Saturday, February 4, 2023

विषय

Schedule Tribe

एक विवाह ऐसा भी: जीते जी एक न हो सके तो कर लिया सुसाइड, मौत के 6 महीने बाद परिजनों-ग्रामीणों ने बना दिया जोड़ा

गुजरात के तापी में एक अनूठा विवाह हुआ है। सुसाइड करने वाले एक प्रेमी जोड़े की मूर्तियों की यह शादी सोशल मीडिया में चर्चा में है।

‘हिंदू देवी-देवताओं की पूजा करती हो, नहीं देंगे कास्ट सर्टिफिकेट’: महाराष्ट्र के नांदेड़ में MBBS लड़की के साथ भेदभाव, लोग भड़के

समिति का कहना है कि मयूरी हिंदू-देवी देवताओं की पूजा करती है इसलिए वह महादेव कोली जनजाति से अलग है और उसे प्रमाण-पत्र नहीं दिया जा सकता।

जनजातीय गौरव दिवस: जो ईसाई मिशनरी, अंग्रेज, इस्लामी आक्रांता… सबसे लड़े, 12 नायकों की गाथा एक साथ पढ़िए

भगवान बिरसा मुंडा की जयंती ‘जनजातीय गौरव दिवस’ के तौर पर मनाया जाता है। यह दिन राष्ट्र निर्माण में योगदान देने वाले नायकों को याद करने का है।

‘जिस सरना को अपवित्र किया, वहीं पुरखों के धर्म में लौटूँगा’: ईसाई बना भूत-प्रेत भगाने के नाम पर कैथोलिक संस्था ने हड़पी जमीन, अब...

छत्तीसगढ़ में ऐसे कई क्लेमेंट लकड़ा हैं जो ईसाई संस्थाओं से प्रताड़ित हैं। जिनके पुरखों को धर्मांतरित कर अपनी ही जमीन से बेदखल कर दिया गया।

धर्म ही नहीं जमीन भी गँवा रहे हिंदू: कब्जे की भूमि पर चर्च-कब्रिस्तान से लेकर मिशनरी स्कूल तक, पहाड़ों का भी हो रहा धर्मांतरण

जमीनी स्थिति भयावह है। सरकारी से लेकर जनजातीय समाज की जमीनों पर ईसाई मिशनरियों का कब्जा है। अदालती आदेशों के बाद भी जमीन खाली नहीं हो रहे।

कैसा है वह ‘साहेब कोना’ जहाँ पहली बार हिंदू बने ईसाई: 1906 में जहाँ से भागे थे पादरी, 2022 में हमें भागना पड़ा

छत्तीसगढ़ के खड़कोना में 1906 में पहली बार हिंदुओं का धर्मांतरण हुआ। उसके बाद जो सिलसिला शुरू हुआ, उसने जशपुर को ईसाई धर्मांतरण के बड़े केंद्र में बदल दिया।

जहाँ से निकला ‘सत्यमेव जयते’ वहाँ भी घुस गए ईसाई मिशनरी, प्राचीन मंदिर और मूर्ति वाली जमीन पर क्रॉस वाले मंच से सज रहा...

नदी से घिरा एक निर्जन द्वीप। एक तपोभूमि, जहाँ आज भी मिलते हैं प्राचीन मंदिर और मूर्तियों के अवशेष, वहाँ भी ईसाई मिशनरियों ने छोड़ी छाप।

कॉन्ग्रेस, ईसाई मिशनरी और मशीनरी… ‘राष्ट्रपति के संतान’ सबसे त्रस्त: जहाँ मंत्री ‘जमीनखोर’, वहाँ जनजातीय समाज को कौन बचाए

सनातन को समर्पित पहाड़ी कोरबा की जमीनों पर छत्तीसगढ़ में संकट है। ईसाई मिशनरी ही नहीं, कॉन्ग्रेस के नेता भी उनका शिकार कर रहे हैं।

‘इतिहास में जनजातीय वीरों का नहीं किया गया ठीक से वर्णन’: 125 विश्वविद्यालयों में NCST के कार्यक्रम, बताया जा रहा जनजातीय नायकों का योगदान

"सिद्धू कान्हू, बुद्धु भगत, शंकर शाह और तिलका माँझी जैसे वीरों ने अंग्रेजों के खिलाफ लड़ाई लड़ी, लेकिन इतिहास में उनके साथ न्याय नहीं हुआ।"

जालौर के छात्र की मौत का जाति नहीं जिम्मेदार: राजस्थान बाल अधिकार आयोग ने ‘दलित’ एंगल किया खारिज, बताया- सभी एक ही टंकी से...

जालौर के निजी स्कूल में शिक्षक छैल सिंह की थप्पड़ के बाद दलित छात्र की मौत के मामले में बाल आयोग ने कहा है कि इसमें जातीय एंगल नहीं है।

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
243,756FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe