Wednesday, July 24, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजन'मम कर्मस्तवं, मम धर्मस्तवं': अब संस्कृत में सुनिए 'कर्मा' का 'ऐ वतन तेरे लिए',...

‘मम कर्मस्तवं, मम धर्मस्तवं’: अब संस्कृत में सुनिए ‘कर्मा’ का ‘ऐ वतन तेरे लिए’, बोले सुभाष घई- तरक्की के लिए अपनी संस्कृति और भाषा की समझ जरूरी

"संस्कृत का अपना एक स्वाभिमान है, आपकी संस्कृति है, संस्कृत आपकी पूजा है। जन्म से लेकर मरण तक संस्कृत ही सुनते हैं। फिर मुझे ख्याल आया कि क्यों इस गाने को संस्कृत वर्जन में रिलीज किया जाए। ताकि आज की पीढ़ी संस्कृत भाषा से जुड़ सके।"

निर्माता-निर्देशक सुभाष घई की फिल्म ‘कर्मा’ 37 साल पहले रिलीज हुई थी। लेकिन इस फिल्म का गीत ‘ऐ वतन तेरे लिए’ आज भी लोगों को देश प्रेम के जज़्बे से भर देता है। देश की स्वतंत्रता की 76वीं वर्षगाँठ पर इस गाने का संस्कृत वर्जन रिलीज किया गया है।

9 अगस्त 2023 को आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान महाराष्ट्र के संस्कृति मंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने इस गाने का संस्कृत वर्जन रिलीज किया। इस मौके पर अभिनेता जैकी श्रॉफ, सुभाष घई सहित कर्मा से जुड़े कई लोग मौजूद थे। गाने के संस्कृत वर्जन को आवाज कविता कृष्णमूर्ति ने दी है।

इस अवसर पर सुभाष घई ने कहा, “मुझे खुशी है कि सब लोग बहुत उत्साहित हैं। पूरे देश में इस बात की चर्चा है कि ‘कर्मा’ का गाना ‘ऐ वतन तेरे लिए’ संस्कृत में रिलीज हो रहा है। मै समझता हूँ कि अपना देश जिस तरह से तरक्की की तरफ जा रहा है, अपनी संस्कृति और भाषा को भी समझना बहुत जरूरी है।” उन्होंने कहा, “जब हम अपनी मातृ भाषा हिंदी, मराठी, बांग्ला में बात करते हैं और किसी सामने वाले को अंग्रेजी में बात करते देखते हैं तो हमारा ध्यान तुरंत उसकी तरफ चला जाता है, क्योंकि वह अंग्रेजी बोलता है। आज के 40 साल के बाद तो एक आम मजदूर भी अंग्रेजी में बात करेगा। तब यह कॉमन भाषा हो जाएगी। फिर जो संस्कृत में बात करेगा उसकी तरफ सब देखेंगे कि बड़ा बुद्धिमान व्यक्ति है।”

सुभाष घई ने कहा, “जब भी किसी कार्यक्रम में कहीं भी गया, लोगों को इस गीत को बहुत चाव से गाते हुए सुना। फिर हमने इस साल सोचा कि क्यों न इस गीत को दोबारा से रिकॉर्ड करें। मैं खुद 11वीं तक संस्कृत में पढ़ा हूँ। संस्कृत का अपना एक स्वाभिमान है, आपकी संस्कृति है, संस्कृत आपकी पूजा है। जन्म से लेकर मरण तक संस्कृत ही सुनते हैं। फिर मुझे ख्याल आया कि क्यों इस गाने को संस्कृत वर्जन में रिलीज किया जाए। ताकि आज की पीढ़ी संस्कृत भाषा से जुड़ सके।”

गौरतलब है कि फिल्म ‘कर्मा’ में जैकी श्रॉफ ने भी एक खास किरदार निभाया है। ‘ऐ वतन तेरे लिए’ के रिलीज के समय जैकी श्रॉफ भी मौजूद रहे। उन्होंने कहा, “मेरा नसीब है कि इस फिल्म से जुड़ा रहा हूँ। बहुत सम्मानित महसूस कर रहा हूँ कि यह गाना आज संस्कृत वर्जन में रिलीज हो रहा है। इस गाने से आज के युवाओं को संस्कृत सीखने की प्रेरणा मिलेगी। मेरा दुर्भाग्य रहा कि मैने संस्कृत नहीं पढ़ी, लेकिन अब मैं खुद संस्कृत सीखूँगा। ताकि लोगों को संस्कृत सीखने के लिए प्रेरित कर सकूँ।”

आप इस पूरे गीत को यहाँ सुन सकते हैं:

बता दें कि फिल्म कर्मा 8 अगस्त 1986 को रिलीज हुई थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -