Saturday, July 31, 2021
Homeराजनीतिज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक मुन्नालाल गोयल पर पत्थरों से हमला, लगाया कॉन्ग्रेस पर मारने...

ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक मुन्नालाल गोयल पर पत्थरों से हमला, लगाया कॉन्ग्रेस पर मारने की साजिश का आरोप

मुन्नालाल गोयल ने कॉन्ग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि कॉन्ग्रेस की ये सब साजिश है। उन्हें उनके मतदाताओं से मिलने से रोका जा रहा है। लेकिन वे इस तरह की घटनाओं से डरने वाले नहीं हैं और अपने समर्थकों से मिलने जाते रहेंगे। उन्होंने कहा कि.......

भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक व पूर्व विधायक मुन्नालाल गोयल पर हमले की खबर है। घटना ग्वालियर जिले के सिरौल थाना कैंपस की है। यहाँ भीड़ ने मंगलवार (जून 9, 2020) को उनपर पथराव किया। इस घटना में उनका सिर फूट गया और गाड़ी क्षतिग्रस्त हो गई। उनके सिर में चार टाँके भी आए।

मुन्नालाल गोयल ने अपने ऊपर हुए इस हमले के लिए कॉन्ग्रेस को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कॉन्ग्रेस पर उनकी हत्या की साजिश रचने का आरोप लगाया। उन्होंने बताया कि यह हमला उनपर उस समय हुआ जब वह एक बीए के छात्र की हत्या की खबर सुनकर सिरौल गाँव गए थे और फिर वहाँ से थाने पहुँचे थे।

उन्होंने बताया कि मंगलवार सुबह सिरौल थाना क्षेत्र में दलित युवक की हत्या होने की उन्हें सूचना मिली। जिसके बाद वह पीड़ित परिवार के प्रति सांत्वना व्यक्त करने उनके घर पहुँचे। परिवार से मिलने के बाद जैसे ही वे थाने पहुँचे उनकी कार पर पथराव शुरू हो गया।

उनके मुताबिक, पत्थरबाजी देखकर इससे पहले उन्हें कुछ समझ आता, एक पूरी भीड़ ने उनकी कार को घेर लिया। इसके बाद उन्हें पीछे से किसी ने सिर में कुछ मारा। वे कहते हैं कि अगर ड्राइवर तुरंत गाड़ी रिवर्स नहीं करता तो बड़ा हादसा हो सकता था।

मुन्नालाल गोयल ने कॉन्ग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि कॉन्ग्रेस की ये सब साजिश है। उन्हें उनके मतदाताओं से मिलने से रोका जा रहा है। लेकिन वे इस तरह की घटनाओं से डरने वाले नहीं हैं और अपने समर्थकों से मिलने जाते रहेंगे। उन्होंने कहा कि भगवान हमलावरों को सदबुद्धि दे कि भविष्य में इस तरह का कृत्य नहीं करें।

गौरतलब है कि सिंधिया के समर्थक मुन्नालाल गोयल बीते दिनों सिंधिया के कॉन्ग्रेस छोड़ते ही भाजपा में शामिल हो गए थे। उनके इस्तीफे के बाद ग्वालियर पूर्व की सीट भी खाली हो गई थी। अब आने वाले समय में यहाँ पर भी उपचुनाव होने वाले हैं। जिनमें गोयल टिकट के सबसे मजबूत दावेदार हैं, इसलिए उन्होंने अपने विधानसभा में इसकी तैयारी भी शुरू कर दी है।

यहाँ बता दें, मंगलवार को हुई इस घटना के मद्देनजर मुन्नालाल गोयल ने फैसला लिया है कि वह इस मामले में एफआईआर दर्ज नहीं करवाएँगे। उन्होंने कहा है कि इस मामले में वह सारा फैसला जनता पर छोड़ते हैं। वहीं, गोयल के आरोप पर ग्वालियर शहर जिला कॉन्ग्रेस अध्यक्ष डॉ. देवेंद्र शर्मा ने पलटवार करते हुए कहा कि जनाधार खिसकता देखकर सहानुभूति बटोरने के लिए पूर्व विधायक ने हमले की साजिश रची है। उनका पूछना है कि आखिर वह आज अपने सुरक्षागार्ड को साथ लेकर क्यों नहीं गए। जबकि लॉकडाउन में 24 घंटे उनका सुरक्षा गार्ड उनके साथ था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

20 से ज्यादा पत्रकारों को खालिस्तानी संगठन से कॉल, धमकी- 15 अगस्त को हिमाचल प्रदेश के CM को नहीं फहराने देंगे तिरंगा

खालिस्तान समर्थक सिख फॉर जस्टिस ने हिमाचल प्रदेश के 20 से अधिक पत्रकारों को कॉल कर धमकी दी है कि 15 अगस्त को सीएम तिरंगा नहीं फहरा सकेंगे।

‘हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेजी’: PM मोदी के खिलाफ पोस्टर पर 25 FIR, रद्द करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना वाले पोस्टर चिपकाने को लेकर दर्ज एफआईआर को रद्द करने से इनकार कर दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,104FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe