Saturday, June 22, 2024
Homeदेश-समाजअब अलीगढ़ में सामूहिक नमाज रुकवाने पहुँची पुलिस पर पथराव, रात के वक्त मस्जिद...

अब अलीगढ़ में सामूहिक नमाज रुकवाने पहुँची पुलिस पर पथराव, रात के वक्त मस्जिद में जुटे थे लोग

सीओ पंकज श्रीवास्तव ने बताया कि लोग नमाज पढ़ने के लिए मस्जिद में इकट्ठा हुए थे। पुलिस ने उन्हें समझाने की कोशिश की तो वे पथराव करने लगे। उन्होंने लोगों से लॉकडाउन के नियमों का पालन करने की अपील करते हुए कहा है कि इसका उल्लंघन करने पर सख्त कानून कार्रवाई की जाएगी।

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में सामूहिक नमाज रुकवाने पहुॅंची पुलिस पर पथराव की घटना सामने आई है। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार गुरुवार रात शहर के सराय रहमान स्थित गड्डा मस्जिद में नमाज पढ़ने के लिए लोग जुटे थे। सूचना मिलने पर पुलिस पहुॅंची तो इनलोगों ने पुलिस पर हमला कर दिया। इस मामले में अलीगढ़ पुलिस ने 3 लोगों को गिरफ्तार किया है।

अलीगढ़ पुलिस को गुरुवार देर शाम को सूचना मिली कि बन्ना देवी थाना क्षेत्र के रघुवीरपुरी पुलिस चौकी के नजदीक तकिया मोहल्ले की एक मस्जिद में कुछ लोग सामूहिक रूप से नमाज पढ़ने के लिए इकट्ठा हो रहे हैं। मौके पर पहुँच पुलिस ने लोगों को समझाने की कोशिश की। उनसे मस्जिद में इकट्ठा नहीं होने और अपने घरों में नमाज पढ़ने को कहा। इसको लेकर स्थानीय लोगों और पुलिस के बीच नोंकझोंक हो गई।

इसी बीच किसी ने अफवाह फैला दी कि पुलिस मौलवी को पीटते हुए थाने ले जा रही है। इस अफवाह के बाद स्थानीय लोगों ने पुलिस से मारपीट शुरू कर दी और छतों से पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। माहौल बिगड़ता देख पुलिस को जान-बचाकर भागना पड़ा। इसके बाद कंट्रोल रूम को सूचना दी गई। सूचना मिलते ही सीओ पंकज श्रीवास्तव पूरे दल-बल और कई थानों की फोर्स के साथ मौके पर पहुँच गए। इसके बाद उपद्रवी घरों में जाकर छिप गए। पुलिस ने मामला दर्ज कर मौलवी समेत तीन लोगों को हिरासत में लिया है। फ्लैगमार्च के बाद इलाके में फोर्स तैनात कर दिया गया है।

अमर उजाला में प्रकाशित खबर की कटिंग

सीओ पंकज श्रीवास्तव ने बताया कि लोग नमाज पढ़ने के लिए मस्जिद में इकट्ठा हुए थे। पुलिस ने उन्हें समझाने की कोशिश की तो वे पथराव करने लगे। उन्होंने लोगों से लॉकडाउन के नियमों का पालन करने की अपील करते हुए कहा है कि इसका उल्लंघन करने पर सख्त कानून कार्रवाई की जाएगी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NEET पेपरलीक का मास्टरमाइंड निकाल बिहार का लूटन मुखिया, डॉक्टर बेटा भी जेल में: पत्नी लड़ चुकी है विधानसभा चुनाव, नौकरी छोड़ खुद बना...

नीट पेपर लीक के मास्टरमाइंड में से एक संजीव उर्फ लूटन मुखिया। वह BPSC शिक्षक बहाली पेपर लीक कांड में जेल जा चुका है। बेटा भी जेल में है।

व्यभिचारी वैष्णव आचार्य, पत्रकार ने खोली पोल, अंग्रेजों के कोर्ट में मुकदमा… आमिर खान के बेटे को लेकर YRF-Netflix की बनाई फिल्म बहस का...

माँ भवानी का अपमान करने वाले को जवाब देने कारण हकीकत राय नामक बच्चे का खुलेआम सिर कलम कर दिया गया था। इस पर फिल्म बनाएगा बॉलीवुड? या सिर्फ वही 'वास्तविक कहानियाँ' चुनी जाती हैं जिनमें गुंडा कोई साधु-संत हो?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -