Sunday, May 29, 2022
Homeविविध विषयमनोरंजनरणबीर संग आलिया ने फेरे भी नहीं किए पूरे! भाई राहुल ने कहा- पंडित...

रणबीर संग आलिया ने फेरे भी नहीं किए पूरे! भाई राहुल ने कहा- पंडित के सामने 4 ही लिए, रिपोर्ट में दावा- महेश भट्ट ने बेटी को वचन देने से रोका

रिपोर्ट में कहा गया है कि रणबीर कपूर और आलिया भट्ट की शादी में सात की जगह केवल 6 वचन ही लिए गए। सूत्रों ने इसकी वजह आलिया के पिता महेश भट्ट को बताया है। बताया गया है कि महेश भट्ट ने बेटी को आखिरी वचन लेने से रोक दिया।

बॉलीवुड (Bollywood) स्टार रणबीर कपूर (Ranbir Kapoor) और आलिया भट्ट (Alia Bhatt) की 14 अप्रैल 2022 को मुंबई में शादी हुई। इसके बाद से सेलिब्रिटिज और फैंस दोनों को शुभकामना दे रहे हैं। इस बीच मीडिया में शादी के फेरों को लेकर विरोधाभासी बातें आ रही है। आलिया के रिश्ते के भाई राहुल का कहना है कि पंडित के सामने चार ही फेरे लिए गए थे। वहीं एक अन्य रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से दावा किया गया है कि महेश भट्ट ने बेटी को सातवाँ वचन देने से रोक दिया।

दिलचस्प यह है कि दोनों ही रिपोर्ट दैनिक भास्कर ने ही प्रकाशित की है। एक रिपोर्ट में राहुल भट्ट के हवाले से कहा गया है कि शादी कराने वाले पंडित के सामने रणबीर और आलिया ने केवल चार फेरे लिए। राहुल के मुताबिक, वो एक ऐसे परिवार से आते हैं, जिसमें कई धर्म और संस्कृति के लोग हैं। इसलिए इसके बारे में उन्हें बहुत पता नहीं है। फेरे की यह सब बात उनके लिए बहुत ही इंट्रेस्टिग थी।

वहीं एक अन्य रिपोर्ट में कहा गया है कि रणबीर कपूर और आलिया भट्ट की शादी में सात की जगह केवल 6 वचन ही लिए गए। सूत्रों ने इसकी वजह आलिया के पिता महेश भट्ट को बताया है। बताया गया है कि महेश भट्ट ने बेटी को आखिरी वचन लेने से रोक दिया। उनका कहना था कि उन्होंने अपनी शादी में अपनी पत्नी से ये वचन नहीं लिए थे, तो अपनी बेटी को कैसे लेने दे सकते हैं। हिंदू परंपराओं के अनुसार शादी में 7 फेरे लिए जाते हैं। हर फेरा एक वचन होता है।

दैनिक भास्कर में प्रकाशित रिपोर्टों का स्क्रीनशॉट

गौरतलब है कि शादी से पहले आई रिपोर्टों में कहा गया था कि यह जोड़ी हिंदू परंपराओं के अनुसार ही शादी करेगी। हालाँकि ‘कन्यादान’ को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं थी। दरअसल पिछले सान एक विज्ञापन में आलिया ने कन्यादान को पिछड़ी सोच बताया था। आलिया भट्ट के पिता, महेश भट्ट की माँ शिरीन मोहम्मद अली मुस्लिम थीं, तो वहीं पिता नानाभाई भट्ट गुजराती ब्राह्मण थे। इस तरह से महेश भट्ट मुस्लिम और गुजराती ब्राह्मण दोनों ही हैं। ऐसे में यह साफ नहीं है कि शादी में इस्लामिक रीति-रिवाजों का पालन किया जाएगा या नहीं। इसी तरह, आलिया की माँ, सोनी राजदान कश्मीरी हिंदू होने के साथ-साथ ईसाई भी हैं। उनके पिता नरेंद्र नाथ राजदान कश्मीरी पंडित हैं तो वहीं उनकी माँ गर्ट्रूड होलज़र ब्रिटिश-जर्मन हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नूपुर शर्मा का सिर कलम करने वाले को ₹20 लाख इनाम का ऐलान, बताया ‘गुस्ताख़-ए-रसूल’: मुस्लिमों को उकसा रहा AltNews वाला जुबैर

तहरीक-ए-लब्बैक (TLP) वही समूह है जिसने कुछ दिनों सियालकोट में पहले श्रीलंकाई नागरिक की हत्या कर दी थी। अब नूपुर शर्मा का सिर कलम करने पर रखा इनाम।

‘शरिया लॉ में बदलाव कबूल नहीं’: UCC के विरोध में देवबंद के मौलवियों की बैठक, कहा – ‘सब सह कर हम 10 साल से...

देवबंद में आयोजित 'जमीयत उलेमा ए हिन्द' की बैठक में UCC का विरोध किया गया। मौलवियों ने सरकार पर डराने का आरोप लगाया। कहा - ये देश हमारा है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
189,861FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe