Tuesday, January 26, 2021
Home देश-समाज इलाज का ख़र्च उठाने में असमर्थ दंपति ने 1 साल की बेटी की ‘इच्छा...

इलाज का ख़र्च उठाने में असमर्थ दंपति ने 1 साल की बेटी की ‘इच्छा मृत्यु’ के लिए माँगी कोर्ट से अनुमति

"मैं एक दिहाड़ी मज़दूर हूँ और मुझे एक दिन के काम के लिए 300 रुपए मिलते हैं। ज़्यादातर, मुझे यह काम साल में केवल चार महीने के लिए मिलता है। मेरी स्थिति ऐसी है कि मेरे पास कोई अन्य विकल्प नहीं है।"

आंध्र प्रदेश में एक दंपति ने अदालत में अर्ज़ी दाखिल कर अपनी एक साल की बेटी की इच्छा मृत्यु की अनुमति माँगी क्योंकि वो उसके इलाज का ख़र्च उठाने में असमर्थ है। दरअसल, बावजान और शबाना ने अपनी बेटी सुहाना के लिए इच्छा मृत्यु की अनुमति माँगते हुए गुरुवार (10 अक्टूबर) को चित्तूर ज़िले के मदनापल्ले शहर की एक पारिवारिक अदालत में याचिका दायर की।

दंपति ने अपनी दया याचिका में कहा कि उनकी बेटी सुहाना जन्म के बाद से ही हाइपोग्लाइसीमिया से पीड़ित है। अब तक विभिन्न अस्पतालों में हुए उसके इलाज में 12 लाख रुपए तक ख़र्च हो चुके हैं, लेकिन उसकी हालत में कोई सुधार नहीं है।

एक स्थानीय मीडिया आउटलेट से बात करते हुए, बावजान ने कहा,

“मैं एक दिहाड़ी मज़दूर हूँ और मुझे एक दिन के काम के लिए 300 रुपए मिलते हैं। ज़्यादातर, मुझे यह काम साल में केवल चार महीने के लिए मिलता है। मेरी स्थिति ऐसी है कि मेरे पास कोई अन्य विकल्प नहीं है।”

उन्होंने बताया कि अपनी बेटी के इलाज के लिए उन्होंने अपनी संपत्ति और गहने तक बेच दिए, लेकिन अब उनके पास इलाज के लिए पैसा नहीं है, इसलिए हमने दया की भीख़ के माँगते हुए कोर्ट का दरवाज़ा खटखटाया। 2016 में, आंध्र के पाँच वर्षीय महेश, जो जन्म से हड्डी के कैंसर से पीड़ित था, बेंगलुरु के इंदिरा अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मृत्यु हो गई थी।

उसकी मृत्यु से ठीक एक सप्ताह पहले, लड़के के पिता बुट्टैया ने आंध्र के चित्तूर में एक स्थानीय अदालत में एक याचिका दायर की थी, जिसमें उन्होंने अपने बेटे के लिए इच्छामृत्यु की माँग की थी।

मार्च 2018 में, सुप्रीम कोर्ट ने एक ऐतिहासिक फैसले में कहा था कि गरिमा के साथ मृत्यु एक मौलिक अधिकार है। कोर्ट ने निष्क्रिय इच्छा मृत्यु को क़ानूनन वैध ठहराया था। एक विस्तृत दिशा-निर्देश जारी करते हुए कोर्ट ने अपने आदेश में कहा था कि जब तक सरकार इस संबंध में क़ानून नहीं बना देती तब तक ये दिशा-निर्देश लागू रहेंगे। 

निष्क्रिय इच्छा मृत्यु (Passive euthanasia) एक ऐसी स्थिति है जिसमें रोगी कभी ठीक ना हो पाने वाली बीमारी से पीड़ित हों और घोर पीड़ा के दंश को झेल रहे हों। उन्हें सम्मान के साथ अपना जीवन ख़त्म करने की अनुमति है। सुप्रीम कोर्ट के तत्कालीन चीफ़ जस्टिस ऑफ़ इंडिया दीपक मिश्रा की अगुवाई वाली पाँच जजों की संवैधानिक बेंच ने ‘निष्क्रिय इच्छा मृत्यु’ और ‘लिविंग विल’ को कुछ शर्तों के साथ अनुमति दी थी।

‘लिविंग विल’ एक तरह का लिखित दस्तावेज़ होता है जिसमें कोई रोगी पहले से यह निर्देश देता है कि मरणासन्न स्थिति में पहुँचने या रज़ामंदी नहीं दे पाने की स्थिति में पहुँचने पर उसे किस तरह का इलाज दिया जाए। वहीं, निष्क्रिय ‘इच्छा मृत्यु’ की स्थिति एक ऐसी स्थिति होती है जब किसी मरणासन्न व्यक्ति के जीवनरक्षक सपोर्ट को रोक दिया जाए या बंद कर दिया जाए।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

 

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ITO पर पुलिसकर्मी को डंडों से घोंचा, कॉलर पकड़ कर हाथापाई और मारपीट: Video

हाथ में डंडे लिए इन किसान प्रदर्शनकारियों द्वारा पुलिसकर्मी को सड़क पर घेर लिया गया और उनका कॉलर पकड़कर उनके साथ लाठी-डंडों से हाथापाई करने लगे।

DTC बस को तोड़ा, तलवारबाजी करते बढ़ रहे… पुलिस को धकियाते-रगेदते संसद और लाल किला की ओर ‘किसान’

घटना की वीडियो भी है। वीडियो में देख सकते हैं कि डीटीसी बस पर भारी भीड़ ने हमला किया है। उसे गिराकर तोड़ने का प्रयास हो रहा है।

दिल्ली में ‘किसानों’ ने किया कश्मीर वाला हाल: तलवार ले पुलिस को खदेड़ा, जगह-जगह तोड़फोड़, पुलिस वैन पर पथराव

दिल्ली में प्रदर्शनकारी पुलिस के वज्र वाहन पर चढ़ गए और वहाँ जम कर तोड़-फोड़ मचाई। 'किसानों' द्वारा तलवारें भी भाँजी गईं।

गणतंत्र दिवस 2021: सुप्रीम कमांडर राष्ट्रपति के साथ खास पगड़ी में PM… और महिला कमांडर प्रीति – परेड की तस्वीरें

गणतंत्र दिवस के मौके पर राजपथ पहुँचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जामनगर से एक विशेष पगड़ी पहनी। बलिदानी सैनिकों को दी श्रद्धांजलि।

3 बॉर्डर पर बैरीकेडिंग तोड़ ‘किसान’ प्रदर्शनकारियों की भीड़ दिल्ली में घुसी, मुकरबा चौक पर तनावपूर्ण माहौल

वीडियो में देख सकते हैं कि भारी तादाद में 'किसान' बैरीकेडिंग के पार खड़े होते हैं, फिर धीरे-धीरे उस पर चढ़ना शुरू कर देते हैं और...

झील जम गई… लेकिन तिरंगे के साथ कदम मिलते रहे: देखिए गणतंत्र दिवस 2021 की मजेदार तस्वीरें

यहाँ हम आपको गणतंत्र दिवस 2021 की देश भर की तस्वीरें दिखा रहे हैं, अलग-अलग कोने से। देश भर में कई जगहों पर तिरंगा फहराया गया।

प्रचलित ख़बरें

12 साल की लड़की का स्तन दबाया, महिला जज ने कहा – ‘नहीं है यौन शोषण’: बॉम्बे HC का मामला

बॉम्बे हाई कोर्ट की नागपुर बेंच ने शारीरिक संपर्क या ‘यौन शोषण के इरादे से किया गया शरीर से शरीर का स्पर्श’ (स्किन टू स्किन) के आधार पर...

राहुल गाँधी बोले- किसान मजबूत होते तो सेना की जरूरत नहीं होती… अनुवादक मोहम्मद इमरान बेहोश हो गए

इरोड में राहुल गाँधी के अंग्रेजी भाषण का तमिल में अनुवाद करने वाले प्रोफेसर मोहम्मद इमरान मंच पर ही बेहोश होकर गिर पड़े।

छठी बीवी ने सेक्स से किया इनकार तो 7वीं की खोज में निकला 63 साल का अयूब: कई बीमारियों से है पीड़ित, FIR दर्ज

गुजरात में अयूब देगिया की छठी बीवी ने उसके साथ सेक्स करने से इनकार कर दिया, जब उसे पता चला कि उसके शौहर की पहले से ही 5 बीवियाँ हैं।

15 साल छोटी हिन्दू से निकाह कर परवीन बनाया, अब ‘लव जिहाद’ विरोधी कानून को ‘तमाशा’ बता रहे नसीरुद्दीन शाह

नसरुद्दीन शाह ने कहा कि उत्तर प्रदेश में 'लव जिहाद' को लेकर तमाशा चल रहा है। कहा कि लोगों को 'जिहाद' का सही अर्थ ही नहीं पता है।

दिल्ली में ‘किसानों’ ने किया कश्मीर वाला हाल: तलवार ले पुलिस को खदेड़ा, जगह-जगह तोड़फोड़, पुलिस वैन पर पथराव

दिल्ली में प्रदर्शनकारी पुलिस के वज्र वाहन पर चढ़ गए और वहाँ जम कर तोड़-फोड़ मचाई। 'किसानों' द्वारा तलवारें भी भाँजी गईं।

RSS को ‘निकरवाला’ बोला राहुल गाँधी ने, ‘लिकरवाला’ सुन जनता हुई ‘मस्त’: इस लेटेस्ट Video में है बहुत मजा

राहुल गाँधी जब बोलते हैं, बहुत मजा देते हैं। उनके मजे देने वाले वीडियो आप खोजेंगे 1 मिलेंगे 11... अब एक और वीडियो जुड़ गया है, एकदम लेटेस्ट।
- विज्ञापन -

 

ITO पर पुलिसकर्मी को डंडों से घोंचा, कॉलर पकड़ कर हाथापाई और मारपीट: Video

हाथ में डंडे लिए इन किसान प्रदर्शनकारियों द्वारा पुलिसकर्मी को सड़क पर घेर लिया गया और उनका कॉलर पकड़कर उनके साथ लाठी-डंडों से हाथापाई करने लगे।

हिंदुओं को धमकी देने वाले के अब्बा, मोदी को 420 कहने वाले मौलाना और कॉन्ग्रेस नेता: ‘लोकतंत्र की हत्या’ गैंग के मुँह पर 3...

पद्म पुरस्कारों में 3 नाम ऐसे हैं, जो ध्यान खींच रहे- मौलाना वहीदुद्दीन खान (पद्म विभूषण), तरुण गोगोई (पद्म भूषण) और कल्बे सादिक (पद्म भूषण)।

DTC बस को तोड़ा, तलवारबाजी करते बढ़ रहे… पुलिस को धकियाते-रगेदते संसद और लाल किला की ओर ‘किसान’

घटना की वीडियो भी है। वीडियो में देख सकते हैं कि डीटीसी बस पर भारी भीड़ ने हमला किया है। उसे गिराकर तोड़ने का प्रयास हो रहा है।

दलित लड़की की हत्या, गुप्तांग पर प्रहार, नग्न लाश… माँ-बाप-भाई ने ही मुआवजा के लिए रची साजिश: UP पुलिस ने खोली पोल

बाराबंकी में दलित युवती की मौत के मामले में पुलिस ने बड़ा खुलासा किया। पुलिस ने बताया कि पिता, माँ और भाई ने ही मिल कर युवती की हत्या कर दी।

दिल्ली में ‘किसानों’ ने किया कश्मीर वाला हाल: तलवार ले पुलिस को खदेड़ा, जगह-जगह तोड़फोड़, पुलिस वैन पर पथराव

दिल्ली में प्रदर्शनकारी पुलिस के वज्र वाहन पर चढ़ गए और वहाँ जम कर तोड़-फोड़ मचाई। 'किसानों' द्वारा तलवारें भी भाँजी गईं।

क्रीम-पाउडर बेचने वाली प्रियंका चोपड़ा को अब पछतावा, हॉलीवुड में पहचान बनाए रखने की मजबूरी या ‘दिवाली-सिगरेट’?

प्रियंका चोपड़ा एक बार फिर चर्चा में आई हैं। इस बार मुद्दा फेयरनेस क्रीम है। प्रियंका को पछतावा है कि उन्होंने भारत में फेयरनेस क्रीम के ऐड किए।

गणतंत्र दिवस 2021: सुप्रीम कमांडर राष्ट्रपति के साथ खास पगड़ी में PM… और महिला कमांडर प्रीति – परेड की तस्वीरें

गणतंत्र दिवस के मौके पर राजपथ पहुँचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जामनगर से एक विशेष पगड़ी पहनी। बलिदानी सैनिकों को दी श्रद्धांजलि।

3 बॉर्डर पर बैरीकेडिंग तोड़ ‘किसान’ प्रदर्शनकारियों की भीड़ दिल्ली में घुसी, मुकरबा चौक पर तनावपूर्ण माहौल

वीडियो में देख सकते हैं कि भारी तादाद में 'किसान' बैरीकेडिंग के पार खड़े होते हैं, फिर धीरे-धीरे उस पर चढ़ना शुरू कर देते हैं और...

झील जम गई… लेकिन तिरंगे के साथ कदम मिलते रहे: देखिए गणतंत्र दिवस 2021 की मजेदार तस्वीरें

यहाँ हम आपको गणतंत्र दिवस 2021 की देश भर की तस्वीरें दिखा रहे हैं, अलग-अलग कोने से। देश भर में कई जगहों पर तिरंगा फहराया गया।

जिन्होंने बाबरी मस्जिद के नीचे खोजा राम मंदिर, वैज्ञानिक तरीके से ढूँढा पांडवों का इंद्रप्रस्थ… मिला पद्म विभूषण सम्मान

जिन 7 लोगों को देश के दूसरे सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म विभूषण के लिए चुना गया है, उनमें प्रोफेसर ब्रज बासी लाल (BB Lal) का नाम भी शामिल है।

हमसे जुड़ें

272,571FansLike
80,695FollowersFollow
386,000SubscribersSubscribe