Tuesday, June 25, 2024
Homeदेश-समाजटारगेट किलिंग और त्योहारों पर खून बहाने की बड़ी साजिश का पर्दाफाश, पंजाब में...

टारगेट किलिंग और त्योहारों पर खून बहाने की बड़ी साजिश का पर्दाफाश, पंजाब में दबोचे गए 4 खालिस्तानी आतंकी: बड़ी मात्रा में हथियार भी बरामद

इन आतंकियों का संबंध पाकिस्तान में बैठे सरगना हरविंदर सिंह रिंदा के साथ हैं। रिंदा ही BKI नामक आतंकी संगठन का संचालन करता है।

पंजाब के मोहाली में ‘बब्बर खालसा इंटरनेशनल’ समूह के 4 आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया है। इनकी साजिश थी कि त्योहार के दिनों में पंजाब में आतंकी हमले कर के माहौल को खराब किया जाए। इनके पास से बड़ी मात्रा में हथियार भी बरामद किए गए हैं। पंजाब के पुलिस महानिदेशक (DGP) गौरव यादव ने खुद ट्वीट कर के इसकी जानकारी दी है। SAS नगर पुलिस के CIA स्टाफ ने इस आतंकी मॉड्यूल का पर्दाफाश करने में सफलता पाई है।

इन आतंकियों का संबंध पाकिस्तान में बैठे सरगना हरविंदर सिंह रिंदा के साथ हैं। रिंदा ही BKI नामक आतंकी संगठन का संचालन करता है। ये सब मिल कर पाकिस्तान से हथियारों की तस्करी कर रहे थे। ड्रोन के माध्यम से ये आतंकी पाकिस्तान से हथियार मँगाते थे। इसके बाद पंजाब में इसकी सप्लाई करवाते थे। पुलिस ने 6 विदेशी पिस्टल और 275 ज़िंदा कारतूस भी बरामद किया है। उनसे पूछताछ कर पता लगाया जा रहा है कि ये हथियार कहाँ और किन्हें डिलीवर किए जाने थे।

पंजाब के रास्ते भारत-पाकिस्तान सीमा में तस्करी कोई नई बात नहीं है। तरनतारन में बॉर्डर पर चीनी ड्रोन को 407 ग्राम हेरोइन के साथ पकड़ा गया है। पंजाब पुलिस और BSF (सीमा सुरक्षा बल) ने मिल कर इस ड्रोन और इसके साथ आ रहे ड्रग्स को पकड़ने में कामयाबी पाई। अमरकोट सेक्टर में BOP तारा सिंह पर शनिवार (28 अक्टूबर, 2023) को सुबह 6:15 बजे ड्रोन के घुसने की आवाज सुनाई दी थी। इसके बाद खालड़ा थाने की पुलिस और BSF की 103वीं बटालियन ऑपरेशन में जुट गईं।

फिर खेत से एक छोटे से चीन निर्मित ड्रोन को बरामद किया गया। वहीं BKI मॉड्यूल की बात करें तो इसके आतंकियों को टारगेट किलिंग का टास्क भी दिया गया था। पाकिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसी ISI भी इनकी मदद कर रही थी। इन्हें पाकिस्तान से लगातार लॉजिस्टिक्स सपोर्ट दिया जा रहा था। बता दें कि इसी महीने मोहाली में ही 2 आतंकियों को गिरफ्तार किया गया था। उस मॉड्यूल को रिंदा के साथ-साथ अमेरिका में बैठा गैंगस्टर हैप्पी पासिया मिल कर चला रहे थे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बड़ी संख्या में OBC ने दलितों से किया भेदभाव’: जिस वकील के दिमाग की उपज है राहुल गाँधी वाला ‘छोटा संविधान’, वो SC-ST आरक्षण...

अधिवक्ता गोपाल शंकरनारायणन SC-ST आरक्षण में क्रीमीलेयर लाने के पक्ष में हैं, क्योंकि उनका मानना है कि इस वर्ग का छोटा का अभिजात्य समूह जो वास्तव में पिछड़े व वंचित हैं उन तक लाभ नहीं पहुँचने दे रहा है।

क्या है भारत और बांग्लादेश के बीच का तीस्ता समझौता, क्यों अनदेखी का आरोप लगा रहीं ममता बनर्जी: जानिए केंद्र ने पश्चिम बंगाल की...

इससे पहले यूपीए सरकार के दौरान भारत और बांग्लादेश के बीच तीस्ता के पानी को लेकर लगभग सहमति बन गई थी। इसके अंतर्गत बांग्लादेश को तीस्ता का 37.5% पानी और भारत को 42.5% पानी दिसम्बर से मार्च के बीच मिलना था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -