Thursday, July 18, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयपाकिस्तान में टीचर अहमद ने करवाया 14 साल की हिंदू लड़की का अपहरण, धर्मांतरण...

पाकिस्तान में टीचर अहमद ने करवाया 14 साल की हिंदू लड़की का अपहरण, धर्मांतरण के बाद निकाह हुआ: विधानसभा में हिंदू विधायक रोए

पीड़िता के पिता दिलीप कुमार का कहना है कि सोहना के टीचर अख्तर गबोल, फैजान जाट, सारंग खसखेलि ने बंदूक की नोक पर घर में घुसकर लूटपाट की। इसके बाद उनकी बेटी को उठाकर ले गए।

पाकिस्तान के सिंध प्रांत में नाबालिग हिंदू लड़की के अपहरण, धर्मांतरण और फिर निकाह कराने का मामला सामने आया। सोहना शर्मा नामक पीड़िता का अपहरण उसके टीचर अख्तर ने ही किया था। इस मामले में सिंध प्रांत की विधानसभा में भी जोरदार बहस हुई। साथ ही आरोपितों पर कड़ी कार्रवाई की माँग की गई। इस पर प्रांतीय मंत्री ने आवश्यक कार्रवाई करने का आश्वासन दिया।

दरअसल, सिंध प्रांत के काजी अहमद इलाके से 14 वर्षीय हिंदू लड़की सोहना शर्मा का उसके घर में घुसकर अपहरण किया गया था। पीड़िता के पिता दिलीप कुमार का कहना है कि सोहना के टीचर अख्तर गबोल, फैजान जाट, सारंग खसखेलि ने बंदूक की नोक पर घर में घुसकर लूटपाट की। इसके बाद उनकी बेटी को उठाकर ले गए। दिलीप ने कहा है कि उन्होंने इस मामले में पुलिस से शिकायत की है। लेकिन पुलिस का कहना है कि सोहना ने अपनी मर्जी से धर्मांतरण और निकाह किया है। इसलिए उन्हें अपनी बेटी वापस मिलने की उम्मीद नहीं है।

सिंध विधानसभा में गरमाया मुद्दा…

पाकिस्तान में हिंदू लड़कियों का अपहरण और जबरन धर्मांतरण के बाद उनका निकाह कराने की घटनाएँ आम होती जा रहीं हैं। ऐसे में, इस मुद्दे को लेकर सिंध प्रांत की विधानसभा में भी यह मुद्दा उठा। पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के विधायक लाल चंद उकरानी ने इस मुद्दे पर आक्रोश और दुःख व्यक्त किया। उन्होंने कहा है कि सोहना शर्मा के अपहरण से पूरा अल्पसंख्यक वर्ग सदमे में है।

लाल चंद उकरानी ने इस घटना को क्रूरता करार देते हुए कहा है कि किसी भी धर्म में जबरन धर्मांतरण और शादी की इजाजत नहीं है। इसलिए किसी को भी जबरन धर्मांतरण के लिए मजबूर नहीं किया जाना चाहिए। इसके अलावा जब लाल चंद उकरानी ने अल्पसंख्यकों के अन्य मुद्दों को लेकर बात करने की कोशिश की तो विधानसभा स्पीकर आगा सिराज ने उनका माइक बंद कर उन्हें बोलने से रोक दिया।

हालाँकि बाद में उन्होंने सदन में कहा कि सोहना शर्मा का अपहरण करने के बाद उसका निकाहनामा (मैरिज सार्टिफिकेट) भी बनवा दिया गया। ताकि यह साबित किया जा सके कि उसने अपनी मर्जी से धर्मांतरण कर निकाह किया है।

इसके अलावा प्रांतीय मंत्री ज्ञान चंद इसरानी ने कहा है, “कानून के अनुसार यह एक दुखद घटना है। 18 साल से कम उम्र की लड़की न तो धर्म बदल सकती और न ही शादी कर सकती।” उन्होंने यह भी कहा है कि सोहना शर्मा के अपहरण के मामले में वह पुलिस के लगातार संपर्क में हैं। मुत्ताहिदा कौमी मूवमेंट पार्टी की विधायक ने विधानसभा में बेहद दुखी होकर रोते हुए कहा है, “वो लड़की मेरी रिश्तेदार है। प्लीज उस पर दया करिए।” उन्होंने यह भी कहा है कि सोहना को धर्मांतरण के लिए मजबूर किया गया। बाद में प्रांतीय मंत्री मुकेश चावला ने सदन को कानून के अनुसार कार्रवाई करने का आश्वासन दिया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -