायम और अखिलेश दोनों को मुख्यमंत्री बनाया। उन्होंने कहा कि पहले जो सपा पहले थी अब वो नहीं है। अब सपा बिखर चुकी है। अखिलेश यादव मुस्लिमों के मुद्दों को नजरअंदाज करते हैं।

मौलाना ने कहा है कि अखिलेश यादव की बिरादरी के लोग पूरे उत्तर प्रदेश में महज 7% हैं। राज्य में मुस्लिमों की तादाद 22 से 25% है। ये मुस्लिमों का हक है कि इस बार समाजवादी पार्टी के तमाम बड़े ओहदे वही तय करें। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष का पद मुस्लिमों को देने की कुर्बानी अखिलेश यादव को देनी पड़ेगी। अखिलेश यादव ये कुर्बानी नहीं दे सकते तो आने वाले चुनावों में मुस्लिमों के पास दूसरे विकल्प मौजूद हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -