Tuesday, July 27, 2021
Homeविविध विषयअन्यचक्रवात 'फ़ानी' से बचाव के लिए 1000 करोड़ रुपए का राहत फंड तैयार, Navy...

चक्रवात ‘फ़ानी’ से बचाव के लिए 1000 करोड़ रुपए का राहत फंड तैयार, Navy भी मुस्तैद

यह धनराशि चारों राज्यों तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश और ओडिशा की राज्य सरकारों के आपदा रिस्पॉन्स फंड में सीधे जमा की जाएगी। तमिलनाडु को ₹309.75 करोड़, आंध्र प्रदेश ₹200.25 करोड़, ओडिशा को ₹340.875 करोड़ और पश्चिम बंगाल को ₹235.50 करोड़ दिए जाएँगे।

चक्रवात ‘फानी’ को हिंदुस्तान की ओर रुख कर आगे बढ़ता देखते हुए गृह मंत्रालय ने कमर कसनी शुरू कर दी है। इन्हीं तैयारियों के अंतर्गत ₹1000 करोड़ से अधिक का एक फंड उन चार राज्यों के लिए तैयार किया गया है जिनके इस चक्रवात की चपेट में आने की सम्भावना है। यह चारों राज्य भारत के पूर्वी समुद्र तट पर हैं।

पैसा सीधे राज्यों के आपदा रिस्पॉन्स फंड में

यह धनराशि चारों राज्यों तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश और ओडिशा की राज्य सरकारों के आपदा रिस्पॉन्स फंड में सीधे जमा की जाएगी। तमिलनाडु को ₹309.75 करोड़, आंध्र प्रदेश ₹200.25 करोड़, ओडिशा को ₹340.875 करोड़ और पश्चिम बंगाल को ₹235.50 करोड़ दिए जाएँगे। कल (सोमवार) शाम से हाई अलर्ट पर चल रहे यह राज्य इस राशि का उपयोग नुक्सान की रोकथाम और प्रभावित लोगों की सहायता के लिए करेंगे।

नेवी भी चौकस, बंगाल की खाड़ी में है तूफ़ान का उद्गम  

फ़ानी तूफ़ान का उद्गम बंगाल की खाड़ी में चेन्नै से 690 किमी और तमिलनाडु के ही अन्य शहर मछलीपट्टनम से 760 km दक्षिणपूर्व में बताया जा रहा है। गृहमंत्रालय के एक अधिकारी ने आज शाम को ही यह जानकारी दी कि पहले उत्तर की ओर बढ़ते इस तूफ़ान के बारे में अनुमान है कि 1 मई (कल, बुधवार) की शाम के आसपास यह ओडिशा की तरफ़ मुड़ जाएगा।

पूर्वी नेवल कमांड (ENC) को भी हाई अलर्ट पर मानवीय सहायता के लिए तैयार रहने को कहा गया है, इस आशय से नेवी के एक प्रवक्ता ने मंगलवार शाम को जानकारी दी है। चेन्नै और विशाखापत्तनम स्थित भारतीय नेवी के पोतों को आपदा सहायता, बचाव अभियान, मेडिकल सहायता आदि के लिए स्टैंडबाई पर रखा गया है। इन पोतों पर डॉक्टरों, दवाओं, कपड़ों, बचाव अभियान की रबर नावों सहित सभी सामग्री को संग्रहित कर लिया गया है।

नेवी कमांड स्थिति पर पैनी नजर रखे है और चारों राज्यों की राज्य सरकार के साथ लगातार संपर्क और समन्वय स्थापित किए हुए है

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कारगिल कमेटी’ पर कॉन्ग्रेस की कुण्डली: लोकतंत्र की सुरक्षा के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा राजनीतिक दृष्टिकोण का न हो मोहताज

हमें ध्यान में रखना होगा कि जिस लोकतंत्र पर हम गर्व करते हैं उसकी सुरक्षा तभी तक संभव है जबतक राष्ट्रीय सुरक्षा का विषय किसी राजनीतिक दृष्टिकोण का मोहताज नहीं है।

असम-मिजोरम बॉर्डर पर भड़की हिंसा, असम के 6 पुलिसकर्मियों की मौत: हस्तक्षेप के दोनों राज्‍यों के CM ने गृहमंत्री से लगाई गुहार

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट कर बताया कि असम-मिज़ोरम सीमा पर तनाव में असम पुलिस के 6 जवानों की जान चली गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,363FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe