Wednesday, June 29, 2022
Homeविविध विषयअन्यहिन्दू होने के कारण दानिश के साथ पाक में हुआ भेदभाव: इमरान को पत्र...

हिन्दू होने के कारण दानिश के साथ पाक में हुआ भेदभाव: इमरान को पत्र लिखकर कहा- हालत बहुत ख़राब है

दानिश का कहना है कि अब वो उन खिलाड़ियों के नाम बताएँगे, जिन्होंने उनके साथ हिन्दू होने की वजह से भेदभाव किया था।

पाकिस्तान के पूर्व स्पिनर दानिश कनेरिया को लेकर किए गए पाकिस्तान के पूर्व तेज़ गेंदबाज़ शोएब अख़्तर के ख़ुलासे ने पाकिस्तान क्रिकेट में भूचाल ला दिया है। शोएब ने एक चैट शो में दावा किया था कि पाकिस्तान की टीम के कुछ खिलाड़ी हिन्दू खिलाड़ी दानिश कनेरिया के साथ भेदभाव करते थे और उनके साथ खाना तक नहीं खाते थे। अब इस मामले पर दानिश कनेरिया ने भी चुप्पी तोड़ दी है। उन्होंने इसे लेकर बड़ा ख़ुलासा करने का मन बना लिया है। दानिश का कहना है कि अब वो उन खिलाड़ियों के नाम बताएँगे, जिन्होंने उनके साथ हिन्दू होने की वजह से भेदभाव किया था। 

इसके अलावा, दानिश कनेरिया ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान, पूर्व क्रिकेटरों समेत अन्य देशों से भी मदद की गुहार भी लगाई है। उन्होंने कहा, “मेरी हालत बहुत ख़राब है और मैंने पाकिस्तान और दुनियाभर में कई लोगों से मदद की गुहार लगाई है लेकिन अभी तक मुझे कोई मदद नहीं मिली है। हालाँकि, पाकिस्तान में कई क्रिकेटरों की समस्याओं को सुलझाया गया है। मैंने एक क्रिकेटर के नाते पाकिस्तान के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया और मुझे इसका गर्व है। मुझे लगता है कि इस वक्त पाकिस्तान के लोग मेरी मदद करेंगे।”

दरअसल, इंग्लिश क्लब एसेक्स की तरफ़ से खेलने के दौरान दानिश कनेरिया पर स्पॉट फिक्सिंग का आरोप सिद्ध हुआ था। कनेरिया का कहना है कि लंबे समय से वो पाकिस्तान और दुनियाभर के लोगों से सम्पर्क कर अपनी समस्याओं का समाधान करने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन अब तक कोई मदद नहीं मिल सकी है, जबकि पाकिस्तान के अन्य कई खिलाड़ियों के मामले सुलझ गए हैं। 

ग़ौरतलब है कि पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर शोएब अख़्तर ने एक चैट सो के दौरान ख़ुलासा किया था कि दानिश कनेरिया हिन्दू थे इसलिए पाकिस्तानी टीम में उनके साथ अच्छा व्यवहार नहीं किया जाता था। चैट शो में पूर्व क्रिकेटरों असीम कमाल और राशिद लतीफ के साथ शोएब अख्तर ने कई खुलासे किए।

इसी दौरान राशिद लतीफ ने यूसुफ योहाना का मामला उठाया और कहा कि यूसुफ को भी बहुत तंग किया गया, लेकिन वो भी बेमिसाल खिलाड़ी ‌थे। शोएब अख्तर ने यूसुफ के बारे में बताते हुए कहा था, “यूसुफ के नाम 12 हजार रन दर्ज हैं। मगर, हमने कभी उनका सम्मान नहीं किया। दो-तीन खिलाड़ियों से मेरी लड़ाई भी हुई। मैंने कहा कि अगर कोई हिन्दू है, तो भी वो खेलेगा और फिर उसी हिन्दू ने हमें टेस्ट सीरीज जिताई।”

एक सवाल के जवाब में शोएब अख्तर ने बताया था, “स्टीव वॉ ने एंड्रयू साइमंड्स को लगातार मौके दिए। वो दस साल तक क्रिकेट खेले। एबी डिविलियर्स ने क्विंटन डि कॉक को रिहेबिलिटेशन सेंटर भेजा, उन्हें तैयार किया और आज देखिए वो क्या कर रहे हैं? हमारे यहाँ तो ड्रेसिंग रूम में ही खिलाड़ियों को खराब कर दिया जाता है।”

‘हिंदू दानिश कनेरिया हमारे साथ क्यों खाता है?’ – Pak क्रिकेट टीम का घिनौना सवाल और अख्तर का जवाब

‘पाकिस्तान में हमने जो तकलीफें झेली हैं, अगर आप उससे गुजरे होते तो कभी प्रदर्शन नहीं करते’

‘अगर पाकिस्तान के मुस्लिम भारत आकर रहेंगे, तो विभाजन का क्या मतलब, पूरे को हिन्दुस्तान घोषित कर दो’

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘इस्लाम ज़िंदाबाद! नबी की शान में गुस्ताखी बर्दाश्त नहीं’: कन्हैया लाल का सिर कलम करने का जश्न मना रहे कट्टरवादी, कह रहे – गुड...

ट्विटर पर एमडी आलमगिर रज्वी मोहम्मद रफीक और अब्दुल जब्बार के समर्थन में लिखता है, "नबी की शान में गुस्ताखी बर्दाश्त नहीं।"

कमलेश तिवारी होते हुए कन्हैया लाल तक पहुँचा हकीकत राय से शुरू हुआ सिलसिला, कातिल ‘मासूम भटके हुए जवान’: जुबैर समर्थकों के पंजों पर...

कन्हैयालाल की हत्या राजस्थान की ये घटना राज्य की कोई पहली घटना भी नहीं है। रामनवमी के शांतिपूर्ण जुलूसों पर इस राज्य में पथराव किए गए थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
200,225FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe