Monday, June 17, 2024
Homeदेश-समाज'किसी को क्लीन-चिट नहीं, अभी चल ही रही है जाँच': हरियाणा पुलिस ने HT...

‘किसी को क्लीन-चिट नहीं, अभी चल ही रही है जाँच’: हरियाणा पुलिस ने HT की रिपोर्ट की नकारा, लिखा था – बिट्टू बजरंगी के भाई को जलाने वाला केस निकला फर्जी

बिट्टू बजरंगी का कहना है कि जाँच अभी पूरी नहीं हुई है और किसी ने उन्हें सूचित नहीं किया है कि ये मामला फर्जी पाया गया है। उन्होंने पूछा कि वो भला क्यों किसी को फँसाने के लिए कहानियाँ बनाएँगे?

हाल ही में हिन्दू कार्यकर्ता बिट्टू बजरंगी के भाई पर हमला कर दिया गया और उन्हें ज़िंदा जलाने की कोशिश की गई। इसमें उनका शरीर 60% तक झुलस गया। अब AltNews के संस्थापक मोहम्मद ज़ुबैर जैसों ने इस दुःखद प्रकरण को लेकर भी प्रोपेगंडा शुरू कर दिया है। मोहम्मद ज़ुबैर ने उलटा बिट्टू बजरंगी के भाई पर हमले की खबर को ही नकार दिया और इस खबर को बदलने की सलाह देने लगा। उसने इसके लिए ‘हिंदुस्तान टाइम्स’ की एक रिपोर्ट का सहारा लिया।

यहाँ जिस रिपोर्ट की बात हो रही है, उसे लीना धनखड़ नामक पत्रकार ने लिखा है। HT में प्रकाशित इस खबर में लिखा है कि फरीदाबाद पुलिस ने कहा है कि बिट्टू बजरंगी के भाई अलाव में गिर जाने के कारण जल गए थे और उनकी हत्या के प्रयास के कोई सबूत नहीं हैं। वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के हवाले से कहा गया था कि बिट्टू बजरंगी के भाई महेश पांचाल के जलने के मामले में पुलिस में फर्जी शिकायत दर्ज कराई गई और एक गौतस्कर को इसमें फँसाया गया।

शिकायत में कहा गया था कि फरीदाबाद में बाबा मंडी के पास अरमान और उसके साथियों ने महेश पांचाल पर पेट्रोल डाल कर उनके शरीर में आग लगा दी और फिर भाग निकले। 15 दिसंबर को इस मामले में SIT का गठन किया गया। CCTV फुटेज खँगाले जाने के अलावा 20 से अधिक लोगों से पूछताछ भी की गई। फरीदाबाद पुलिस के प्रवक्ता सुबे सिंह के हवाले से ‘हिंदुस्तान टाइम्स’ ने लिखा कि मौके पर लगे 2 सीसीटीवी कैमरों में हमले की कोई घटना रिकॉर्ड नहीं हुई है।

साथ ही फॉरेंसिक टीम द्वारा मौके पर पेट्रोल, अल्कोहल या डीजल जैसी कोई वस्तु के सबूत न मिलने का दावा भी पुलिस के हवाले से किया गया। पुलिस ने हवाले से लिखा गया कि जाँच में आरोपों की पुष्टि नहीं हुई है। हालाँकि, बिट्टू बजरंगी का कहना है कि जाँच अभी पूरी नहीं हुई है और किसी ने उन्हें सूचित नहीं किया है कि ये मामला फर्जी पाया गया है। उन्होंने पूछा कि वो भला क्यों किसी को फँसाने के लिए कहानियाँ बनाएँगे? इस खबर में एक अन्य अनाम वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के हवाले से कहा गया कि आसपास के दुकानदारों ने कोई शोरगुल नहीं सुनी थी।

हालाँकि, ऑपइंडिया से बातचीत में पुलिस ने ‘हिंदुस्तान टाइम्स’ की इस खबर को नकार दिया है। फरीदाबाद के ACP ने इस खबर के बारे में बताए जाने पर पूछा कि आखिर पुलिस में किसने इस केस को फेक बता दिया? उन्होंने कहा कि ये बात ठीक है कि अभी इस मामले में आरोपित के खिलाफ सबूत नहीं मिले हैं, लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि केस फर्जी होने की बात कही गई है। उन्होंने इसकी पुष्टि की है कि बिट्टू बजरंगी के भाई जल गए हैं।

उन्होंने कहा कि ये जाँच का विषय है कि वो कैसे जले, किसने जलाया और किस वजह से जले। उन्होंने कहा कि अभी तक न तो किसी को क्लीन चिट दी गई है और न ही जाँच खत्म हुई है, बल्कि जाँच अभी चल ही रही है। उन्होंने ये भी कहा कि अभी पुलिस किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुँची है। साफ़ है, इस मामले में मोहम्मद ज़ुबैर एक पीड़ित का सिर्फ इसीलिए मज़ाक बना रहा है क्योंकि उसका भाई एक हिन्दू एक्टिविस्ट है। बिट्टू बजरंगी के भाई का अस्पताल में इलाज चल रहा है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ऋषिकेश AIIMS में भर्ती अपनी माँ से मिलने पहुँचे CM योगी आदित्यनाथ, रुद्रप्रयाग हादसे के पीड़ितों को भी नहीं भूले

उत्तराखंड के ऋषिकेश से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यमकेश्वर प्रखंड का पंचूर गाँव में ही योगी आदित्यनाथ का जन्म हुआ था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -