Monday, July 22, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनजिंदा हैं पूनम पांडेय, सर्वाइकल कैंसर वाली बात झूठ: 'मरने' के बाद खुद वीडियो...

जिंदा हैं पूनम पांडेय, सर्वाइकल कैंसर वाली बात झूठ: ‘मरने’ के बाद खुद वीडियो बना कर आईं सामने

"मैं आपको यहाँ ये बताने आई हूँ कि बाकी कैंसर के उल्ट सर्वाइकल कैंसर से बचा जा सकता है। आपको सिर्फ ये करना है कि टेस्ट्स कराने हैं और HPV वैक्सीन लेना है।"

अभिनेत्री एवं मॉडल पूनम पांडेय ज़िंदा हैं। हमें ये इसीलिए बताना पड़ रहा है, क्योंकि उनके ही इंस्टाग्राम के माध्यम से खबर दी गई कि पूनम पांडेय की सर्वाइकल कैंसर की वजह से मौत हो गई है। अब उन्होंने खुद इंस्टाग्राम पर वीडियो डाल कर बताया है कि वो जीवित हैं। यहाँ तक कि भारतीय मनोरंजन जगत की कई हस्तियों ने उन्हें श्रद्धांजलि भी दे दी थी। पूनम पांडेय ने कहा कि वो जीवित हैं, लेकिन उन हजारों महिलाओं के बारे में वो दुर्भाग्य से ऐसा नहीं कह सकतीं जिन्होंने सर्वाइकल कैंसर की वजह से जीवन गँवा दिया।

पूनम पांडेय ने कहा, “ऐसा नहीं है कि सर्वाइकल कैंसर से पीड़ित वो महिलाएँ कुछ नहीं कर सकती थीं, बल्कि उन्हें पता ही नहीं था कि क्या किया जाना चाहिए। मैं आपको यहाँ ये बताने आई हूँ कि बाकी कैंसर के उल्ट सर्वाइकल कैंसर से बचा जा सकता है। आपको सिर्फ ये करना है कि टेस्ट्स कराने हैं और HPV वैक्सीन लेना है।” साथ ही अभिनेत्री ने ‘Poonam Pandey Is Alive’ नामक वेक वेबसाइट का भी प्रचार कर के लॉगिन करने के लिए कहा।

इंस्टाग्राम पर पूनम पांडेय ने लिखा कि वो सबको ये बताने के लिए बाध्य हो रही हैं कि वो यहीं हैं, जीवित हैं। उन्होंने कहा कि ज्ञान की कमी के कारण कई महिलाओं की मौत हो गई जो सर्वाइकल कैंसर से पीड़ित थीं। उन्होंने कहा कि हमारे पास ये सुनिश्चित करने के लिए समय है कि इससे किसी और की जान न जाए। पूनम पांडेय ने ये भी लिखा कि हमें जागरूकता फैला कर एक-दूसरे को सजग करना चाहिए। उन्होंने अपने इंस्टाग्राम बायो में ‘www.poonampandeyisalive.com‘ वेबसाइट का लिंक भी डाला।

इस वीडियो में पूनम पांडेय ने ये भी कहा कि हम सबको मिल कर सर्वाइकल कैंसर को ही खात्मे की तरफ ले जाना चाहिए। उन्होंने जिस वेबसाइट का लिंक दिया है, उसमें ‘डेथ टू सर्वाइकल कैंसर’ लिखा हुआ है। साथ ही इसमें लिखा गया है कि एशिया में इस रोग से सबसे ज्यादा पीड़ित भारत में हैं और 99% मामलों को रोका जा सकता है। साथ ही संगीता नाम की एक महिला का इंटरव्यू भी है, जिसने सर्वाइकल कैंसर को मात दी। हालाँकि, कई लोग पूनम पांडेय के इस कदम की आलोचना भी कर रहे हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कोई भी कार्रवाई हो तो हमारे पास आइए’: हाईकोर्ट ने 6 संपत्तियों को लेकर वक्फ बोर्ड को दी राहत, सेन्ट्रल विस्टा के तहत इन्हें...

दिसंबर 2021 में सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने हाईकोर्ट को आश्वासन दिया था कि वक्फ बोर्ड की संपत्तियों को कोई नुकसान नहीं पहुँचाया जाएगा।

‘कागज़ पर नहीं, UCC को जमीन पर उतारिए’: हाईकोर्ट ने ‘तीन तलाक’ को बताया अंधविश्वास, कहा – ऐसी रूढ़िवादी प्रथाओं पर लगे लगाम

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने कहा है कि समान नागरिक संहिता (UCC) को कागजों की जगह अब जमीन पर उतारने की जरूरत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -