Wednesday, July 24, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनमुस्लिम पिता, हिन्दू माँ, चाची कैथोलिक: सलमान खान की 'कभी ईद कभी दीवाली' का...

मुस्लिम पिता, हिन्दू माँ, चाची कैथोलिक: सलमान खान की ‘कभी ईद कभी दीवाली’ का नाम बदलेगा, विवादों का है डर

सितम्बर 2021 में इस फिल्म की शूटिंग शुरू होने वाली है। फ़िलहाल सलमान खान 'राधे' के बाद टाइगर सीरीज की तीसरी फिल्म में व्यस्त रहने वाले हैं।

‘राधे’ के बाद सलमान खान की अगली फिल्म ‘कभी ईद कभी दीवाली’ के नाम को लेकर निर्माताओं और निर्देशक में संशय का माहौल है, जिसके बाद इसे बदलने की योजना बनाई गई है। ‘बॉलीवुड हंगामा’ ने एक ट्रेड सोर्स के हवाले से दावा किया है कि सलमान खान और पूजा हेगड़े अभिनीत इस फिल्म का टाइटल बदला जाएगा, क्योंकि फिल्म से जुड़े लोग नहीं चाहते थे कि वो किसी विवाद में फँस जाएँ।

इस फिल्म के लिए कई अन्य टाइटलों पर भी विचार किया जा रहा है और जल्द ही उनमें से एक को फाइनल किया जाएगा। फिल्म की रिलीज को लेकर कोई कंट्रोवर्सी न हो, इसी डर से ऐसा किया जा रहा है। इस फिल्म के निर्माता साजिद नाडियावाला हैं। सलमान और साजिद ने विवादों से बचने के लिए ये फैसला लिया। उनका मानना है कि इस टाइटल से दो त्योहारों का मजाक उड़ने की बात सामने आ सकती है, इसलिए ये बदलाव ज़रूरी है।

‘कभी ईद कभी दीवाली’ एक आइए परिवार की कहानी है, जो सभी मजहबों के गॉड्स के एक होने में विश्वास रखता है। इसमें सलमान खान के पिता का किरदार मुस्लिम होगा, जबकि उनकी माँ हिन्दू होंगी। उनकी चाची कैथलिक होंगी। इस तरह से फिल्म में एक ‘सांप्रदायिक सद्भाव’ दिखाया जाएगा। ये परिवार ईद और दीवाली दोनों मनाता है, इसी में आने वाली दिक्कतों और खुशियों को फिल्म में दिखाया जाएगा।

सूत्रों का कहना है कि ‘वर्तमान माहौल में’ ये फिल्म भाईचारे को मजबूत करेगी और हिन्दू-मुस्लिम एकता को दिखाने के लिए इसे बनाया जा रहा है। सितम्बर 2021 में इस फिल्म की शूटिंग शुरू होने वाली है। फ़िलहाल सलमान खान ‘राधे’ के बाद टाइगर सीरीज की तीसरी फिल्म में व्यस्त रहने वाले हैं। ‘राधे’ के ट्रेलर के साथ-साथ दो गाने भी रिलीज हो चुके हैं और सोशल मीडिया में उनका खूब मजाक भी उड़ा है।

बता दें कि हाल ही में कई ऐसी फ़िल्में और वेब सीरीज आई हैं, जिनमें हिन्दू धर्म के अपमान का आरोप लगा है। हाल ही में आई सैफ अली खान अभिनीत ‘तांडव‘ के खिलाफ यूपी पुलिस ने मामला दर्ज किया था। इससे पहले ‘पाताल लोक’ और ‘असुर’ से लेकर ‘लैला’ और ‘लूडो’ तक में हिन्दू विरोधी कंटेंट्स की बातें सामने आई हैं। हिन्दूफोबिक कंटेंट्स के खिलाफ सोशल मीडिया में अभियान भी चलता रहा है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

हलाल है या झटका… मीट की दुकान के बाहर लिखो: जयपुर नगर निगम ने जारी किया आदेश, शिव मंदिर के पास और काँवड़ियों के...

जयपुर नगर निगम ने कावंडियों के रास्ते में और शिव मंदिर के निकट खुले में मीट बिक्री पर रोक लगाने की बात कही है।

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -