Tuesday, August 9, 2022
Homeविविध विषयअन्यCWG में 'बेईमानी' पर बोले सहवाग- जल्दी हॉकी में भी सुपरपावर बनेंगे, भारत की...

CWG में ‘बेईमानी’ पर बोले सहवाग- जल्दी हॉकी में भी सुपरपावर बनेंगे, भारत की महिला टीम का समर्थन करने पर मुस्लिम नाम वाले गाली पर उतरे

वीरेंद्र सहवाग ने कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में भारतीय महिला हॉकी टीम के साथ हुई नाइंसाफी पर आवाज उठाई तो कुछ लोग उनके ट्वीट पर आकर भारत को सुपरपावर कहे जाने पर मजाक उड़ाने लगे। इनमें कुछ पाकिस्तानी भी दिखे जिन्होंने भारत को गाली बकी।

बर्मिंघम में चल रहे कॉमनवेल्थ गेम्स में कल भारतीय महिला हॉकी टीम के साथ ऑस्ट्रेलिया का सेमीफाइनल मैच हुआ। इस मैच में दोनों टीमों द्वारा बराबर गोल किए जाने पर खेल पेनल्टी शूटआउट तक पहुँचा। लेकिन इस चरण में जैसे ही भारत ने ऑस्ट्रेलिया के पहले गोल को रोका, तभी अंपायर ने भारत के साथ बेईमानी कर दी।

खेल की वीडियो में देख सकते हैं कि साफ तौर पर गोल रोके जाने के बावजूद अंपायर ने भारत को आकर कहा कि घड़ी तो चालू ही नहीं हुई थी। भारतीय कोच ने इस बात पर बहस भी की। मगर कोई फायदा नहीं हुआ। इस धोखेबाजी का असर टीम पर ऐसा हुआ कि अगले तीनों गोल न वे रोक पाए और न कर पाए। इस तरह भारतीय टीम पर पेनल्टी शूट आउट में 3-0 से हार गई।

सहवाग ने बताया क्रिकेट में भी था ऐसा भेदभाव

कॉमनवेल्थ गेम्स में भारतीय महिला टीम के साथ हुई नाइंसाफी को देख तमाम भारतीय आगबबूला हुए। इसी क्रम में पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने भी अपना गुस्सा उतारा। उन्होंने बताया कि ऐसा क्रिकेट में भी होता था।

सहवाग ने ट्वीट किया, “पेनल्टी मिस हुआ ऑस्ट्रेलिया से, और अंपायर ने कहा कि सॉरी क्लॉक स्टार्ट नहीं हुआ। इस तरह का भेदभाव क्रिकेट में भी होता था, जब तक हम सुपरपावर नहीं बने थे। हॉकी में भी हम जल्द बनेंगे और फिर सभी क्लॉक समय पर शुरू होंगे, मुझे अपनी लड़कियों पर गर्व है।”

भारत के लिए सुपरपावर शब्द पढ़ भड़के कट्टरपंथी

सहवाग के इस ट्वीट पर कई भारतीयों ने सहमति जताई। लेकिन भारत देश से जुड़ी हर उपलब्धि का मजाक बनाने वाले पाकिस्तानी और कट्टरपंथी यहाँ पर भी बाज नहीं आए।

सहवाग के ट्वीट पर मुजम्मिल इकबाल का रिप्लाई देखिए।इकबाल सुपरपावर शब्द का मजाक उड़ाते हुए कहता है, “सुपरपावर। अंपायरों को खरीदना इसका मतलब ये नहीं है कि आप सुपरपावर हो गए। हद्द हो गई।

इसी तरह अहतेशाम उल हक कहता है, “सुपरपावर? हाहाहाहा।”

खान नाम का यूजर लिखता है, “कैसी सुपरपावर है। हर बार नॉकआउट में कोई मारकर चला जाता है। एक ट्रॉफी तो लाए नहीं 10 साल में और सुपरपावर बनते हैं पेटीएम ट्रॉफी के नाम पर।

पाकिस्तान के फरहाद बरकत अली ने लिखा, “इंडिया सुपरपावर %$&^”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

केजरीवाल ने दिए 9 साल में सिर्फ 857 ऑनलाइन जॉब्स, चुनावी राज्यों में लाखों नौकरियों के वादे: RTI से खुलासा

केजरीवाल के रोजगार को लेकर बड़े-बड़े वादों और विज्ञापनों की पोल दिल्ली में नौकरियों पर डाले गए एक RTI ने खोल दी है।

जब सिंध में हिन्दुओं-सिखों का हो रहा था कत्लेआम, 10000 स्वयंसेवकों के साथ पहुँचे थे ‘गुरुजी’: भारत-Pak विभाजन के समय कहाँ थे कॉन्ग्रेस नेता?

विभाजन के दौरान पाकिस्तान में हिन्दुओं-सिखों की मदद के लिए न आई कोई राजनीतिक पार्टियाँ और ना ही आए वह नेता, जो उस समय इतिहास में खुद को दर्ज कराना चाहते थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
212,538FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe