भारत से व्यापार बंद होने पर टूटी कमर, खाने के पड़े लाले: पाकिस्तानी मंत्री का कबूलनामा

इस समय पाकिस्तान में टमाटर 300 रुपए किलो बिक रहा है। टमाटर वहॉं के खाने का मुख्य हिस्सा है। इसकी वजह से लोग बेहद परेशान है। पाकिस्तान के राजस्व मंत्री हम्माद अजहर ने दावा किया है कि जनवरी-फरवरी से महँगाई कम होने लगेगी।

खाने की चीजों की आसमान छूती कीमतों के बीच पाकिस्तान ने कबूल कर लिया है भारत के साथ व्यापार रद्द होने के कारण उसकी यह हालत हुई है। पाकिस्तानी सांख्यिकी ब्यूरो के आँकड़ों के मुताबिक खाद्य महँगाई दर 12.7 फीसदी पर पहुॅंच गई है। डॉन के मुताबिक बीते नौ साल में यह सबसे ज्यादा है। खाने के ही लाले नहीं पड़े हैं। कंगाली के कगार पर खड़ा पाकिस्तान अब सरकारी संपत्ति बेचने को भी मजबूर हो गया है।

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक पैसा जुटाने के लिए इमरान खान की सरकार ने उन संपत्तियों को बेचने का फैसला किया है, जिनका इस्तेमाल नहीं हो रहा है। दुबई एक्सपो में ये सम्पत्तियाँ बेची जाएँगी। डॉन के अनुसार इससे मिले पैसे का इस्तेमाल शिक्षा, स्वास्थ्य, भोजन और आवास के क्षेत्र में चलाई जा रही योजनाओं के लिए किया जाएगा। प्राइवेटाइजेशन सेक्रेटरी रिजवान मलिक ने बताया, “जिन सरकारी संपत्तियों का इस्तेमाल नहीं हो रहा वे पाकिस्तानी और विदेशी निवेशकों को आकर्षित करने के लिए दुबई एक्सपो में बेचा जाएँगी।”

पाकिस्तान ने यह फैसला ऐसे वक्त में किया है जब अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) सख्त शर्तों के साथ उसे 6 बिलियन डॉलर का कर्ज देने को तैयार हो चुका है। आईएमएफ ने जुलाई में तीन साल के लिए पाकिस्तान को कर्ज देने को मँजूरी दी थी। इमरान ने सत्ता की बागडोर सॅंभालने के बाद अगस्त 2018 में आईएमएफ से बेलआउट पैकेज की गुहार लगाई थी। इसके अलावा पाकिस्तान को चीन, सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात जैसे साथी मुल्कों से भी अरबों डॉलर की मदद मिली है।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

बावजूद इसके न तो उसकी आर्थिक स्थिति सुधर रही है और न महॅंगाई पर काबू पाने में वह कामयाब हो रहा है। इस समय पाकिस्तान में टमाटर 300 रुपए किलो बिक रहा है। टमाटर वहॉं के खाने का मुख्य हिस्सा है। इसकी वजह से लोग बेहद परेशान है। पाकिस्तान के राजस्व मंत्री हम्माद अजहर ने दावा किया है कि जनवरी-फरवरी से महँगाई कम होने लगेगी। संघीय कैबिनेट की बैठक के बाद मंगलवार को वे वित्त और राजस्व मामलों के इमरान खान के सलाहकार डॉ. अब्दुल हफीज शेख के साथ मीडिया से बात कर रहे थे।

अजहर ने कहा कि महँगाई के लिए भारत के साथ व्यापार रद्द होना जिम्मेदार है। इसमें मौसमी तत्व तथा बिचौलियों की भी भूमिका है। उन्होंने बताया कि सरकार की योजना सस्ता बाजार शुरू करने की भी है। इसके लिए इमरान सरकार प्रांतीय सरकारों के साथ विचार कर रही है।

पाकिस्तान ने पॉंच अगस्त को जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल 370 के प्रावधानों को निरस्त किए जाने के बाद भारत के साथ व्यापार रद्द कर कूटनीतिक संबंध कमतर कर दिया था।

इमरान खान ने बढ़ाया टैक्स: सड़कों पर आए पाकिस्तानी व्यापारी, IMF के कर्जे से हुआ यह हाल

13 महीने में ही उतावले हो गए पाकिस्तानी, इतने कम समय में Pak को मदीना कैसे बनाऊँ: इमरान खान

150 रुपए का डॉलर, 3.3% पर दम तोड़ती अर्थव्यवस्था: इमरान खान के गर्जन-तर्जन के पीछे फटेहाल पाक

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

कंगना रनौत, आशा देवी
कंगना रनौत 'महिला-विरोधी' हैं, क्योंकि वो बलात्कारियों का समर्थन नहीं करतीं। वामपंथी गैंग नाराज़ है, क्योंकि वो चाहता है कि कंगना अँग्रेजों के तलवे चाटे और महाभारत को 'मिथक' बताएँ। न्यूज़लॉन्ड्री निर्भया की माँ को उपदेश देकर कह रहा है ये 'न्याय' नहीं बल्कि 'बदला' है।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

143,833फैंसलाइक करें
35,978फॉलोवर्सफॉलो करें
163,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: