Wednesday, May 22, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजन'मुझे हिंदी फ़िल्में करने की ज़रूरत नहीं': राजामौली की अगली फिल्म में महेश बाबू...

‘मुझे हिंदी फ़िल्में करने की ज़रूरत नहीं’: राजामौली की अगली फिल्म में महेश बाबू होंगे हीरो, बॉलीवुड को ऐसे दिखाया आईना

अब जब 'RRR' 1000 करोड़ रुपए का कारोबार करने की ओर बढ़ रही है, तेलुगु फिल्म इंडस्ट्री के बढ़ते दबदबे को महसूस किया जा सकता है।

दक्षिण भारतीय सिनेमा इंडस्ट्री के फैंस के लिए काफी खुश करने वाली खबर आई है, क्योंकि ‘मक्खी (2012)’, ‘बाहुबली सीरीज (2015, 2017)’ और हाल ही में ‘RRR’ जैसी ब्लॉकबस्टर फ़िल्में दे चुके निर्देशक एसएस राजामौली की अगली फिल्म में ‘प्रिंस’ महेश बाबू ही होंगे। हालाँकि, हाल के दिनों में हिंदी फिल्मों में उनके डेब्यू को लेकर भी बातें की जा रही थीं। कहा जा रहा था कि वो बॉलीवुड में जल्द ही कदम रख सकते हैं।

हैदराबाद के एक कार्यक्रम में महेश बाबू ने इसका खंडन करते हुए कहा, “मुझे हिंदी फ़िल्में करने की जरूरत नहीं है। मैं सिर्फ एक तेलुगु फिल्म करूँगा और दुनिया भर में लोग मुझे देख सकते हैं। अभी भी वही तो हो रहा है। आप चाहेंगे कि आप सिर्फ एक तेलुगु फिल्म करने की स्थिति में हों।” बता दें कि हाल ही में अल्लू अर्जुन की ‘पुष्पा’ (365 करोड़ रुपए) और पवन कल्याण की ‘भीमला नायक’ (192 करोड़ रुपए) ने दुनिया भर में अच्छी कमाई की है।

अब जब ‘RRR’ 1000 करोड़ रुपए का कारोबार करने की ओर बढ़ रही है, तेलुगु फिल्म इंडस्ट्री के बढ़ते दबदबे को महसूस किया जा सकता है। एसएस राजामौली की महेश बाबू के साथ अगली फिल्म ‘लार्जर दैन लाइफ’ होगी और इसे बड़े बजट में बनाया जाएगा। इसके लिए दो कहानियों पर चर्चा जारी है। महेश बाबू ने भी कहा कि वो इस प्रोजेक्ट को लेकर खासे उत्साहित हैं। ‘RRR’ की तारीफ करते हुए भी उन्होंने कहा था कि एक तरफ फ़िल्में होती हैं, और फिर एसएस राजामौली की फिल्म होती है।

एसएस राजमुली एक फिल्म बनाने में काफी समय भी लेते हैं। ऐसे में महेश बाबू की नई फिल्म की शूटिंग 2022 के अंत तक शुरू हो सकती है। ‘RRR’ भी पहले ही पूरी हो जाती, लेकिन इसके लेखक और राजामौली के पिता विजयेंद्र प्रसाद ने उन्हें घर पर शांत बैठने को कहा था। ये खुलासा खुद एसएस राजामौली ने किया था। एसएस राजामौली ने महेश बाबू के फैंस से वादा किया कि वो कुछ बड़ा लेकर सामने आएँगे। फ़िलहाल इसके बारे में ज्यादा कुछ खुलासा नहीं किया जा रहा है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ध्वस्त कर दिया जाएगा आश्रम, सुरक्षा दीजिए’: ममता बनर्जी के बयान के बाद महंत ने हाईकोर्ट से लगाई गुहार, TMC के खिलाफ सड़क पर...

आचार्य प्रणवानंद महाराज द्वारा सन् 1917 में स्थापित BSS पिछले 107 वर्षों से जनसेवा में संलग्न है। वो बाबा गंभीरनाथ के शिष्य थे, स्वतंत्रता के आंदोलन में भी सक्रिय रहे।

‘ये दुर्घटना नहीं हत्या है’: अनीस और अश्विनी का शव घर पहुँचते ही मची चीख-पुकार, कोर्ट ने पब संचालकों को पुलिस कस्टडी में भेजा

3 लोगों को 24 मई तक के लिए हिरासत में भेज दिया गया है। इनमें Cosie रेस्टॉरेंट के मालिक प्रह्लाद भुतडा, मैनेजर सचिन काटकर और होटल Blak के मैनेजर संदीप सांगले शामिल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -