Friday, June 14, 2024
Homeविविध विषयअन्य'जडेजा का लेग स्टंप पर गिरा बॉल स्पिन होकर मिडल स्टंप पर कैसे जा...

‘जडेजा का लेग स्टंप पर गिरा बॉल स्पिन होकर मिडल स्टंप पर कैसे जा सकता… DRS तकनीक पर BCCI का कब्जा’: ‘यंगेस्ट’ Pak क्रिकेटर हसन रजा

"बीसीसीआई डीआरएस सिस्टम को अपने हिसाब से चला रहा है, क्योंकि ग्राउंड बीसीसीआई का, ब्रॉडकास्टर बीसीसीआई के और सिस्टम भी बीसीसीआई का है।"

पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर हसन रजा ने एक बाद फिर से आईसीसी और बीसीसीआई पर पक्षपात के आरोप लगाते हुए डीआरएस पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कोलकाता में भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेले गए मुकाबले में डीआरएस पर सवाल उठाए। उन्होंने जडेजा की घूमती गेंदों पर शक जताया और कहा कि लेफ्ट ऑफ स्पिनर की जिस गेंद पर वॉन डेर डुसैन को डीआरएस पर आउट दिया गया, वो बॉल राइट हैंड बैटर के लिए लेग स्टंप से बाहर निकलती, न कि घूम कर लेग स्टंप पर। उन्होंने कहा कि बीसीसीआई डीआरएस सिस्टम को अपने हिसाब से चला रहा है, क्योंकि ग्राउंड बीसीसीआई का, ब्रॉडकास्टर बीसीसीआई के और सिस्टम भी बीसीसीआई का है।

हसन रजा ने एबीएन न्यूज पर ये बातें कहीं। हालाँकि इस बार उन्होंने गेंदों पर सवाल नहीं उठाए, लेकिन ये जरूर कहा कि गेंदों के वजन में थोड़ा सा भी अंतर आता है, तो वो ज्यादा घूमती हैं। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि रविंद्र जडेजा की जिस गेंद पर वॉन डेर डुसैन को आउट दिया गया, वो लेग स्टंप से बाहर जाती।

सवाल करते हुए उन्होंने पूछा कि जडेजा की गेंद कैसे उल्टी दिशा में जा सकती है? हसन रजा ने दावा किया कि उन्होंने बहुत क्रिकेट खेला है और ऐसा नहीं होता, जैसा डीआरएस ने दिखाया। उनके अनुसार खुद डुसैन भी आउट दिए जाने से काफी हैरान थे।

हसन रजा ने कई साल पहले के मैच का जिक्र भी किया और कहा कि सईद अजमल की जिस गेंद पर सचिन तेंदुलकर को नॉट आउट दे दिया गया था, वो गेंद एकदम सीधी जा रही थी। ऐसा इसलिए हुआ, क्योंकि बीसीसीआई ब्रॉडकास्टिंग और पूरे सिस्टम को कंट्रोल करता है। उनके अनुसार ऐसा ही कुछ रविंद्र जडेजा की गेंद पर हुआ। हसन रजा की पूरी बातचीत को आप 1.40 मिनट से 5.10 तक सुन सकते हैं।

क्वॉलिटी बोलिंग के सवाल पर एंकर को जवाब देते हुए हसन रजा ने बताया कि पाकिस्तान के गेंदबाज दुनिया के

क्रिकेट वर्ल्ड कप 2023 में भारत ने कोलकाता में खेले गए मैच में दक्षिण अफ्रीकी टीम को 243 रनों से हरा दिया। इस मैच में विराट कोहली ने अपने जन्मदिन के मौके को शतक लगाकर खास बनाया। भारत ने 5 विकेट के नुकसान पर निर्धारित 50 ओवरों में 326 रनों का स्कोर खड़ा किया था, इसके जवाब में पूरी दक्षिण अफ्रीकी टीम महज 83 रनों पर ऑल आउट हो गई। इस मैच में विराट कोहली ने रिकॉर्ड 49वाँ शतक लगाया, वहीं रविंद्र जडेजा ने 5 विकेट लेकर दक्षिण अफ्रीकी टीम की कमर तोड़ दी।

पहले गेंदों को लेकर उठा चुके हैं सवाल

बता दें कि हसन रजा ने भारत और श्रीलंका के बीच खेले गए मैच के बाद आरोप लगाया था कि बीसीसीआई भारतीय गेंदबाजों को अलग-तरह का बॉल देती है, जिसकी वजह से विपक्षी बल्लेबाज उन पर रन नहीं बना पा रहे। उनके इस दावे की जम कर आलोचना हुई थी। उन्हें पाकिस्तानी क्रिकेट टीम में मौका देने वाले उनके ही पूर्व कप्तान वसीम अकरम ने जमकर लताड़ लगाई थी और कहा था कि कम से कम वो पूरे पाकिस्तान की बेईज्जती न कराएँ। वसीम अकरम ने मैच के दौरान इस्तेमाल होने वाली गेंदों को चुने जाने की प्रक्रिया भी बताई थी।

हसन रजा ने कहा था कि मोहम्मद शामी, मोहम्मद सिराज या जसप्रीत बुमराह अगर सीम या स्विंग करा पा रहे हैं तो इसकी वजह है उनको दी जाने वाली अलग तरह की गेंद। इनके अनुसार इस अलग तरह की गेंद पर कुछ एक्स्ट्रा लेयर या एक्स्ट्रा कोटिंग की गई है। 4 मिनट के अपने जवाब में हसन रजा ने कहा कि मोहम्मद शामी, मोहम्मद सिराज या जसप्रीत बुमराह जिस तरह से बॉल फेंक रहे हैं, वो एलन डोनल्ड की याद दिला रहा और इसके पीछे वजह यह है कि इनको अलग तरह की गेंद दी जा रही है। हसन के मुताबिक इसके पीछे अंपायर या ICC या BCCI किसी का भी हाथ हो सकता है।

आपको बता दें कि हसन रजा ने 14 साल 227 दिन की उम्र में इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू करके रिकॉर्ड बनाया था। बाद में पाकिस्तान क्रिकेट ने इनके जन्मदिन की सही जानकारी के अभाव में इस रिकॉर्ड को खुद ही हटा लिया था। यह वही हसन रजा है, जिस पर क्रिकेट में फिक्सिंग का भी आरोप लगा है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कश्मीर समस्या का इजरायल जैसा समाधान’ वाले आनंद रंगनाथन का JNU में पुतला दहन प्लान: कश्मीरी हिंदू संगठन ने JNUSU को भेजा कानूनी नोटिस

जेएनयू के प्रोफेसर और राजनीतिक विश्लेषक आनंद रंगनाथन ने कश्मीर समस्या को सुलझाने के लिए 'इजरायल जैसे समाधान' की बात कही थी, जिसके बाद से वो लगातार इस्लामिक कट्टरपंथियों के निशाने पर हैं।

शादीशुदा महिला ने ‘यादव’ बता गैर-मर्द से 5 साल तक बनाए शारीरिक संबंध, फिर SC/ST एक्ट और रेप का किया केस: हाई कोर्ट ने...

इलाहाबाद हाई कोर्ट में जस्टिस राहुल चतुर्वेदी और जस्टिस नंद प्रभा शुक्ला की बेंच ने इस मामले की सुनवाई करते हुए कहा कि सबूत पेश करने की जिम्मेदारी सिर्फ आरोपित का ही नहीं है, बल्कि शिकायतकर्ता का भी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -