Saturday, July 20, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनपहले दिन दर्शकों के लिए तरसी 'शमशेरा', कई शो रद्द: फिल्म में दिखाया है...

पहले दिन दर्शकों के लिए तरसी ‘शमशेरा’, कई शो रद्द: फिल्म में दिखाया है त्रिपुण्ड-शिखा वाला गुंडा, ₹150 करोड़ बजट बना मुसीबत

YRF के लिए ये साल ही बुरा चल रहा है, क्योंकि उसकी एक और बड़ी बजट वाली फिल्म अक्षय कुमार स्टारर 'सम्राट पृथ्वीराज' भी बॉक्स ऑफिस पर धराशाई हो गई है।

रणबीर कपूर और संजय दत्त की फिल्म ‘शमशेरा’ को न सिर्फ समीक्षकों ने नकार दिया है, बल्कि दर्शकों ने भी अच्छी प्रतिक्रिया नहीं दी है। फिल्म में संजय दत्त ने विलेन का किरदार निभाया है, जो दरोगा होता है। इसमें उनका नाम ‘शुद्ध सिंह’ होता है। उनके मस्तक पर एक बड़ा सा त्रिपुण्ड होता है और सिर पर घनी-लंबी शिखा। हिन्दूफोबिया से सनी ‘यशराज फिल्म्स’ की इस मूवी ने पहले दिन मात्र 10 करोड़ रुपए का ही कारोबार किया है। इसकी एडवांस बुकिंग भी काफी कम है।

150 करोड़ रुपए की भारी-भरकम बजट वाली ‘शमशेरा’ शुक्रवार (22 जुलाई, 2022) को बॉक्स ऑफिस पर रिलीज हुई। ऐसे में इसे सिर्फ भारत में इससे अधिक का घरेलू नेट कलेक्शंस करने होंगे, ताकि ये हिट कहलाए। लेकिन, फ़िलहाल इसका एक तिहाई भी इसके लाइफटाइम के लिए मुश्किल लग रहा है। एक त्रिपुण्ड-शिखा वाले व्यक्ति को फिल्म में अत्याचार, क्रूर और ‘माँ की’ जैसे शब्दों को बोलते हुए दिखाया गया है।

YRF के लिए ये साल ही बुरा चल रहा है, क्योंकि उसकी एक और बड़ी बजट वाली फिल्म अक्षय कुमार स्टारर ‘ सम्राट पृथ्वीराज’ भी बॉक्स ऑफिस पर धराशाई हो गई है। उस फिल्म का बजट 175 करोड़ रुपए था। ‘शमशेरा’ को 4000 थिएटरों में रिलीज किया गया है। दर्शक न मिलने के कारण इसके कई शो रद्द भी किए जा रहे हैं। फिल्म विश्लेषक कह रहे हैं कि एक तो बॉलीवुड के पहले से ही बुरे दिन चल रहे हैं, ऊपर से ‘शमशेरा’ को सुस्त प्रतिक्रिया ने सब गुड़-गोबर कर दिया।

सुबह और दोपहर के कई शो सिनेमाघरों ने कैंसल कर दिए, क्योंकि टर्नआउट ही नहीं था। YRF की ‘जयेशभाई जोरदार’ भी हाल ही में फ्लॉप होकर गई है, जिसमें रणबीर कपूर मुख्य किरदार में थे। रणबीर कपूर की इस साल एक और मेगा बजट मल्टीस्टारर फिल्म ‘ब्रह्मास्त्र’ भी आने वाली है, ऐसे में उनके लिए अब करियर का सवाल खड़ा हो गया है। ‘ब्रह्मास्त्र’ में वो पहली बार अपनी पत्नी आलिया भट्ट के साथ दिखाई देंगे। फिल्म में अमिताभ बच्चन और नागार्जुन जैसे बड़े अभिनेता भी हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -