Friday, May 24, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजन'72 के रजनीकांत ने 52 साल के योगी का पैर क्यों छुआ': ट्रोल गैंग...

’72 के रजनीकांत ने 52 साल के योगी का पैर क्यों छुआ’: ट्रोल गैंग को ‘थलाइवा’ ने दिया जवाब, कहा- संन्यासी का चरण स्पर्श करना मेरे संस्कार

"भले ही कोई मुझसे छोटा हो। अगर वह योगी या संन्यासी है तो उनका आशीर्वाद लेने के लिए पैर छूना मेरे पारंपरिक संस्कार हैं।"

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के चरण स्पर्श करने के बाद से पीछे पड़े ट्रोल्स को ‘थलाइवा’ के नाम से मशहूर सुपरस्टार एक्टर रजनीकांत ने करारा जवाब दिया है। उन्होंने कहा है कि संन्यासियों का चरण स्पर्श करना उनका संस्कार रहा है।

ट्रोल्स उम्र का हवाला देकर इस पर सवाल उठा रहे थे। उनका कहना था कि रजनीकांत की उम्र 72 साल है। उन्होंने अपने से छोटी 52 वर्षीय योगी आदित्यनाथ के पैर क्यों छुए।

इसका जवाब देते हुए रजनीकांत ने चेन्नई एयरपोर्ट के बाहर मीडिया से कहा, “भले ही कोई मुझसे छोटा हो। अगर वह योगी या संन्यासी है तो उनका आशीर्वाद लेने के लिए पैर छूना मेरी परंपरा है।” उल्लेखनीय है कि अभी रजनीकांत बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचा रही अपनी फिल्म ‘जेलर’ को लेकर भी चर्चा में हैं।

वे 19 अगस्त 2023 को उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ पहुँचे थे। उन्होंने सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की थी। इस दौरान उन्होंने योगी आदित्यनाथ के पैर छुए थे। इसके फोटो, वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हुए थे।

इसको लेकर सोशल मीडिया पर उन्हें ट्रोल किया जा रहा था। कई लोगों का कहना था कि रजनीकांत की उम्र सीएम योगी से अधिक है। ऐसे में उन्हें पैर नहीं छूने चाहिए थे। यहाँ तक कि सोशल मीडिया पर रजनीकांत की फिल्म न देखने की भी बात कही जा रही थी। लेकिन अब रजनीकांत ने जवाब देकर ‘ट्रोल गैंग’ की बोलती बंद कर दी है।

गौरतलब है कि ‘जेलर’ ने 10 अगस्त, 2023 को रिलीज के बाद से बॉक्स ऑफिस पर तूफान ला दिया है। फिल्म कमाई के सभी रिकॉर्ड तोड़ रही है। ‘जेलर’ करीब 900 स्क्रीन पर एक साथ रिलीज हुई। रजनीकांत ने फिल्म में ‘जेलर टाइगर’ की भूमिका निभाई है। फिल्म में रजनीकांत के अलावा मोहनलाल, शिवराजकुमार और जैकी श्रॉफ की महत्वपूर्ण भूमिकाएँ हैं। फिल्म अब तक 550 करोड़ रुपए से अधिक की कमाई कर चुकी है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

हिरोइन लैला खान की हत्या मामले में सौतेले अब्बा को हुई ‘सजा-ए-मौत’: फार्म हाउस में गाड़ दी परिवार के 6 लोगों की लाश, 13...

बॉलीवुड अभिनेत्री लैला खान और उनके पूरे परिवार की हत्या मामले में अभिनेत्री के सौतेले पिता को कोर्ट ने सजा-ए-मौत सुनाई है।

UPA सरकार ने ब्रह्मोस मिसाइल के निर्यात को रोका, लीक हुई चिट्ठियों से खुलासा: मोदी सरकार ने की जो हजारों करोड़ की डील, वो...

UPA सरकार ने जानबूझकर ब्रह्मोस मिसाइल के निर्यात से जुड़ी फाइलों को अटकाया। इंडोनेशियाई टीम का दौरा रोक दिया गया। बातचीत तक रोक दी गई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -