Friday, July 19, 2024
Homeराजनीतिपूरे परिवार के साथ PM मोदी से मिले महाराष्ट्र के CM एकनाथ शिंदे, रायगढ़...

पूरे परिवार के साथ PM मोदी से मिले महाराष्ट्र के CM एकनाथ शिंदे, रायगढ़ भूस्खलन में अनाथ हुए बच्चों को लेंगे गोद

"इरशालवाड़ी भूस्खलन में कई बच्चों ने अपने माता-पिता दोनों को खो दिया है। सीएम एकनाथ शिंदे ने इन बच्चों को गोद लेने और उनके अभिभावक बनने की घोषणा की है। सीएम ने घोषणा की है कि 2 साल से 14 साल की उम्र के इन अनाथ बच्चों की देखभाल श्रीकांत शिंदे फाउंडेशन द्वारा की जाएगी।"

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) ने शनिवार (22 जुलाई 2023) को अपने पूरे परिवार के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) से मुलाकात की। उनके साथ पिता, पत्नी, बेटा, बहु और पोता थे। सीएम शिंदे ने रायगढ़ में भूस्खलन के चलते अनाथ हुए बच्चों को गोद लेने की घोषणा भी की है। इन बच्चों की शिक्षा समेत अन्य सभी चीजों की व्यवस्था श्रीकांत शिंदे फाउंडेशन करेगी।

पीएम मोदी से मुलाकात के दौरान सीएम एकनाथ शिंदे के साथ उनके पिता संभाजी शिंदे, पत्नी लता शिंदे, शिवसेना सांसद और बेटा श्रीकांत शिंदे, बहु रुषाली शिंदे और पोता रुद्राक्ष मौजूद रहे। मुलाकात का समय देने के लिए सीएम शिंदे ने प्रधानमंत्री मोदी के प्रति आभार जताया है। साथ ही कहा है कि कई विकासकारी परियोजनाओं पर इस दौरान बात हुई। सीएम एकनाथ शिंदे ने कहा, “पिताजी व पूरे परिवार के साथ आदरणीय प्रधानमंत्री मोदी जी से हमने मुलाकात की है। इस मुलाकात के दौरान उन्होंने काफी समय हमारे परिवार को दिया। इसके लिए मैं उनका आभार व्यक्त करता हूँ।”

उन्होंने आगे कहा है, “इस सबके बीच राज्य की जो परिस्थिति है, बारिश हो रही है और रायगढ़ में जो हादसा हुआ, उसकी चर्चा हुई। इसके अलावा राज्य में चल रही परियोजनाओं को लेकर बात हुई। धारावी और मुंबई की अटकी हुई पुनर्विकास परियोजनाओं पर भी चर्चा की। लोगों को घर देना प्रधानमंत्री जी का अहम प्रकल्प है। इसे उन्होंने प्राथमिकता दी हुई है।”

रायगढ़ में अनाथ हुए बच्चों को लेंगे गोद

रायगढ़ जिले के इरशालवाड़ी गाँव में 19 जुलाई, 2023 की रात हुए भूस्खलन में 25 लोगों की मौत हो चुकी है। 84 लोग अब भी लापता बताए जा रहे हैं। कई ऐसे परिवार हैं जिनके एक से अधिक सदस्यों की मौत हो गई है। कुछ बच्चों के माता-पिता दोनों की मौत हो गई है। ऐसे में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने अनाथ हुए बच्चों को गोद लेने का ऐलान किया है। 2 साल से लेकर 14 साल तक के ऐसे सभी बच्चे अब श्रीकांत फाउंडेशन की जिम्मेदारी होंगे।

शिवसेना (शिंदे गुट) की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है, “इरशालवाड़ी भूस्खलन में कई बच्चों ने अपने माता-पिता दोनों को खो दिया है। सीएम एकनाथ शिंदे ने इन बच्चों को गोद लेने और उनके अभिभावक बनने की घोषणा की है। सीएम ने घोषणा की है कि 2 साल से 14 साल की उम्र के इन अनाथ बच्चों की देखभाल श्रीकांत शिंदे फाउंडेशन द्वारा की जाएगी।” वहीं, सीएम शिंदे के ओएसडी मंगेश चिवटे ने कहा है, “शिक्षा और अन्य चीजों पर सभी खर्च सीएम एकनाथ शिंदे के बेटे द्वारा संचालित श्रीकांत शिंदे फाउंडेशन के माध्यम से किया जाएगा। प्रत्येक बच्चे की शिक्षा के लिए एक एफडी की जाएगी।”

गौरतलब है कि सीएम एकनाथ शिंदे ने हादसे की जानकारी सामने आने के बाद 20 जुलाई को मौके पर पहुँचकर राहत और बचाव कार्य का जायजा लिया था। मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रुपए की सहायता राशि देने का ऐलान किया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पुरी के जगन्नाथ मंदिर का 46 साल बाद खुला रत्न भंडार: 7 अलमारी-संदूकों में भरे मिले सोने-चाँदी, जानिए कहाँ से आए इतने रत्न एवं...

ओडिशा के पुरी स्थित महाप्रभु जगन्नाथ मंदिर के भीतरी रत्न भंडार में रखा खजाना गुरुवार (18 जुलाई) को महाराजा गजपति की निगरानी में निकाल गया।

1 साल में बढ़े 80 हजार वोटर, जिनमें 70 हजार का मजहब ‘इस्लाम’, क्या याद है आपको मंगलदोई? डेमोग्राफी चेंज के खिलाफ असम के...

असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने तथ्यों को आधार बनाते हुए चिंता जाहिर की है कि राज्य 2044 नहीं तो 2051 तक मुस्लिम बहुल हो जाएगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -