Tuesday, April 13, 2021

विषय

इसरो

इसरो जासूसी केस में रिपोर्ट सुप्रीम कोर्ट के हवाले: 27 साल पहले तबाह कर दी थी वैज्ञानिक नाम्बी नारायणन की जिंदगी

वैज्ञानिक नम्बी नारायणन से जुड़े 27 साल पुराने इसरो जासूसी केस में उच्च स्तरीय समिति ने अपनी रिपोर्ट सुप्रीम कोर्ट को सौंप दी है।

बिके हुए वामपंथियों ने जिन्हें बनाया ‘देशद्रोही वैज्ञानिक’, उनके 27 साल के संघर्ष पर फिल्म

पद्म भूषण से सम्मानित ISRO वैज्ञानिक नम्बि नारायणन के करियर में एक ऐसा समय भी आया था, जब झूठे आरोप लगे और उन्हें गिरफ्तार किया गया।

नाश्ते में आर्सेनिक ट्राइऑक्साइड जहर देकर हुई थी मारने की कोशिश: ISRO के शीर्ष वैज्ञानिक तपन मिश्रा का खुलासा

12 जुलाई 2019 को उनकी सुरक्षा के साथ एक भारी खिलवाड़ हुआ और उन्हें हाइड्रोजन साइनाइड दिया गया। इस जहर का असर इतना भयावह था कि उन्हें मिर्गी आई, उनकी यादश्त चली गई।

गगनयान से पहले अंतरिक्ष में जाएगा बिना पैरों वाला ‘व्योममित्र’, परीक्षण कर इसरो को भेजेगा रिपोर्ट

पैर नहीं होने के कारण व्‍योमम‍ित्र को हाफ ह्यूमनॉइड कहा जा रहा है। वह केवल आगे और बगल में झुक सकता है। वह अंतरिक्ष में कुछ परीक्षण करेगा और इसरो के कमांड सेंटर से संपर्क में रहेगा।

ISRO 2020: चंद्रयान-3 को ग्रीन सिग्नल, आपके मोबाइल में जल्द होगा स्वदेशी ‘GPS’

नए साल पर इसरो चीफ के. सिवन ने लक्ष्य और योजनाओं का खाका पेश किया। साथ ही बताया कि चंद्रयान-2 का ऑर्बिटर बहुत अच्छा काम कर रहा है। यह अभी अगले 7 साल तक काम करता रहेगा।

हामिद अंसारी ‘कनेक्शन’ से जिस ISRO वैज्ञानिक को जाना पड़ा जेल, उन्हें मिलेगा ₹1.3 करोड़ का मुआवजा

24 साल तक कानूनी लड़ाई के अलावा नाम्बी नारायणन की एक कहानी और भी है। कहानी राजनीति और साजिश वाली। उस कहानी के अनुसार पूर्व रॉ अधिकारी ने भारत के उप-राष्ट्रपति रहे हामिद अंसारी पर कई गंभीर आरोप लगाए। यह तब हुआ जब एक पत्रकार चिरंजीवी भट ने...

इसरो का 50वाँ लॉन्च: ख़ुफ़िया सैटेलाइट कक्षा में, सेना को एयर स्ट्राइक में नहीं होगी अब समस्या

RISAT2-BR1 के पहले तक भारत को बादल घिर आने की स्थिति में ज़मीनी तस्वीरों के लिए कनाडाई उपग्रहों से मिली तस्वीरों पर निर्भर रहना पड़ता था। यह समस्या भारत की इस साल फरवरी में हुई बालाकोट एयर स्ट्राइक के दौरान भी खड़ी हुई थी।

चन्द्रमा पर मिल गया चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर का मलबा, NASA ने जारी की तस्वीरें

तस्वीर में नीले व हरे डॉट्स के माध्यम से चाँद की सतह पर दुर्घटनाग्रस्त विक्रम लैंडर के मलबे को दिखाया गया है। हरे डॉट्स स्पेसक्राफ्ट के मलबे को प्रदर्शित करते हैं। ब्लू डॉट्स दिखाते हैं कि उस मलबे से वहाँ की ज़मीन पर क्या असर पड़ा।

इसरो ने लॉन्च किए 13 अमेरिकी नैनो-सैटेलाइट, उच्चतम इमेज गुणवत्ता वाला कॉर्टोसैट-3 भी हुआ लॉन्च

2005 से अब तक इसरो ने 8 कॉर्टोसैट सैटेलाइट लॉन्च करने में सफलता प्राप्त की है। ये रिमोट सेंसिंग सैटेलाइट होते हैं, जो अर्थ मैपिंग को बेहतर तरीके से अंजाम देते हैं।

ISRO के चंद्रयान-2 ने भेजी क्रेटर (गड्ढे) की 3-D तस्वीरें, ‘अन्धविश्वासी’ बताने वालों के मुँह पर यह है एक तमाचा

चंद्रयान-2 मिशन की 98% सफलता और केवल विक्रम लैंडर की लैंडिंग के अंतिम चरण की नाकामी को लेकर देश के कुछ कथित अति-बुद्धिजीवियों ने ISRO का मज़ाक बनाया था। लॉन्च से पहले पूजा, कथित तौर पर ज्योतिषीय रूप से शुभ घड़ी में लॉन्च करना आदि को टारगेट कर...

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

292,985FansLike
82,167FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe