Tuesday, November 30, 2021
Homeदेश-समाजछठी बीवी ने सेक्स से किया इनकार तो 7वीं की खोज में निकला 63...

छठी बीवी ने सेक्स से किया इनकार तो 7वीं की खोज में निकला 63 साल का अयूब: कई बीमारियों से है पीड़ित, FIR दर्ज

"उसने मुझे अपने साथ सोने ही नहीं दिया। वो हमेशा इन्फेक्शन की बातें करती रहती थी। मुझे त्वरित रूप से एक बीवी की ज़रूरत है, जो मेरा ख्याल रख सके।" - 7वीं बीवी की खोज में निकले अयूब की पहली बीवी अभी ज़िंदा है और...

गुजरात में एक व्यक्ति की छठी बीवी ने उसके साथ सेक्स करने से इनकार कर दिया। यह तब हुआ जब उसे पता चला कि उसके शौहर की पहले से ही 5 बीवियाँ हैं। इसके बाद उक्त व्यक्ति अब सातवीं बीवी की खोज में निकल गया है।

ये घटना गुजरात के सूरत की है। यहाँ के रहने वाले 63 वर्षीय अमीर किसान अयूब देगिया को ये चिंता खाए जा रही है कि उसे सातवीं बीवी मिलेगी भी या नहीं। उसे पहले से ही हृदय रोग और डायबिटीज है।

हाल ही में अयूब ने छठी बार शादी की थी। लेकिन छठी बीवी ने उसके साथ बिस्तर साझा करने से ही इनकार कर दिया। सितम्बर 2020 में जब दुनिया में कहीं लॉकडाउन था तो कहीं कोरोना वायरस से प्रकोप से उबरने की चेष्टा… ठीक उसी समय अयूब निकाह कर रहा था। कपलेथा गाँव का रहने वाला अयूब दिसंबर आते-आते छठी शादी के 4 महीने में ही फेल होने के बाद सातवीं बीवी की तलाश में निकल पड़ा।

जिस महिला से उसने निकाह किया था, वो उससे 21 वर्ष छोटी थी। महिला ने कहा कि वो उसके साथ कोई शारीरिक सम्बन्ध नहीं बना सकती। TOI की खबर के अनुसार, अयूब ने कहा – “उसने मुझे अपने साथ सोने ही नहीं दिया। वो हमेशा इन्फेक्शन की बातें करती रहती थी। मुझे हार्ट सम्बंधित बीमारी है। डायबिटीज है। कई अन्य बीमारियाँ भी हैं। मुझे त्वरित रूप से एक बीवी की ज़रूरत है, जो इन स्थितियों में मेरा ख्याल रख सके।”

जानने वाली बात ये है कि अयूब देगिया की पहली बीवी भी अभी ज़िंदा है और वो उसी गाँव में अपने 5 बेटे-बेटियों के साथ रहती है। उन सभी की उम्र 20 से 35 वर्ष के बीच है। अयूब ने हाल में जिससे निकाह किया, वो रंदर की रहने वाली है। जब निकाह के बाद उसने खोजबीन की तो उसे ये जान कर धक्का लगा कि अयूब की तो पहले से ही 5 बीवियाँ हैं और उसका नंबर छठा है। उसने पिछले सप्ताह महिला पुलिस थाने में शिकायत भी दर्ज कराई है।

आरोपित अयूब को इंडियन पैनल कोड (IPC) की धारा-498A (शादी के बाद महिला के साथ क्रूरता) के तहत बुक किया गया है। महिला का कहना है कि उसे अँधेरे में रखा गया। महिला ने दावा किया कि अब वो फिर से किसी अन्य महिला के साथ रह रहा है। गाँव वालों के हवाले से छठी पत्नी ने बताया कि वो कुछ महीनों तक किसी महिला से रिश्ते रखता है और फिर उसे छोड़ देता है। ये क्रम चलता ही रहता है।

अधिवक्ता चंद्रेश जोबनपुत्रा ने कहा कि दिसंबर में अयूब ने पीड़िता को उसकी बहन के घर पर छोड़ दिया और कहा कि वो शहर से आ रहा है। लौटने पर उसने उसे वापस लेने आने का आश्वासन भी दिया। जब वो लौटा ही नहीं तो पीड़िता पुलिस के पास गई। शुरुआत में उसने पीड़िता से निकाह के लिए उसके परिवार से ये कहते हुए संपर्क किया था कि वो एक विधवा से निकाह कर के उसे सशक्त करना चाहता है,।

उसने दावा किया था कि इस्लाम में ये जायज है। उसने पीड़िता को 2 लाख रुपए के कीमत वाले गहनों के साथ-साथ एक घर देने का भी वादा किया था। बाद में वो अपने इस वादे से मुकर गया। अयूब देगिया पुलिस को इस बात का जवाब देने में अक्षम रहा है कि उसने अपनी सभी बीवियों को क्यों छोड़ दिया।

पुलिस अधिकारी स्मिता पारगी के अनुसार, अयूब ने कहा कि उसकी छठी बीवी उसकी शारीरिक ज़रूरतें पूरा करने में अक्षम रही है, सेक्स नहीं करती है, इसीलिए उसने उसे छोड़ दिया। सभी के बयान दर्ज कर के पुलिस ने जाँच और कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘UPTET के अभ्यर्थियों को सड़क पर गुजारनी पड़ी जाड़े की रात, परीक्षा हो गई रद्द’: जानिए सोशल मीडिया पर चल रहे प्रोपेगंडा का सच

एक तस्वीर वायरल हो रही है, जिसके आधार पर दावा किया जा रहा है कि ये उत्तर प्रदेश में UPTET की परीक्षा देने वाले अभ्यर्थियों की तस्वीर है।

बेचारा लोकतंत्र! विपक्ष के मन का हुआ तो मजबूत वर्ना सीधे हत्या: नारे, निलंबन के बीच हंगामेदार रहा वार्म अप सेशन

संसद में परंपरा के अनुरूप आचरण न करने से लोकतंत्र मजबूत होता है और उस आचरण के लिए निलंबन पर लोकतंत्र की हत्या हो जाती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,538FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe