Thursday, May 30, 2024
Homeदेश-समाजबिहार: मस्जिद में 75 वर्षीय बुजुर्ग का गला रेता शव मिला, लोगों का दावा-...

बिहार: मस्जिद में 75 वर्षीय बुजुर्ग का गला रेता शव मिला, लोगों का दावा- मानसिक हालत ठीक नहीं थी, खुदकुशी की

जब मजदूर इमादपुर मस्जिद में निर्माण कार्य करने आये तो वहाँ उन्हें मोतीउर रहमान का खून से लथपथ शव नज़र आया और मौक़ा-ए-वारदात से एक चाकू भी बरामद किया गया। इसके बाद मोतीउर रहमान को तुरंत बिहारशरीफ सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया जहाँ डॉक्टर्स ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

बिहार के नालंदा में एक 75 वर्षीय बुजुर्ग मोतीउर रहमान ने मस्जिद में गला रेत कर आत्महत्या कर ली। घटना बिहार थाना क्षेत्र के इमादपुर मोहल्ले स्थित मस्जिद की है। मोतीउर रहमान के परिजनों के मुताबिक़ वे पिछले कई दिनों से मस्जिद में ही रह रहे थे और उनकी दिमागी हालत ठीक नहीं थी।

दरअसल रविवार (20 दिसंबर 2020) की सुबह जब कई मजदूर इमादपुर मस्जिद में जारी निर्माण कार्य करने गए तो वहाँ उन्हें मोतीउर रहमान का खून से लथपथ शव नज़र आया और मौक़ा-ए-वारदात से एक चाकू भी बरामद किया गया। इसके बाद मोतीउर रहमान को तुरंत बिहारशरीफ सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया जहाँ डॉक्टर्स ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। घटना की जानकारी मिलते ही बिहार थाना के सब इंस्पेक्टर खुर्शीद आलम सदर अस्पताल पहुँचे और उन्होंने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ मृतक बुजुर्ग के दामाद मोहम्मद अनीस ने बताया, “सुबह के लगभग 5:30 बजे वह घर से निकले थे। सुबह की नमाज़ के बाद उनका शरीर मस्जिद के निर्माणधीन दूसरे तल पर पाया गया। वह कुछ समय पहले कोलकाता में काम कर रहे थे, हाल ही में बिहारशरीफ वापस आए थे।” अनीस के मुताबिक़ पिछले कुछ समय से वह काफी अवसाद में थे। वहीं बिहार शरीफ नगर निगम के पूर्व डिप्टी मेयर गुलरेज़ अंसारी का कहना था कि मोतीउर रहमान की दिमागी हालत ठीक नहीं थी। संभावित तौर पर इसके चलते उन्होंने आत्महत्या की है। 

थानाध्यक्ष दीपक कुमार ने भी इस घटना के संबंध में बात करते हुए जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मृतक का किसी से विवाद नहीं था, पुलिस मामले के अन्य पहलुओं की जाँच कर रही है। परिजनों के अनुसार मोतीउर का घर से संबंध सिर्फ खाने तक सीमित था, वह कुछ समय से अजीब बातें करने लगे थे। जिसकी वजह से लोग उन्हें बात-बात पर छेड़ने भी लगे थे, बदले में वह लोगों को धमकी देते थे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

केजरीवाल ने अब माँगी नियमित जमानत, 1 जून को सुनवाई: कोर्ट ने ED से माँगा जवाब, एजेंसी ने बताया- दिल्ली के CM फिट, पंजाब...

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने दिल्ली की राउज अवेन्यु कोर्ट में शराब घोटाला मामले में नियमित जमानत के लिए याचिका लगाई है।

3 साल में 4 गुना हुआ बैंक फ्रॉड, लेकिन नुकसान की रकम एक तिहाई हुई: RBI रिपोर्ट से खुलासा, प्राइवेट बैंक के कस्टमर झाँसे...

वित्त वर्ष 2023-24 में लोगों से बैंक धोखाधड़ी के 36,075 मामले हुए। इस धोखाधड़ी के कारण लोगों का ₹13,930 करोड़ का नुकसान हुआ है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -