Saturday, July 20, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयबांग्लादेश में 150 साल पुराने बौद्ध मठ को फूँक दिया: सत्ताधारी दल ने खालिदा...

बांग्लादेश में 150 साल पुराने बौद्ध मठ को फूँक दिया: सत्ताधारी दल ने खालिदा जिया की पार्टी पर मढ़ा दोष, दीवार फाँद कर आया था नकाबपोश

रामू पुलिस स्टेशन के इंचार्ज ने आगे कहा, "हालाँकि, कोई अन्य बड़ा नुकसान नहीं हुआ क्योंकि आग तुरंत बुझ गई, लेकिन 150 साल पुराने मठ में लगी आग से इसकी सीढ़ियाँ पूरी तरह जलकर खाक हो गईं।"

बांग्लादेश में शुक्रवार (5 जनवरी, 2024) की रात 150 साल पुराने बौद्ध मठ को एक नकाबपोश ने आग के हवाले कर दिया है। कॉक्स बाजार जिले के रामू उपजिला के चेरनघाटा क्षेत्र में इस मठ के प्रवेश द्वार को आग से खासा नुकसान हुआ है। यह घटना इस इस्लामिक देश में आम चुनाव से दो दिन पहले हुई।

रामू पुलिस स्टेशन के इंचार्ज अबू ताहेर दीवान के मुताबिक, ये घटना सुबह 2 बजे उस वक्त हुई मठ के पुजारी सो रहे थे। दीवान ने कहा कि पुजारियों द्वारा मदद के लिए चिल्लाने के बाद स्थानीय लोग बचाव के लिए आए और आग पर काबू पाया।

उन्होंने आगे बताया कि इस हादसे की सूचना मिलने के बाद रामू फायर सर्विस तुरंत मौके पर पहुँची और आग पर काबू पाया। आग की घटना में बौद्ध मठ परिसर के अंदर एक लकड़ी की सीढ़ी जलकर खाक हो गई।

रामू पुलिस स्टेशन के इंचार्ज ने आगे कहा, “हालाँकि, कोई अन्य बड़ा नुकसान नहीं हुआ क्योंकि आग तुरंत बुझ गई, लेकिन 150 साल पुराने मठ में लगी आग से इसकी सीढ़ियाँ पूरी तरह जलकर खाक हो गईं।”

बताते चलें कि यह मठ चेरनघाटा के रखाइन समुदाय के लिए पवित्र है। घटना के बाद इलाके में बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। पुलिस ने इस मामले की जाँच के तहत इलाके में सीसीटीवी फुटेज खंगाल कर ये पता लगाने की कोशिश की कि ये हादसा था जानबूझ कर ये आग लगाई गई थी।

इस दौरान सीसीटीवी फुटेज में यह सामने आया कि एक ‘नकाबपोश आदमी’ मठ की दीवार फाँद कर आया था। उसने मठ की सीढ़ियों पर मिट्टी का तेल डाला और आग लगा दी। रैपिड एक्शन बटालियन-5 के प्रवक्ता जमीलुल हक ने इसकी पुष्टि की।

वही इस मामले को लेकर रामू पुलिस स्टेशन इंचार्ज दीवान ने कहा, “जब हम सीसीटीवी फुटेज में युवक और फायर सर्विस को कॉल करने वाले शख्स की पहचान कर लेंगे तो सब कुछ स्पष्ट हो जाएगा।”

वहीं शेख हसीना के नेतृत्व वाली अवामी लीग पार्टी ने ट्वीट कर विपक्षी बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी (BNP) कैडरों पर आगजनी हमले को अंजाम देने का आरोप लगाया। उसने स्थानीय लोगों के हवाले से ये आरोप लगाया है।

अवामी लीग ने दावा किया है कि बीएनपी जमात कैडर और उसके कुछ समर्थक तड़के मठ में घुस गए और उसके कुछ हिस्से में आग लगा दी। इस मठ पर साल 2012 में भी हमला हुआ था।

अवामी लीग का ये भी आरोप है कि मतदाताओं को वोट डालने से रोकने के तहत BNP और एक साथ हिंसक अभियान छेड़ रखा है। बताते चलें कि इस इस्लामिक मुल्क में 7 जनवरी 2024 को हो रहे आम चुनावों से पहले ही BNP ने इनका बहिष्कार किया है। ऐसे में देश की मौजूदा पीएम शेख़ हसीना की जीत लगभग तय मानी जा रही है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

टीम से बाहर होने पर मोहम्मद शमी का वायरल वीडियो, कहा – किसी के बाप से कुछ नहीं लेता हूँ, बल्कि देता हूँ

"मुझे मौका दोगे तभी तो मैं अपनी स्किल दिखाऊँगा, जब आप हाथ में गेंद दोगे। मैं सवाल नहीं पूछता। जिसे मेरी ज़रूरत है, वो मुझे मौका देगा।"

थूक लगी रोटी सोनू सूद को कबूल है, कबूल है, कबूल है! खुद की तुलना भगवान राम से, खाने में थूकने वाले उनके लिए...

“हमारे श्री राम जी ने शबरी के जूठे बेर खाए थे तो मैं क्यों नहीं खा सकता। बस मानवता बरकरार रहनी चाहिए। जय श्री राम।” - सोनू सूद

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -