Sunday, October 17, 2021
Homeविविध विषयमनोरंजनगैंग्स ऑफ वासेपुर में डेफिनिट बनने वाले जीशान कादरी के खिलाफ FIR, ₹1.25 करोड़...

गैंग्स ऑफ वासेपुर में डेफिनिट बनने वाले जीशान कादरी के खिलाफ FIR, ₹1.25 करोड़ की धोखाधड़ी का मामला

नाद फिल्म्स प्रोडक्शन हाउस और जीशान कादरी की कंपनी में पैसे की यह डील एक वेब सीरीज को लेकर हुई थी। लेकिन जीशान कादरी ने उस वेब सीरीज में यह पैसा इन्वेस्ट ही नहीं किया।

कई बॉलीवुड फिल्मों के स्क्रीन राइटर जीशान कादरी के ख़िलाफ़ 1.25 करोड़ रुपए की हेरा-फेरी के मामले में मुकदमा दर्ज हुआ है। जीशान ने गैंग्स ऑफ वासेपुर-2 में बतौर एक्टर ‘डेफिनिट’ का किरदार निभाया था। उनके ख़िलाफ अंधेरी के अंबोली पुलिस थाने में शिकायत दर्ज हुई है। इसमें कहा गया कि जीशान की कंपनी ‘फ्राइडे टू फ्राइडे एंटरमेंट’ ने करोड़ों रुपयों का घपला किया।

रिजवान सिद्दकी नामक वकील ने कल अपने ट्विटर पर बताया कि जीशान के ख़िलाफ़ 420, 406 के तहत धोखाधड़ी और विश्वास उल्लंघन का मामला दर्ज हुआ है। इस शिकायत को उनके क्लाइंट जतिन सेठी ने दर्ज करवाया है।

अब आगे इस मामले में पड़ताल चल रही है। हो सकता है इस शिकायत में डायरेक्टर प्रियंका बस्सी का नाम भी जोड़ा जाए, क्योंकि वह भी इस घोटाले में शामिल थीं। अपने अगले ट्वीट में उन्होंने एफआईआर शेयर करते हुए यह भी बताया कि जीशान के ख़िलाफ़ 1.25 करोड़ रुपए की हेराफेरी के मामले में केस दर्ज करवाया गया है।

मामले की जानकारी देते हुए शिकायतकर्ता जतिन सेठी ने बताया कि उनकी कंपनी नाद फिल्म्स प्रोडक्शन हाउस और जीशान कादरी की कंपनी में पैसे की यह डील एक वेब सीरीज को लेकर हुई थी। लेकिन जीशान कादरी ने उस वेब सीरीज में यह पैसा इन्वेस्ट ही नहीं किया।

यहाँ बता दें कि जीशान कादरी ने गैंग्स ऑफ वासेपुर, छलांग और हलचल जैसी बॉलीवुड फिल्मों की पटकथाएँ लिखी हैं। इससे पहले गैंग्स ऑफ वासेपुर के एक सीन में एक सड़क चलती लड़की का अपहरण हिंदू युवकों द्वारा दिखाए जाने पर सोशल मीडिया यूजर्स ने जीशान की आलोचना करना शुरू किया था। उनके साथ अनुराग कश्यप पर भी लोगों ने हिंदू घृणा फैलाने का आरोप लगाया था। लोगों ने फिल्म में दर्शायी सामग्री को भी गलत तरह से पेश करने के लिए जीशान को लताड़ा था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बेअदबी करने वालों को यही सज़ा मिलेगी, हम गुरु की फौज और आदि ग्रन्थ ही हमारा कानून’: हथियारबंद निहंगों को दलित की हत्या पर...

हथियारबंद निहंग सिखों ने खुद को गुरू ग्रंथ साहिब की सेना बताया। साथ ही कहा कि गुरु की फौजें किसानों और पुलिस के बीच की दीवार हैं।

सरकारी नौकरी से निकाला गया सैयद अली शाह गिलानी का पोता, J&K में रिसर्च ऑफिसर बन कर बैठा था: आतंकियों के समर्थन का आरोप

अलगाववादी नेता रहे सैयद अली शाह गिलानी के पोते अनीस-उल-इस्लाम को जम्मू कश्मीर में सरकारी नौकरी से निकाल बाहर किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,125FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe