Monday, January 17, 2022
Homeविविध विषयअन्य'ऐतिहासिक क्षण': मणिपुर पहुँची ट्रेन का लोगों ने राष्ट्रगान के साथ किया स्वागत, CM...

‘ऐतिहासिक क्षण’: मणिपुर पहुँची ट्रेन का लोगों ने राष्ट्रगान के साथ किया स्वागत, CM ने प्रधानमंत्री का जताया आभार

हालाँकि, मणिपुर का जिरीबाम रेलवे के नक़्शे पर है और इससे आगे रेलवे लाइन का काम पहले से ही चल रहा था, लेकिन इम्फाल तक रेल सेवा शुरू होने में अभी समय लगेगा।

भारतीय रेलवे ने मणिपुर को बड़ी सौगात दी है। आज़ादी के बाद ऐसा पहली बार हुआ है जब किसी पैसेंजर ट्रेन का मणिपुर के ब्रॉड गॉज लाइन पर वैंगाईचुनपाओ तक सफल ट्रायल रन हुआ है। असम के सिल्चर रेलवे स्टेशन से मणिपुर के वैंगाईचुनपाओ स्टेशन पहुँची। ये रेलवे स्टेशन मणिपुर के तमेंगलोंग जिले में स्थित है। शुक्रवार (जुलाई 2, 2021) को इस पैसेंजर ट्रेन का पहला ऐतिहासिक ट्रायल रन पूरा किया गया था। कुछ ही दिनों में इस रेल लाइन का उद्घाटन खुद केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल करेंगे।

‘राजधानी एक्सप्रेस’ नाम की पैसेंजर ट्रेन को बीच में जिरीबाम रेलवे स्टेशन पर भी रोका गया। वहाँ पर ट्रेन के साथ आए अधिकारियों का स्थानीय लोगों ने स्वागत किया। इसके बाद स्थानीय जनता और अधिकारियों ने मिल कर ट्रेन को सम्मान दिया। इस प्रक्रिया के बाद वहाँ राष्ट्रगान के साथ राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा भी फहराया गया। नॉर्थ-ईस्ट फ्रंटियर रेलवे के पब्लिक रिलेशन्स (PR) अधिकारी नृपेन भट्टाचार्य ने कहा कि जल्द ही इस लाइन पर रेल सेवा शुरू होगी।

इससे मणिपुर के लोग भी रेलवे के जरिए बाकी देश से और अच्छे से जुड़ जाएँगे और उनके लिए आवागमन आसान हो जाएगा। मणिपुर का जिरीबाम रेलवे के नक़्शे पर है और रेलवे लाइन का काम यहाँ पहले से ही चल रहा था, लेकिन इम्फाल तक रेल सेवा शुरू होने में अभी समय लगेगा। साथ ही वैंगाईचुनपाओ से मणिपुर की राजधानी इम्फाल तक भी रेल लाइन के निर्माण का कार्य जारी है। इसके लिए इम्फाल में एक रेलवे टनल भी बनाया जा रहा है। जल्द ही इसका काम पूरा हो जाएगा।

मणिपुर के मुख्यमंत्री एन वीरेन सिंह ने भी इसका स्वागत करते हुए इसे ‘ऐतिहासिक क्षण’ करार दिया है। उन्होंने कहा कि मणिपुर की जनता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रति आभारी है, क्योंकि उनके नेतृत्व में ही ये बड़ा बदलाव देखने को मिल रहा है। वैसे इससे पहले जिरीबाम रेलवे स्टेशन तक ट्रेन आती थी, जो अंतिम रेलवे स्टेशन होता था। जिस ट्रैक पर ट्रायल रन हुआ, वो 11 किलोमीटर का है। ये सिल्चर-वैंगाईचुनपाओ ब्रॉड गॉज लाइन पर पहला ट्रायल रन था, जो साफा रहा।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘नहीं करने देंगे PM मोदी सुरक्षा चूक की जाँच’: जस्टिस इंदु मल्होत्रा को SFJ की धमकी, वकीलों से कहा – तुम सब खतरे में...

सुप्रीम कोर्ट ने पीएम मोदी की सुरक्षा चूक की जाँच के लिए जस्टिस इंदु मल्होत्रा के नेतृत्व में एक समिति का गठन किया था। SFJ ने उन्हें धमकी दी है।

खालिस्तानी प्रोपगेंडे को पीछे धकेल सामने आए ब्रिटिश सिख, PM मोदी को दिया धन्यवाद, कहा- ‘आपने बहुत कुछ किया है’

अमेरिका के साउथहॉल के पार्क एवेन्यू में स्थित गुरुद्वारा गुरू सभा में एकत्रित होकर सिख समुदाय के लोगों ने पीएम मोदी को उनके प्रयासों के लिए धन्यवाद दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
151,731FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe