Tuesday, January 26, 2021
Home विविध विषय विज्ञान और प्रौद्योगिकी चायनीज कंपनी के मुकाबले देशी मोबाइल माइक्रोमैक्स की In Note 1 के साथ शानदार...

चायनीज कंपनी के मुकाबले देशी मोबाइल माइक्रोमैक्स की In Note 1 के साथ शानदार वापसी, कभी हुआ करता था भारत का नंबर 1 ब्रांड

जब चीनी कंपनियों को लेकर भारत सरकार ने सख्त रवैया अपनाया, तब लोगों को माइक्रोमैक्स की दोबारा याद आई। ‘आत्मनिर्भर भारत’ को बढ़ावा देने व चीन का बहिष्कार करने के लिए लोगों ने माइक्रोमैक्स को टैग करके ये कहना शुरू किया कि वह चीनी मोबाइलों का विकल्प ले कर आएँ।

जिन लोगों को साल 2013 तक स्मार्टफोन का चस्का लग चुका था वह सभी लोग अच्छे से जानते होंगे कि मोबाइल की दुनिया में माइक्रोमैक्स की क्या धूम थी। अलग-अलग रेंज का माइक्रोमैक्स फोन हर तीसरे-चौथे सड़क चलते इंसान के हाथ में देखने को मिल जाता था। 

माइक्रोमैक्स के इतना लोकप्रिय होने के पीछे मुख्य कारण था- कम दम दाम में अपने उपभोक्ता को तमाम फीचर्स के साथ ऐसा हैवी लुक वाला फ़ोन देना, जिससे उनकी जेब पर ज्यादा असर न पड़े और सोशल लाइफ में स्टेटस भी बरकरार रहे।

साल 2014-15 तक माइक्रोमैक्स भारत की लीडिंग कंपनियों में से एक रही। लेकिन, धीरे धीरे शाओमी का सुरूर लोगों पर चढ़ना शुरू हुआ और वह माइक्रोमैक्स को छोड़ उसकी ओर आकर्षित होते गए। गलती उस समय चायनीज कंपनियों की भी नहीं थी। 

क्वालिटी कंपैरिजन में माइक्रोमैक्स की कैनवस सीरिज के कई मॉडल्स को वाकई शाओमी का M1-1S पछाड़ने लगा था। बाकी की कसर वह लोग पूरी कर रहे थे जिन्हें तकनीक की जानकारी थी। हर कोई कम दाम में अच्छे फोन का पर्याय चायनीज फोनों को बताने लगा था।

Micromax Canvas Knight Cameo A290 Vs Xiaomi Mi 3: A New Budget Superstar in  the Making? - Gizbot News
साभार: gizbot

साल 2014 के अंत में और 2015 की शुरुआत में माइक्रोमैक्स की स्थिति डंवाडोल होनी शुरू हुई और इसी बीच आया शाओमी का नोट 1। जिसकी माँग ऑनलाइन नए रिकॉर्ड कायम कर रही थी। चायनीज कंपनियों को ज्यादा समय नहीं लगा माइक्रोमैक्स से लोगों का मन दूर हटाने में।

कभी जो काम सैमसंग के साथ माइक्रोमैक्स ने किया था, वही काम चीनी कंपनियों के फोन माइक्रोमैक्स के साथ करने लगे थे। सैमसंग का ग्राहक कभी उससे दूर नहीं हुआ बस जेब को देख कर माइक्रोमैक्स की ओर आकर्षित हुआ था। लेकिन चीनी कंपनियों ने तो जैसे माइक्रोमैक्स को रिप्लेस ही कर दिया। क्वालिटी में भी भी और दाम में भी।

चीन से बैर ने उभारी माइक्रोमैक्स की नैया

जब चीनी कंपनियों को लेकर भारत सरकार ने सख्त रवैया अपनाया, तब लोगों को माइक्रोमैक्स की दोबारा याद आई। ‘आत्मनिर्भर भारत’ को बढ़ावा देने व चीन का बहिष्कार करने के लिए लोगों ने माइक्रोमैक्स को टैग करके ये कहना शुरू किया कि वह चीनी मोबाइलों का विकल्प ले कर आएँ।

ये प्रतिक्रिया माइक्रोमैक्स की डूबती नैया को किनारा देने के लिए पर्याप्त थी। माइक्रोमैक्स ने 17 जून 2020 को एक यूजर को रिप्लाई देते हुए कहा था कि वोकल फॉर लोकल के लिए आपका समर्थन देख कर हमें खुशी हुई। हम बहुत मेहनत कर रहे हैं और जल्द ही कुछ बड़े के साथ आएँगे।

इस घोषणा के चंद महीनों बाद ही माइक्रोमैक्स नए रूप के साथ बाजार में लौट आया। अपनी In मोबाइल के बारे में बताते हुए कंपनी ने अपने पहले के माइक्रोमैक्स और अब के माइक्रोमैक्स डिवाइस में फर्क दिखाया। नए डिवाइस में यूज किया गया In इंडिया को रिप्रजेंट करता है।

इस मोबाइल को वैसे तो लॉन्च 3 नवंबर 2020 को किया जा चुका है लेकिन 1 दिसंबर को फ्लिपकार्ट और वेबसाइट http://micromaxinfo.com पर इसकी सेल दोपहर ऑनलाइन 12 बजे होगी। इस बार भी कंपनी ने ग्राहकों की जेब और जरूरत देखकर अपने फोन को लॉन्च किया है। इससे पहले इसकी सेल 24 नवंबर को हुई थी।

In Note 1 बाय माइक्रोमैक्स को दो वेरिएंट्स में लॉन्च किया गया है। इस फोन के 4GB रैम 64GB स्टोरेज वाले वेरिएंट की कीमत 10,999 रुपए तय की गई है। वहीं दूसरे 4GB रैम और 128GB स्टोरेज वेरिएंट को 12,499 रुपए में खरीदा जा सकेगा।

Micromax IN Note 1 Sells Out Within Minutes Of Going On Sale

माइक्रोमैक्स ने अपने in फोन में कैमरे में खास ध्यान दिया है। इसके AI क्वॉड कैमरा (चार कैमरों का सेटअप) सेटअप दिया गया है, जिसमें 48 मेगापिक्सल का प्राइमरी कैमरा सेंसर मिलेगा। वहीं मॉड्यूल में 5 मेगापिक्सल का अल्ट्रा-वाइड, 2 मेगापिक्सल का मैक्रो और 2 मेगापिक्सल डेप्थ सेंसर भी दिया गया है। सेल्फी के लिए फोन में 16 मेगापिक्सल का कैमरा है। बैटरी पावर के लिए फोन में 5000mAh की दमदार बैटरी दी गई है जो कि 18W के फास्ट चार्जिंग सपोर्ट के साथ आएगी।

डिस्प्ले इसका 6.67 इंच का IPD LCD डिस्प्ले फुल HD+ रेजोलूशन के साथ दिया गया है। खास बात ये है कि ये फोन MediaTek Helio G85 प्रोसेसर से लैस है। वहीं प्रोसेसर की बात करें तो नए फोन में एंड्रॉयड 10 ऑपरेटिंग सिस्टम दिया गया है और इसे अगले दो साल में एंड्रॉयड 11 और एंड्रॉयड 12 अपडेट दिया जाएगा।

अब भारतीयों की ओर से चायनीज कंपनी के बहिष्कार का एक नजारा हम पिछले कुछ महीनों में कई एप्स और उत्पादों पर देख ही चुके हैं। लेकिन 24 नवंबर को सेल पर लगे इस फोन ने भी यह साबित किया कि भारतीय वाकई वोकल और लोकल को सपोर्ट करने के लिए आगे आ रहे हैं जिसके चलते यह फोन 30 मिनट के अंदर सोल्ड आउट हो गया।

भारत के इस प्यार को देख माइक्रोमैक्स भी भावनाएँ प्रकट करने से नहीं रुक पाया। उन्होंने लिखा, “इंडिया ने अपना प्यार दिखा दिया। धन्यवाद IN for India के लिए और दिल से हमारे स्वागत के लिए। अब अगले हफ्ते आएँगे, 1 दिसंबर को 12 बजे और अधिक स्टॉक के साथ।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

 

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गणतंत्र दिवस पर लिब्रांडुओं के नैरेटिव के लिए आप तैयार हैं?

कल की मीडिया में वामपंथियों और लिब्रांडुओं के नैरेटिव की झलक आज देख लीजिए ताकि आपको झटका न लगे!

10 को पद्म भूषण, 7 को पद्म विभूषण और 102 को पद्म श्री: पाने वालों में विदेशी राजनेता से लेकर धर्मगुरु तक

जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे, गायक एसपी बालासुब्रमण्यम (मरणोपरांत), सैंड कलाकार सुदर्शन साहू, पुरातत्वविद बीबी लाल को पद्म विभूषण से सम्मानित किया जाएगा।

कल तक ‘कसम राम की’ कहने वाली शिवसेना भी ‘जय श्री राम’ पर हुई सेकुलर, बताया- राजनीतिक एजेंडा

कल तक 'कसम राम की' कहने वाली शिवसेना को अब जय श्री राम के नारे में धार्मिक अलगावाद दिखता है। राजनीतिक एजेंडा लगता है।

‘कोहराम मचा दो… मोदी को जला कर राख कर देगी’: किसानों के नाम पर अबू आजमी ने उगला जहर, सुनते रहे पवार

किसानों के नाम पर मुंबई में सपा विधायक अबू आजमी ने प्रदर्शनकारियों को उकसाने की कोशिश की। शरद पवार भी उस समय वहीं थे।

आर्थिक सुधारों के पूरक हैं नए कृषि कानून: राष्ट्रपति के संदेश में किसान, जवान और आत्मनिर्भर भारत पर फोकस

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद सोमवार (जनवरी 25, 2021) को 72वें गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर शाम 7 बजे राष्ट्र को संबोधित कर रहे हैं।

ऐसे लोगों को छोड़ा नहीं जाना चाहिए: मुनव्वर फारूकी पर जस्टिस रोहित आर्य, कुंडली निकालने में जुटा लिब्रांडु गिरोह

हिन्दू देवी-देवताओं के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करने वाले मुनव्वर फारूकी की याचिका पर सुनवाई करते हुए न्यायमूर्ति रोहित आर्य ने कहा कि ऐसे लोगों को बख्शा नहीं जाना चाहिए।

प्रचलित ख़बरें

12 साल की लड़की का स्तन दबाया, महिला जज ने कहा – ‘नहीं है यौन शोषण’: बॉम्बे HC का मामला

बॉम्बे हाई कोर्ट की नागपुर बेंच ने शारीरिक संपर्क या ‘यौन शोषण के इरादे से किया गया शरीर से शरीर का स्पर्श’ (स्किन टू स्किन) के आधार पर...

राहुल गाँधी बोले- किसान मजबूत होते तो सेना की जरूरत नहीं होती… अनुवादक मोहम्मद इमरान बेहोश हो गए

इरोड में राहुल गाँधी के अंग्रेजी भाषण का तमिल में अनुवाद करने वाले प्रोफेसर मोहम्मद इमरान मंच पर ही बेहोश होकर गिर पड़े।

मदरसा सील करने पहुँची महिला तहसीलदार, काजी ने कहा- शहर का माहौल बिगड़ने में देर नहीं लगेगी, देखें वीडियो

महिला तहसीलदार बार-बार वहाँ मौजूद मुस्लिम लोगों को मामले में कलेक्टर से बात करने के लिए कह रही है। इसके बावजूद लोग उसकी बात को दरकिनार करते हुए उसे धमकाते हुए नजर आ रहे हैं।

निकिता तोमर को गोली मारते कैमरे में कैद हुआ था तौसीफ, HC से कहा- मैं निर्दोष, यह ऑनर किलिंग

निकिता तोमर हत्याकांड के मुख्य आरोपित तौसीफ ने हाई कोर्ट से घटना की दोबारा जाँच की माँग की है। उसने कहा कि यह मामला ऑनर किलिंग का है।

छठी बीवी ने सेक्स से किया इनकार तो 7वीं की खोज में निकला 63 साल का अयूब: कई बीमारियों से है पीड़ित, FIR दर्ज

गुजरात में अयूब देगिया की छठी बीवी ने उसके साथ सेक्स करने से इनकार कर दिया, जब उसे पता चला कि उसके शौहर की पहले से ही 5 बीवियाँ हैं।

बहन को फुफेरे भाई कासिम से था इश्क, निक़ाह के एक दिन पहले बड़े भाई फिरोज ने की हत्या: अश्लील फोटो बनी वजह

इस्लामुद्दीन की 19 वर्षीय बेटी फिरदौस के निक़ाह की तैयारियों में पूरा परिवार जुटा हुआ था। तभी शनिवार की सुबह घर में टूथपेस्ट कर रही फिरदौस को अचानक उसके बड़े भाई फिरोज ने तमंचे से गोली मार दी।
- विज्ञापन -

 

‘गजनवी फोर्स’ से जम्मू-कश्मीर के मंदिरों पर हमले की फिराक में पाकिस्तान, सैन्य प्रतिष्ठान भी आतंकी निशाने पर

जम्मू-कश्मीर के मंदिरों पर आतंकी हमलों की फिराक में हैं। सैन्य प्रतिष्ठान भी निशाने पर हैं।
00:25:31

गणतंत्र दिवस पर लिब्रांडुओं के नैरेटिव के लिए आप तैयार हैं?

कल की मीडिया में वामपंथियों और लिब्रांडुओं के नैरेटिव की झलक आज देख लीजिए ताकि आपको झटका न लगे!

‘ऐसे बयान हमारी मातृभूमि के लिए खतरा’: आर्मी वेटरन बोले- माफी माँगे राहुल गाँधी

आर्मी वेटरंस ने कॉन्ग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी के उस बयान की निंदा की है, जिसमें उन्होंने कहा था कि ‘सेना की कोई आवश्यकता नहीं’ है।

10 को पद्म भूषण, 7 को पद्म विभूषण और 102 को पद्म श्री: पाने वालों में विदेशी राजनेता से लेकर धर्मगुरु तक

जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे, गायक एसपी बालासुब्रमण्यम (मरणोपरांत), सैंड कलाकार सुदर्शन साहू, पुरातत्वविद बीबी लाल को पद्म विभूषण से सम्मानित किया जाएगा।

‘1 फरवरी को हम संसद तक पैदल मार्च निकालेंगे’: ट्रैक्टर रैली से पहले ‘किसान’ संगठनों का नया ऐलान

गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर रैली की अनुमति मिलने के बाद अब 'किसान' संगठन बजट सत्र को बाधित करने की कोशिश में हैं। संसद मार्च का ऐलान किया है।

कल तक ‘कसम राम की’ कहने वाली शिवसेना भी ‘जय श्री राम’ पर हुई सेकुलर, बताया- राजनीतिक एजेंडा

कल तक 'कसम राम की' कहने वाली शिवसेना को अब जय श्री राम के नारे में धार्मिक अलगावाद दिखता है। राजनीतिक एजेंडा लगता है।

अशोका यूनिवर्सिटी के असिस्टेंट प्रोफेसर ने भगवान राम का उड़ाया मजाक, राष्ट्रपति को कर रहा था ट्रोल

अशोका यूनिवर्सिटी के असिस्टेंट प्रोफेसर नीलांजन सरकार ने अपना दावा झूठा निकलने पर भगवान राम का उपहास किया।

‘कोहराम मचा दो… मोदी को जला कर राख कर देगी’: किसानों के नाम पर अबू आजमी ने उगला जहर, सुनते रहे पवार

किसानों के नाम पर मुंबई में सपा विधायक अबू आजमी ने प्रदर्शनकारियों को उकसाने की कोशिश की। शरद पवार भी उस समय वहीं थे।

बॉम्बे HC के ‘स्किन टू स्किन’ जजमेंट के खिलाफ अपील करें: महाराष्ट्र सरकार से NCPCR

NCPCR ने महाराष्ट्र सरकार से कहा है कि वह यौन शोषण के मामले से जुड़े बॉम्बे हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ तत्काल अपील दायर करे।

आर्थिक सुधारों के पूरक हैं नए कृषि कानून: राष्ट्रपति के संदेश में किसान, जवान और आत्मनिर्भर भारत पर फोकस

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद सोमवार (जनवरी 25, 2021) को 72वें गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर शाम 7 बजे राष्ट्र को संबोधित कर रहे हैं।

हमसे जुड़ें

272,571FansLike
80,695FollowersFollow
386,000SubscribersSubscribe