Thursday, September 23, 2021
Homeविविध विषयअन्यपाकिस्तान वाले कश्मीर प्रीमियर लीग में खेलोगे तो भारत में दाना-पानी बंद: BCCI की...

पाकिस्तान वाले कश्मीर प्रीमियर लीग में खेलोगे तो भारत में दाना-पानी बंद: BCCI की सख्ती से Pak में रुदन चालू

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड इसे क्रिकेट के खेल का अपमान बता रहा है। उसने इसे खतरनाक चलन करार देते हुए कहा कि ये खेल की आत्मा के खिलाफ है।

दक्षिण अफ्रीका के पूर्व सलामी बल्लेबाज हर्शल गिब्स ने एक ट्वीट कर के दावा किया था कि ‘भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI)’ कश्मीर प्रीमियर लीग में खेलने पर ‘गैर-ज़रूरी रूप से’ पाकिस्तान के साथ राजनीतिक एजेंडे को आगे रखते हुए खिलाड़ियों पर प्रतिबंध लगा रहा है। उन्होंने दावा किया कि BCCI ने उसने कहा है कि अगर वो कश्मीर प्रीमियर लीग में खेलते हैं तो उन्हें क्रिकेट सम्बन्धी कार्यों के लिए भारत नहीं आने दिया जाएगा।

इसके बाद BCCI ने भी स्पष्ट किया है कि वो इस मामले में सख्त है। बता दें कि पाकिस्तान ने भारत के खिलाफ दुनिया के नैरेटिव को अपने हिसाब से चलाने की मंशा से अपने कब्जे वाले कश्मीर में क्रिकेट टूर्नामेंट की घोषणा की है। POK (पाक अधिकृत कश्मीर) भारत का हिस्सा है और पाकिस्तान ने जबरन उस पर कब्ज़ा कर रखा है, इसीलिए भारत इस मामले में सख्त है। BCCI ने दुनिया के सभी क्रिकेट बोर्ड्स को कह दिया है कि उनके जो खिलाड़ी KPL में जाएँगे, वो भारत में किसी क्रिकेट सम्बंधित गतिविधि में कभी हिस्सा नहीं ले पाएँगे।

BCCI ने कहा है कि देशहित को ध्यान में रखते हुए ये फैसला लिया गया है। BCCI के एक अधिकारी ने कहा कि आज तक बोर्ड ने ‘पाकिस्तान प्रीमियर लीग (PSL)’ में किसी खिलाड़ी के खेलने पर आपत्ति नहीं जताई, लेकिन कश्मीर प्रीमियर लीग को POK में आयोजित किया जा रहा है। बोर्ड ने कहा कि वो इस मामले में भारत सरकार के नीतियों के अनुसार ही चल रहा है। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड इसे क्रिकेट के खेल का अपमान बता रहा है।

उसने इसे खतरनाक चलन करार देते हुए कहा कि ये खेल की आत्मा के खिलाफ है। BCCI के अधिकारी ने कहा कि वो PCB के बयानों को लेकर चिंतित नहीं है, बल्कि उसे सिर्फ भारत और भारतीय खिलाड़ियों के बारे में सोचता है। पाकिस्तान के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी ने भी भारत पर क्रिकेट और राजनीति को मिक्स करने का आरोप लगाया है। वहाँ के मंत्री फवाद चौधरी ने मोदी सरकार पर राजनीति के लिए क्रिकेट का बलिदान देने का आरोप लगाया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

100 मलयाली ISIS में हुए शामिल- 94 मुस्लिम, 5 कन्वर्टेड: ‘नारकोटिक्स जिहाद’ पर घिरे केरल के CM ने बताया

केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने बुधवार को खुलासा किया कि 2019 तक केरल से ISIS में शामिल होने वाले 100 मलयालियों में से लगभग 94 मुस्लिम थे।

इस्लामी कट्टरपंथ से डरा मेनस्ट्रीम मीडिया: जिस तस्वीर पर NDTV को पड़ी गाली, वह HT ने किस ‘दहशत’ में हटाई

इस्लामी कट्टरपंथ से डरा हुआ मेन स्ट्रीम मीडिया! ऐसा हम नहीं कह रहे बल्कि हिंदुस्तान टाइम्स ने ऐसा एक बार फिर खुद को साबित किया। जब कोरोना से सम्बंधित तमिलनाडु की एक खबर में वही तस्वीर लगाकर हटा बैठा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,886FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe