विषय: नारी सशक्तिकरण

योगिता रघुवंशी

एक ही दिन पति और भाई की मौत होने पर ट्रक ड्राइवर बन बेटी-बेटा को पालने वाली योगिता रघुवंशी

योगिता इस पेशे में किसी ‘स्टीरियोटाइप को तोड़ने’ या ‘पितृसत्ता को चुनौती देने’ के लिए नहीं हैं- यह उनकी ज़रूरतों को पूरा करने का सबसे बेहतर तरीका भर है।

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

142,038फैंसलाइक करें
34,779फॉलोवर्सफॉलो करें
158,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements