Monday, April 22, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनरणवीर शौरी भी भट्ट परिवार के मारे, कहा- मुझे तो देश छोड़ना पड़ा था:...

रणवीर शौरी भी भट्ट परिवार के मारे, कहा- मुझे तो देश छोड़ना पड़ा था: सुशांत केस में महेश भट्ट से पूछताछ

रणवीर ने बताया कि उनके साथ ये सब उन्हीं लोगों ने किया, जिनके नाम आज भी सामने आ रहे हैं। उन्होंने कहा, "मुझे तो देश तक छोड़ना पड़ गया था, क्योंकि मेरे खिलाफ इतना खराब माहौल बनाया गया। ये इत्तेफाक नहीं था, जानबूझकर किया गया था।"

बॉलीवुड में इन दिनों भाई-भतीजावाद पर बहस छिड़ी हुई है। ऐसे में बॉलीवुड के कुछ कलाकार इस मुद्दे पर बेबाकी से अपनी राय सामने रख रहे हैं। कंगना रनौत के बाद अब एक्टर रणवीर शौरी भी नेपोटिज्म पर खुलकर बोल रहे हैं।

उन्होंने ट्वीट के जरिए बताया है कि वह भी नेपोटिज्म का शिकार हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि कैसे एक वक्त उन्हें भी बॉलीवुड में अलग-थलग कर दिया गया था और बदनाम करने की कोशिश की गई थी।

उन्होंने ट्वीट में अपने संघर्ष के दिनों को याद करते हुए बताया कि उस वक्त उनके साथ क्या हुआ था। उन्होंने लिखा, “मैं किसी का भी नाम नहीं ले सकता क्योंकि मेरे पास कोई सबूत नहीं है। मैं इन मुद्दों पर इसलिए बोलता हूँ क्योंकि मेरे साथ भी ये सब हुआ है। अकेला छोड़ देना, गलत बोलना, मीडिया में झूठी खबरें फैलाना। मैं 2003-05 तक काफी परेशान रहा।”

साथ ही रणवीर ने बताया कि उनके साथ ये सब उन्हीं लोगों ने किया, जिनके नाम आज भी सामने आ रहे हैं। उन्होंने कहा, “मेरे खिलाफ इतना खराब माहौल बनाया गया कि मुझे देश तक छोड़ना पड़ गया था। ये इत्तेफाक नहीं था, जानबूझकर किया गया था।” 

रणवीर शौरी ने ये बातें हिन्दुस्तान टाइम्स के साथ बाचतीत में बताया। जब उनसे ट्वीट के संदर्भ में पूछा गया कि क्या वे भट्ट परिवार के साथ के अनुभवों के बारे में बात कर रहे हैं, तो उन्होंने कहा, “हाँ, मैं उसी के बारे में बात कर रहा हूँ। मैं एक ऐसे अनुभव से गुजरा, जहाँ मैं पेशेवर और सामाजिक रूप से अलग-थलग था, सभी तरफ से एक जैसा दबाव डाला गया। वो हर मौका, हर मंच पर मेरे बारे में झूठ बोलते गए कि मैं शराबी और नशेड़ी हूँ।”

वो आगे कहते हैं, “उस समय आप काफी असहाय और शक्तिहीन महसूस करते हैं, क्योंकि ये लोग इतने शक्तिशाली हैं कि प्रेस सिर्फ उनकी बात सुनेगा और आपको अपना पक्ष रखने के लिए बुलाने की जहमत भी नहीं उठाएगा। आप असहाय और निराश महसूस करते हैं, क्योंकि आप इसके बारे में कुछ नहीं कर सकते।वह वक्त वास्तव में मेरे लिए बेहद जहरीला हो गया था और मुझे कुछ समय के लिए देश छोड़ना पड़ा।”

रणवीर शौरी कहते हैं, “किसी ने भी तथ्यों की जाँच करने की जहमत नहीं उठाई, क्योंकि एक निश्चित पार्टी मीडिया के साथ अधिक शक्तिशाली और अधिक दोस्ताना है। केवल उनके विचार सामने आते हैं। दूसरे व्यक्ति की कहानी के तथ्य और वास्तविकता कभी सामने नहीं आती है। इसका आधा दोष मीडिया को जाता है।”

बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद कंगना रनौत ने महेश भट्ट पर कई सारे आरोप लगाए। इस मामले में मुंबई पुलिस ने सोमवार (जुलाई 27, 2020) को फिल्म डायरेक्टर महेश भट्ट से सांताक्रूज पुलिस स्टेशन में पूछताछ की। बताया जा रहा है कि उनसे करीब दो घंटे तक पूछताछ की गई। सूत्रों के अनुसार महेश भट्ट से पुलिस ने सुशांत के अलावा रिया चक्रवर्ती के साथ उनके रिश्तों के बारे में सवाल जवाब किए गए।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बंगाल के शिक्षक भर्ती घोटाले में 23753 टीचरों को अब 12% ब्याज के साथ लौटाना होगा अब तक मिला वेतन: ममता बनर्जी सरकार को...

हाईकोर्ट ने कहा कि 23,753 नौकरियों को रद्द किया जाए। इतना ही नहीं, इन सभी को 4 सप्ताह के भीतर पूरा वेतन लौटाना होगा, वो भी 12% ब्याज के साथ।

‘संसद में मुस्लिम महिलाओं को मिले आरक्षण’: हैदराबाद से AIMIM सांसद ओवैसी ने रखी माँग, पार्लियामेंट में महिला आरक्षण का किया था विरोध

हैदराबाद से AIMIM के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने किशनगंज में चुनाव प्रचार के दौरान संसद में मुस्लिम महिलाओं को आरक्षण देने की माँग की है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe