Friday, August 6, 2021
Homeविविध विषयधर्म और संस्कृतिअमरनाथ यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं को रेलवे का बड़ा तोहफ़ा, सुरक्षा के भी...

अमरनाथ यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं को रेलवे का बड़ा तोहफ़ा, सुरक्षा के भी कड़े इंतज़ाम

इन ट्रेनों में जनरल व स्लीपिंग वर्ग की सुविधा उपलब्ध होगी। इस बार अमरनाथ यात्रा पर इस्लामिक कट्टरपंथी आतंकियों द्वारा हमले के मँडराते ख़तरे को देखते हुए अतिरिक्त सुरक्षा की व्यवस्था की गई है। पुलवामा और अनंतनाग में हाल के दिनों में बड़े हमले हो चुके हैं।

अमरनाथ धाम की यात्रा करने वाले श्रद्धालुओं के लिए भारतीय रेलवे नया तोहफ़ा लेकर आया है। भारत सरकार जहाँ इस यात्रा को सफलतापूर्वक सुगमता से संचालित करने की पूरी कोशिश में लगी है, रेलवे ने इसके लिए स्पेशल ट्रेन चलाने की घोषणा की है। यह ट्रेन दिल्ली से लेकर जम्मू-कश्मीर तक चलेगी और बीच में 11 स्टेशनों पर रुकेगी। यात्रियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए रेलवे ने उनकी सुविधा के लिए यह ऐलान किया है। यह ट्रेन दिल्ली के आनंद विहार टर्मिनल से हर सप्ताल 2 बार चलेगी। इसे 1 जुलाई से लेकर 15 अगस्त तक चलाया जाएगा

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने स्पेशल ट्रेन को लेकर दी जानकारी

केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने इस सम्बन्ध में अधिक जानकारी देते हुए बताया, “अमरनाथ यात्रियों को रेलवे का तोहफ़ा: विश्व प्रसिद्ध तीर्थ बाबा अमरनाथ के दर्शन हेतु जाने वाले श्रद्धालुओं के लिये रेलवे विशेष ट्रेन चलाने जा रहा है। यह ट्रेन 1 जुलाई से शुरु होगी तथा सप्ताह में दो बार आनंद विहार, दिल्ली से उधमपुर तक चलेगी।” इसके अलावा वापसी के लिए भी स्पेशल ट्रेन की घोषणा की गई है, जो उधमपुर से आनंद विहार तक चलेगी। ये ट्रेनें गाजियाबाद, मेरठ सिटी जंक्शन, मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, यमुनानगर जगाधरी, अंबाला कैंट जंक्शन, लुधियाना जंक्शन, जालंधर कैंट, पठानकोट कैंट और जम्मू तवी स्टेशन पर रुकेगी।

भारतीय रेल द्वारा जारी किया गया विज्ञापन

इन ट्रेनों में जनरल व स्लीपिंग वर्ग की सुविधा उपलब्ध होगी। इस बार अमरनाथ यात्रा पर इस्लामिक कट्टरपंथी आतंकियों द्वारा हमले के मँडराते ख़तरे को देखते हुए अतिरिक्त सुरक्षा की व्यवस्था की गई है। पुलवामा और अनंतनाग में हाल के दिनों में बड़े हमले हो चुके हैं। ये अमरनाथ यात्रा की रास्ते में ही आते हैं। ऐसे में, सुरक्षा को लेकर पहले से सतर्कता बरती जा रही है। इस बार की अमरनाथ यात्रा में 350 से भी अधिक अर्धसैनिक बलों की कम्पनियाँ तैनात किए जाने की तैयारी है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तान में गणेश मंदिर तोड़ने पर भारत सख्त, सालभर में 7 मंदिर बन चुके हैं इस्लामी कट्टरपंथियों का निशाना

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में मंदिर तोड़े जाने के बाद भारत सरकार ने पाकिस्तान के शीर्ष राजनयिक को तलब किया है।

अफगानिस्तान: पहले कॉमेडियन और अब कवि, तालिबान ने अब्दुल्ला अतेफी को घर से घसीट कर निकाला और मार डाला

अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह ने भी अब्दुल्ला अतेफी की हत्या की निंदा की और कहा कि अफगानिस्तान की बुद्धिमत्ता खतरे में है और तालिबान इसे ख़त्म करके अफगानिस्तान को बंजर बनाना चाहता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,172FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe