Monday, November 29, 2021
Homeविविध विषयअन्यअल्लाह ने चाहा तो होगा चमत्कार, 500 रन बनाएगा पाकिस्तान: सरफराज अहमद

अल्लाह ने चाहा तो होगा चमत्कार, 500 रन बनाएगा पाकिस्तान: सरफराज अहमद

"सेमीफाइनल के लिए जो जरूरत है हम वह करने की कोशिश करेंगे लेकिन हमें वास्तविकता के साथ रहना होगा। अगर अल्लाह ने चाहा तो चमत्कार हो सकता है।"

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के कप्तान सरफराज अहमद ने अपनी टीम के सेमीफाइनल में पहुँचने के लिए चमत्कार को आखिरी रास्ता माना है। पत्रकारों से बातचीत में सरफराज ने स्पष्ट कहा है कि अगर अल्लाह ने चाहा तो बांग्लादेश के ख़िलाफ़ शुक्रवार (जुलाई 5, 2019) को होने वाले मैच में चमत्कार हो सकता है।

पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने बताया है कि वो इस मैच में 500 रन बनाने की कोशिश करेंगे और साथ ही विरोधी टीम को 50 पर आउट करने का प्रयास करेंगें।

उन्होंने कहा, “यह ऐसा है कि आप 600, 500, 400 रन बनाए और फिर उसी पिच पर विरोधी टीम को 50 रन पर आउट कर दें तब आप 316 रन के जरूरी अंतर से जीत सकते हैं। अगर आपको लगता है कि यह संभव है तो हम कोशिश कर सकते हैं।”

आपको बता दें, इस समय पाकिस्तान के जैसे हाल हैं, उन्हें सेमीफाइनल में जगह बनाने के लिए आज पहले बल्लेबाजी करने की जरूरत है, क्योंकि अगर बांग्लादेश इस मैच में पहली बल्लेबाजी करता है तो पाकिस्तान अपने आप ही सेमीफाइनल की होड़ से बाहर हो जाएगा। क्योंकि उनके लिए जीत का जो समीकरण तय है, उसे बना पाना लगभग असंभव लग रहा है।

सरफराज ने मीडिया से बातचीत में कहा है, “सेमीफाइनल के लिए जो जरूरत है हम वह करने की कोशिश करेंगे लेकिन हमें वास्तविकता के साथ रहना होगा। अगर अल्लाह ने चाहा तो चमत्कार हो सकता है।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जिनके घर शीशे के होते हैं, वे दूसरों पर पत्थर नहीं फेंका करते’: केजरीवाल के चुनावी वादों पर बरसे सिद्धू, दागे कई सवाल

''अपने 2015 के घोषणापत्र में 'आप' ने दिल्ली में 8 लाख नई नौकरियों और 20 नए कॉलेजों का वादा किया था। नौकरियाँ और कॉलेज कहाँ हैं?"

‘शरजील इमाम ने किसी को भी हथियार उठाने या हिंसा करने के लिए नहीं कहा, वो पहले ही 14 महीने से जेल में’: इलाहाबाद...

इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने अपनी टिप्पणी में कहा कि शरजील इमाम ने किसी को भी हथियार उठाने या हिंसा करने के लिए नहीं कहा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,506FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe