Wednesday, August 4, 2021
Homeविविध विषयअन्यअफ्रीका का वो शख़्स जिसने 10 मिलियन डॉलर बैंक से निकलवाए, मक़सद था केवल...

अफ्रीका का वो शख़्स जिसने 10 मिलियन डॉलर बैंक से निकलवाए, मक़सद था केवल उन्हें देखना

डांगोट ने कहा कि अफ्रीका के भविष्य के लिए सबसे आशाजनक क्षेत्र कृषि और नई तकनीकें थीं। लेकिन, उन्होंने युवा अफ्रीकी उद्यमियों को सलाह दी कि वे कामयाबी की पहली सीढ़ी चढ़ने से कभी दूर न जाएँ।

अफ्रीका के सबसे धनी व्यक्ति के रूप में पहचाने जाने वाले नाइजीरियाई अरबपति अलिको डांगोटे ने शनिवार को आइवरी कोस्ट में एक मंच से कहा कि कैसे उन्होंने एक बार बैंक से 10 मिलियन डॉलर कैश निकाले थे, जिसका मक़सद केवल इतना था कि आख़िर इतना सारा पैसा देखने में कैसा लगता है।

उन्होंने एबिडान में मो इब्राहिम फोरम को बताया कि जब आप युवा होते हैं तो आपका पहला मिलियन महत्वपूर्ण होता है, लेकिन उसके बाद पैसों को लेकर धीरे-धीरे यह आकर्षण कम हो जाता है।

डांगोट ने अपने दर्शकों को बताया, “एक दिन, मैंने 10 मिलियन कैश निकाला, उस कैश को अपनी कार में डाल दिया, मैंने उसे अपने कमरे में रख दिया। मैंने उन्हें देखा और सोचा, ‘अब मुझे विश्वास हो गया है कि मेरे पास पैसा है’ और फिर अगले दिन उसे बैंक ले गया।”

डांगोट ने कहा कि अफ्रीका के भविष्य के लिए सबसे आशाजनक क्षेत्र कृषि और नई तकनीकें थीं। लेकिन उन्होंने युवा अफ्रीकी उद्यमियों को सलाह दी कि वे कामयाबी की पहली सीढ़ी चढ़ने से कभी दूर न जाएँ।

उन्होंने चेतावनी दी “अक्सर अफ्रीका में हम अपनी अनुमानित आय खर्च करते हैं। व्यापार में उतार-चढ़ाव हैं।” डांगोट ने पूरे महाद्वीप में व्यापारिक विकास में बाधा डालने वाले रीति-रिवाजों और प्रशासनिक समस्याओं पर खेद व्यक्त किया।

बता दें कि फोर्ब्स की अफ्रीकी अरबपतियों की सूची (2013) में टॉप पर अलिको डांगोटे थे, जिनकी संपत्ति 20.8 अरब डॉलर (13 खरब) थी और वह उप-सहारा अफ्रीका के सबसे बड़े सीमेंट निर्माता हैं। सीमेंट का बिजनेस करने वाले डांगोट ने बताया कि उन्हें अनेकों बार तरह-तरह की कठिनाईयों का सामना भी करना पड़ा है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अगर बायोलॉजिकल पुरुषों को महिला खेलों में खेलने पर कुछ कहा तो ब्लॉक कर देंगे: BBC ने लोगों को दी खुलेआम धमकी

बीबीसी के आर्टिकल के बाद लोग सवाल उठाने लगे हैं कि जब लॉरेल पैदा आदमी के तौर पर हुए और बाद में महिला बने, तो यह बराबरी का मुकाबला कैसे हुआ।

दिल्ली में कमाल: फ्लाईओवर बनने से पहले ही बन गई थी उसपर मजार? विरोध कर रहे लोगों के साथ बदसलूकी, देखें वीडियो

दिल्ली के इस फ्लाईओवर का संचालन 2009 में शुरू हुआ था। लेकिन मजार की देखरेख करने वाला सिकंदर कहता है कि मजार वहाँ 1982 में बनी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,995FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe