कश्मीरी छात्रों ने योगी का अदा किया शुकराना, कहा- हमें अकेला महसूस नहीं होने दिया

उत्तर प्रदेश के विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों में पढ़ रहे जम्मू-कश्मीर के छात्रों ने मुख्यमंत्री से की मुलाकात। राज्य में संचार और इंटरनेट की बाधित सेवाओं को लेकर की बात। सरकार के प्रयासों की सराहना की।

उत्तर प्रदेश के शैक्षणिक संस्थानों में पढ़ रहे जम्मू-कश्मीर के छात्रों ने शनिवार (सितंबर 28, 2019) को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की। राज्य में अनुकूल माहौल बनाने के उनके प्रयासों की सराहना की। एक छात्र ने कहा, “जब हम अपने परिवारों से दूर हैं, मुख्यमंत्री योगी ने हमें अकेला महसूस नहीं होने दिया।”

एक अन्य छात्र आदर्श गोस्वामी ने कहा, “उन्होंने हमें आश्वासन दिया कि वह हमारी सारी समस्याओं को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सामने रखेंगे। इन दिनों कनेक्टिविटी की समस्या है, इसे हल किया जाना चाहिए।” श्रीनगर की रहने वाली शफाक खान ने कहा, “ऐसे समय में जब हम संचार सेवाओं पर प्रतिबन्ध के कारण अपने परिवारों से बात नहीं कर पा रहे हैं, तो अच्छा लगता है जब कोई व्यक्ति हमें विश्वास दिलाता है कि वह हमारा अभिभावक है और हम उसे अपनी शिकायतों और चिंताओं के बारे में बता सकते हैं।” शफाक ने बताया कि इस दौरान कोई राजनीतिक चर्चा नहीं हुई।

जम्मू के एक छात्र ने कहा, “उन्होंने हमारी शिकायत और समस्या को अत्यंत धैर्य के साथ सुना। छात्रों ने उन्हें उनकी शैक्षणिक और अन्य शिकायतों के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि वह हमारे लिए गार्जियन की तरह हैं।”

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

श्रीनगर के एक छात्र ने कहा, “मुख्यमंत्री ने हमारी समस्याएँ सुनीं और उनके तुरंत समाधान किए जाने का आश्वासन दिया। मुख्यमंत्री ने हमें यह आश्वासन भी दिया कि वह कश्मीर में बंद अर्थव्यवस्था के बारे में जल्द ही केंद्र सरकार से बात करेंगे।”

श्रीनगर के एक अन्य छात्र ने भी कहा,”मैं सीएम योगी का बहुत आभारी हूँ कि उन्होंने अपने व्यस्त कार्यक्रम से समय निकाला और कश्मीरी छात्रों के साथ एक संवाद स्थापित किया। आज, मैं बहुत खुश हूँ क्योंकि उत्तर प्रदेश में कोई है, जो एक अभिभावक के रूप में हमारी समस्याएँ सुनेंगे और मार्गदर्शन करेंगे।”

पूँछ के रहने वाले एक छात्र ने कहा कि उन्होंने राज्य में बंद इंटरनेट सेवाओं पर मुख्यमंत्री से बात की, जिस पर सीएम ने उन्हें आश्वासन दिया है। छात्र ने कहा, “हमें खुशी है कि यूपी सरकार हमारी सुरक्षा को लेकर चिंतित है।”

बता दें कि, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को नोएडा, ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद और अलीगढ़ में रहने वाले जम्मू-कश्मीर के छात्रों के साथ बातचीत की। उन्होंने विद्यार्थियों से कहा, “आप दूसरे प्रदेशों से यहाँ पढ़ रहे हैं। जाहिर है कि इतने समय आपके माता-पिता यहाँ नहीं रह सकते हैं। ऐसे में आपकी सुविधा और सुरक्षा की जिला स्तर पर जिला प्रशासन और राज्य स्तर पर मेरी जिम्मेदारी है। मेरी भूमिका आपके लिए अभिभावक की तरह है और यह मेरी जिम्मेदारी है कि मैं आपकी बात सुनूँ।”

आगे मुख्यमंत्री ने कहा, “आज आप छात्रों के रूप में यहाँ हैं, हो सकता है कि कल आप उत्तर प्रदेश में प्रशासन का हिस्सा होंगे। हम एक लोकतांत्रिक समाज में रहते हैं। संचार महत्वपूर्ण है। हमारे जीवन में समृद्धि तभी आती है जब हम विकसित होते हैं।” उन्होंने कश्मीरी छात्रों को उनकी छात्रवृत्ति और फीस के संबंध में हर संभव मदद करने का आश्वासन दिया।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

शरजील इमाम
शरजील इमाम वामपंथियों के प्रोपेगंडा पोर्टल 'द वायर' में कॉलम भी लिखता है। प्रोपेगंडा पोर्टल न्यूजलॉन्ड्री के शरजील उस्मानी ने इमाम का समर्थन किया है। जेएनयू छात्र संघ की काउंसलर आफरीन फातिमा ने भी इमाम का समर्थन करते हुए लिखा कि सरकार उससे डर गई है।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

144,507फैंसलाइक करें
36,393फॉलोवर्सफॉलो करें
164,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: