विषय: हिन्दू-मुस्लिम विवाद

मुस्लिमों का कहना है मूर्ति हिन्दुओं के आपसी झगड़े में टूटी, हिन्दुओं का कहना है पत्थर मस्जिद से आया

पटना में मूर्ति विसर्जन के दौरान मस्जिद के सामने पथराव और आगजनी: आईजी समेत कई घायल

हिंसक लोगों ने जमकर तोड़फोड़ की जिसमें पुलिस की कई गाड़ियाँ और एक दमकल की गाड़ी भी क्षतिग्रस्त हो गए। दंगाई इतने पर भी नहीं रुके, और 2 बाइकों को भी आग के हवाले कर के ही माने। उनमें से एक बाइक को तो मस्जिद के सामने ही आग लगाई गई।
भारत के मुसलमानों के पिछड़ेपन के लिए जिम्मेदार मुसलमान स्वयं हैं

ओवैसी जी, मदरसों से बाहर आओ, आतंकी के जनाजे में जाना बंद करो, ‘हलाला’ को निजी मसला मत कहो, सुधार होगा

ओवैसी ने कभी यह सोचा है कि मदरसों में जो सीमित शिक्षा मिलती है, उसके आधार पर क्या मुसलमानों को नौकरी मिलेगी? क्या वो मुख्यधारा का हिस्सा बनने को तैयार हैं? क्या मजहबी शिक्षा के साथ-साथ दुनिया के हर कोने में प्रचलित शिक्षा को मुसलमान स्वीकारेगा? या फिर वो आज भी गणित और विज्ञान को 'शैतान' की बातें मान कर आगे बढ़ने की आस लगाए रहेगा?
मूर्ति विसर्जन, हिंसा, नेपाल

देवी लक्ष्मी के विसर्जन का मुस्लिमों ने किया विरोध: भड़की साम्प्रदायिक हिंसा, कपिलवस्तु में सूरज की मौत

कर्फ़्यू को कथित रूप से तोड़ने के लिए गोली से मारे जाने के बाद भारतीय नागरिक सूरज कुमार पांडेय की मौत हो गई। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि दो धार्मिक समुदायों के बीच तनाव बढ़ने के बाद हुए झड़प में उग्र भीड़ को नियंत्रित करने की कोशिश में कई पुलिस कर्मी भी घायल हो गए।
मंदिर निर्माण कार्यशाला

अयोध्या पर फैसला मान लें मुस्लिम, ऐसी कोई भी कोशिश न करें जिससे देश का माहौल खराब हो: पर्सनल लॉ बोर्ड

"हम संविधान और कानून की इज़्ज़त करते हैं और अदालत के फैसले की तामील करेंगे। जो शांति को भंग करने की कोशिश करेंगे, उन्हें इस्लाम के सच्चे नुमाइंदे नहीं कहा जा सकता है।"
मूर्ति विसर्जन पर तनाव

लक्ष्मी पूजन के बाद मूर्ति विसर्जन जुलूस को दर्जी मोहल्ले में रोका: भारी तनाव के बीच पुलिस की निगरानी में हुआ विसर्जन

झारखंड में पलामू के विश्रामपुर में लक्ष्मी पूजन के बाद मूर्ति विसर्जन करने जा रहे लोगों को दर्जी मोहल्ले में मुस्लिमों की भीड़ द्वारा रोक दिया गया। जिससे दोनों पक्षों के बीच झड़प की नौबत आ गई। आस्था में पैदा हुए इस व्यवधान से हिन्दू पक्ष के लोगों में काफ़ी आक्रोश फैल गया.....
विश्व भानु

The Quint की झूठी पत्रकारिता से त्रस्त हुआ मुंबई का वो हिन्दू, जिसकी दिवाली मुस्लिमों ने की बर्बाद

मेरे खुद के मुस्लिम और 'सेक्युलर' थियेटर वाले दोस्त सोशल मीडिया पर वे आर्टिकल भेज रहे हैं, जिनमें मुझे झूठा बताया गया है। वे मुझसे पूछ रहे हैं कि मैंने झूठ क्यों बोला। और यह सब इसलिए हुआ क्योंकि क्विंट ने मेरी बात को तोड़-मरोड़ कर पेश किया।
रुड़की पत्थरबाजी

पटाखे फोड़ने पर मेहरुद्दीन, शाहनवाज, सोहैल सहित 60 मुस्लिमों ने किया हिंदुओं पर हमला: भारी तनाव, PAC तैनात

जब दीपावली के दिन हिन्दू पटाखे फोड़ रहे थे, तभी अचानक से लगभग 60 की संख्या में मुस्लिम भीड़ पहुँची और उन्होंने हिन्दुओं पर हमला कर दिया। भारी पथराव के कारण कई लोग घायल हो गए। जब मुस्लिमों ने पत्थरबाजी की तो कई लोगों ने इसका वीडियो भी बना लिया।
स्विगी, मुस्लिम ब्वॉय, FIR दर्ज

‘मुसलमान डिलिवरी बॉय से खाना मत भेजना’ – यह गुजारिश करने वाले हिंदू लड़के पर FIR

ऑर्डर के लिए विशेष इंस्ट्रक्शन में अजय कुमार ने लिखा, "बहुत कम मसाले। और कृपया डिलीवरी करने वाले व्यक्ति के लिए हिन्दू का ही चयन करिएगा। सारी रेटिंग इसी के आधार पर होगी।"
प्रतीकात्मक तस्वीर, हिंदुस्तान टाइम्स से

मुस्लिम डिलीवरी बॉय से खाना लेने से इनकार तो FIR, इस्लामी संगठन ने जानकारी कर दी पब्लिक

एमबीटी के मुखिया अमज़दुलाह खान ने न केवल मुदस्सिर को शिकायत पुलिस में करने की सलाह दी, बल्कि उन्होंने खुद ही मामले का राजनीतिकरण भी शुरू कर दिया।
भारत में वामपंथी हर आतंकी घटना पर चुप रहते हैं

वामपंथी और जिहादी एक दूसरे के पर्याय हैं, इसीलिए अभी इनकी साथ-साथ सुलग रही है, पहचानिए इन्हें

भारत में हर जिहादी वामपंथी हो गया है, और वामपंथियों में तो जिहादियों की रक्तधारा तो है ही। इसलिए दोनों सुर में सुर मिला कर चलते हैं। एक जिहादी, जो स्वयं को वामपंथी कहता है, वो अचानक से अपने कपड़े उतार कर मुसलमान हो जाता है क्योंकि उसके मजहब को कुछ लोग कोस रहे हैं।
मुजफ्फरनगर पुलिस

20 साल के दलित प्रेमी संग भागी 18 वर्षीय मुस्लिम युवती: मुस्लिम बहुल गॉंव से डर कर भागा दलित परिवार

युवती के पिता ने तीन युवकों अंकित, जॉनी और एक अन्य के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज कराया है। पुलिस मामले की जॉंच में जुटी है। परिजनों के अनुसार युवती नाबालिग है।
कमलेश तिवारी हत्याकांड

हिन्दू, मुसलमान से घृणा करने लगा है: कमलेश की हत्या के बाद वामपंथी हिन्दू को ही गुनहगार कह रहे हैं!

आपसी दुश्मनी में लोग कई बार क्रूरता की हदें पार कर देते हैं। लेकिन ये दुश्मनी आपसी नहीं थी। ये दुश्मनी तो एक हिंसक विचारधारा और मजहबी उन्माद से सनी हुई उस सोच से उत्पन्न हुई, जहाँ कोई फतवा जारी कर देता है, और लाख लोग किसी की हत्या करने के लिए, बेखौफ तैयार हो जाते हैं।

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

112,640फैंसलाइक करें
22,443फॉलोवर्सफॉलो करें
117,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements