Monday, November 28, 2022
Homeदेश-समाजबिहार: मस्जिद में 75 वर्षीय बुजुर्ग का गला रेता शव मिला, लोगों का दावा-...

बिहार: मस्जिद में 75 वर्षीय बुजुर्ग का गला रेता शव मिला, लोगों का दावा- मानसिक हालत ठीक नहीं थी, खुदकुशी की

जब मजदूर इमादपुर मस्जिद में निर्माण कार्य करने आये तो वहाँ उन्हें मोतीउर रहमान का खून से लथपथ शव नज़र आया और मौक़ा-ए-वारदात से एक चाकू भी बरामद किया गया। इसके बाद मोतीउर रहमान को तुरंत बिहारशरीफ सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया जहाँ डॉक्टर्स ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

बिहार के नालंदा में एक 75 वर्षीय बुजुर्ग मोतीउर रहमान ने मस्जिद में गला रेत कर आत्महत्या कर ली। घटना बिहार थाना क्षेत्र के इमादपुर मोहल्ले स्थित मस्जिद की है। मोतीउर रहमान के परिजनों के मुताबिक़ वे पिछले कई दिनों से मस्जिद में ही रह रहे थे और उनकी दिमागी हालत ठीक नहीं थी।

दरअसल रविवार (20 दिसंबर 2020) की सुबह जब कई मजदूर इमादपुर मस्जिद में जारी निर्माण कार्य करने गए तो वहाँ उन्हें मोतीउर रहमान का खून से लथपथ शव नज़र आया और मौक़ा-ए-वारदात से एक चाकू भी बरामद किया गया। इसके बाद मोतीउर रहमान को तुरंत बिहारशरीफ सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया जहाँ डॉक्टर्स ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। घटना की जानकारी मिलते ही बिहार थाना के सब इंस्पेक्टर खुर्शीद आलम सदर अस्पताल पहुँचे और उन्होंने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ मृतक बुजुर्ग के दामाद मोहम्मद अनीस ने बताया, “सुबह के लगभग 5:30 बजे वह घर से निकले थे। सुबह की नमाज़ के बाद उनका शरीर मस्जिद के निर्माणधीन दूसरे तल पर पाया गया। वह कुछ समय पहले कोलकाता में काम कर रहे थे, हाल ही में बिहारशरीफ वापस आए थे।” अनीस के मुताबिक़ पिछले कुछ समय से वह काफी अवसाद में थे। वहीं बिहार शरीफ नगर निगम के पूर्व डिप्टी मेयर गुलरेज़ अंसारी का कहना था कि मोतीउर रहमान की दिमागी हालत ठीक नहीं थी। संभावित तौर पर इसके चलते उन्होंने आत्महत्या की है। 

थानाध्यक्ष दीपक कुमार ने भी इस घटना के संबंध में बात करते हुए जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मृतक का किसी से विवाद नहीं था, पुलिस मामले के अन्य पहलुओं की जाँच कर रही है। परिजनों के अनुसार मोतीउर का घर से संबंध सिर्फ खाने तक सीमित था, वह कुछ समय से अजीब बातें करने लगे थे। जिसकी वजह से लोग उन्हें बात-बात पर छेड़ने भी लगे थे, बदले में वह लोगों को धमकी देते थे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पोर्न से जनता का विरोध छिपा रहा चीन, ट्विटर पर ठूँस दिए हैं सेक्स वीडियोज: देश के कई शहरों में जिनपिंग के खिलाफ सड़क...

चीनी कम्युनिस्ट पार्टी विरोध की खबरों को दुनिया भर में फैलने से रोकने के लिए ट्विटर पर 'पॉर्न' परोस रही है। कीवर्ड्स के हिसाब से स्पैमिंग।

लेना चाहते थे 7 फेरे, लेकिन दिलवाई हिंदू विरोधी शपथ: कॉन्ग्रेसी मंत्री की मौजूदगी में ‘बौद्ध’ वाली शादी, घर पहुँच देवी-देवताओं की पूजा

भरतपुर में एक दूल्हे ने बताया, "मैं भी सात फेरे लेकर शादी करना चाहता था, लेकिन जब दूसरे दूल्हों ने विरोध नहीं किया, तो मैं भी चुपचाप रहा।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
235,855FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe