Wednesday, July 24, 2024
76 कुल लेख

चंदन कुमार

परफेक्शन को कैसे इम्प्रूव करें 🙂

नाच रहा चीन अपनी 500 बड़ी कंपनियों के ग्रोथ पर, इंडिया के वामपंथी अभी भी मजदूरों-किसानों का हक मार खुद करते हैं अय्याशी

चीन की टॉप 500 कंपनियों ने पिछले साल 5.46 ट्रिलियन डॉलर का बिजनेस किया। कैसे? क्योंकि चीनी सरकार प्राइवेट कंपनियों को भरपूर सपोर्ट करती है।

₹266 करोड़/km से सड़क बनाने वाली AAP सरकार ₹251 करोड़/km के द्वारका एक्सप्रेसवे पर कर रही राजनीति: केजरीवाल के घड़ियालू आँसू कब तक?

केजरीवाल और AAP के पास अब कोई मुद्दा नहीं बचा। द्वारका एक्सप्रेसवे की लागत पर आँसू बहा रहे... जबकि खुद इससे महँगी सड़क 5 साल पहले बनाए थे।

‘बंगाल मतलब बाकी देश से अलग, इसे बचाने के लिए राष्ट्रवादी क्रांति जरूरी’: पंचायत चुनाव में हिंसा, समाज, सिस्टम, अर्थव्यवस्था पर स्वप्न दासगुप्ता

"CPM के समय पार्टी कंट्रोल्ड करप्शन था, तृणमूल के मामले में ऊपर से नीचे तक भ्रष्टाचार ही भ्रष्टाचार है। हर केंद्रीय योजना की फंड्स में चोरी।"

बांग्लादेशी घुसपैठिए, बढ़ती मुस्लिम आबादी, अवैध शराब और ड्रग्स: जहाँ साहिल खान ने की साक्षी की हत्या, वहाँ की जमीनी हकीकत

"यहाँ मुस्लिम आबादी बढ़ती जा रही। अवैध धंधों में बांग्लादेशी मुस्लिम भी।" - साहिल ने जहाँ की साक्षी की हत्या, वहाँ की जमीनी हकीकत।

साक्षी को पता चल गया था साहिल का मजहब, इसीलिए कर दी हत्या? जो पत्रकार पहुँचा सबसे पहले, उसने खोले मर्डर के कई राज

टीम यह पता लगाने की कोशिश कर रही थी कि क्या साक्षी को साहिल के मुस्लिम होने की बात पता चल गई थी और इसी विवाद की वजह से उसे मार डाला गया?

जहाँ साहिल खान ने की साक्षी की हत्या, वहाँ AAP पार्षद ने चुनाव जीत बनवाई थी अवैध मजार… मंदिर बनाने पर रोक: स्थानीय लोगों...

दिल्ली के जिस शाहबाद डेयरी इलाके में साहिल ने 16 वर्षीय साक्षी की निर्मम हत्या कर दी, वहीं AAP पार्षद ने बनवाई थी अवैध मजार।

लौं$! की औरत है: ‘सासंद’ अनंत सिंह ने ‘हरामी महुआ’ मामले में लिखी गालियों की नई परिभाषा

हरामी शब्द सुनते ही अनंत सिंह की तंद्रा टूटी। वो वीर रस में डूब संसद को संबोधित करने लगे। कई नई गालियाँ डिक्शनरी को मिलीं।

मेनस्ट्रीम मीडिया का प्रपंच बनाम ऑपइंडिया हिंदी के 4 साल: हम जानते हैं हमले और तेज होंगे, लेकिन हम भी लक्ष्य साधना को अडिग

ऑपइंडिया आपका प्लेटफॉर्म है। आपके सहयोग से ही हम यहाँ हैं। आपके साथ ही आगे बढ़ना है। आशा करते हैं कि आपका साथ और भी मजबूत होता जाएगा।