Friday, June 21, 2024
Homeदेश-समाजजन्मदिन का केक खाने के बाद 10 साल की बच्ची की मौत, पूरे परिवार...

जन्मदिन का केक खाने के बाद 10 साल की बच्ची की मौत, पूरे परिवार की तबीयत ख़राब: वीडियो में हँसते-खेलते और केक काटते दिखे, सुबह होते-होते मातम

इस घटना के बाद परिवार में मातम छाया हुआ है, इलाके में भी लोग हैरान हैं। अनाज मंडी थाना क्षेत्र स्थित अमन नगर की काजल की शिकायत पर पुलिस ने FIR दर्ज कर के कार्रवाई शुरू कर दी है।

पंजाब के पटियाला से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहाँ जन्मदिन का केक खाने के बाद एक 10 वर्षीय लड़की की मौत हो गई। इतना ही नहीं, पूरे परिवार की तबीयत ख़राब हो गई। रात में लड़की ने केक काटा था, सुबह होते-होते उसकी मौत हो गई। इस घटना के बाद परिवार में मातम छाया हुआ है, इलाके में भी लोग हैरान हैं। अनाज मंडी थाना क्षेत्र स्थित अमन नगर की काजल की शिकायत पर पुलिस ने FIR दर्ज कर के कार्रवाई शुरू कर दी है।

लड़की का केक काटते हुए वीडियो भी सामने आया है। इसमें बच्ची और उसका पूरा परिवार खुश नजर आ रहा है। परिवार 246 पीली सड़क रोड स्थित अदालत बाजार के ‘कान्हा केक’ दुकान से केक खरीदी थी। रविवार (24 मार्च, 2024) को मानवी का जन्मदिन था। केक मँगा कर शाम के 7 बजे काटा गया। इसके बाद मानवी को उल्टियाँ होने लगीं। पूरे परिवार की तबीयत बिगड़ गई। मानवी रात को उल्टी कर के सो गई। तड़के सुबह के 4 बजे उसका शरीर ठंडा पड़ गया था।

इसके बाद आनन-फानन में परिवार वाले उसे अस्पताल लेकर भागे। डॉक्टरों ने वहाँ उसे मृत घोषित कर दिया। शिकायत मिलने के बाद पुलिस इस पूरे मामले की जाँच कर रही है। परिवार ने केक ऑनलाइन माध्यम से ऑर्डर किया था। इसके लिए फ़ूड एग्रीगेटर एप Zomato का इस्तेमाल किया गया था। परिवार का कहना है कि बेकरी शॉप वाले ने गड़बड़ी की है और उसके प्रोडक्ट्स की जाँच कर के कार्रवाई करने की माँग की है। Zomato की रिसिप्ट और FIR कॉपी भी सामने आई है।

पुलिस ने FIR में ‘भारतीय दंड संहिता (IPC)’ की धारा-273 (एक्सपायर्ड या ख़राब वस्तु को जानबूझकर खाने-पीने के लिए बेचना) और धारा-304A (गैर-इरादतन हत्या) लगाई है। एक तस्वीर में मानवी अपनी बहन के साथ दिख रही है। एक अन्य तस्वीर में वो एक अन्य पुरुष परिजन को केक खिलाती हुई नज़र आ रही है। केक खरीदने के लिए परिवार ने 352.80 रुपए खर्च किए थे। मानवी अपने क्लास में मॉनिटर थी। उसकी छोटी बहन की जान जैसे-तैसे कर के बचाई गई है। दोनों बहनें नाना के यहाँ रह रही थीं, क्योंकि उनके परिवार में दिक्कत चल रही है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दिल्ली ही नहीं आंध्र प्रदेश में भी है एक ‘शीशमहल’, जगन मोहन रेड्डी ने CM रहते पहाड़ को काटकर खड़ा कर दिया ₹500 करोड़...

रुशिकोंडा पहाड़ों की पहले और अब की तस्वीर देखने के बाद लोग पूर्व सीएम जगन मोहन रेड्डी की तुलना दिल्ली के सीएम केजरीवाल और उनके 'महल' की तुलना 'शीशमहल' से कर रहे हैं।

‘हलाल प्रोडक्ट का विरोध करने के कारण हम निशाने पर’: जिस चोर औरंगजेब की मौत को ‘मॉब लिंचिंग’ बता बवाली हुए मुस्लिम, उसकी सच्चाई...

औरंगजेब केस में अलीगढ़ के व्यापारियों ने भाजपा सांसद को ज्ञापन देकर कहा है कि हलाल प्रोडक्ट का बहिष्कार करने के बाद से वो लोग निशाने पर हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -