Sunday, June 23, 2024
Homeदेश-समाजमुख्तार अंसारी के इंटरव्यू पर हाई कोर्ट की रोक, सुरक्षा के दिए निर्देश: शिया...

मुख्तार अंसारी के इंटरव्यू पर हाई कोर्ट की रोक, सुरक्षा के दिए निर्देश: शिया बोर्ड के चेयरमैन का खुलासा- अतीक और मुख्तार ने वक्फ बोर्ड की जमीन भी हथियाई

मुख्तार अंसारी की सुरक्षा को लेकर उसकी बीवी ने 2021 में याचिका दायर की थी। लेकिन हाई कोर्ट का यह आदेश ऐसे समय में आया है जब हाल ही में मीडियाकर्मी बनकर आए शूटरों ने प्रयागराज में माफिया अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ की गोली मारकर हत्या कर दी थी।

अतीक अहमद और मुख्तार अंसारी ने वक्फ बोर्ड की जमीनों पर भी कब्जा किया था। यह खुलासा शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष अली जैदी ने किया है। इस बीच इलाहाबाद हाई कोर्ट ने मुख्तार अंसारी को पूरी सुरक्षा देने के निर्देश दिए हैं। साथ ही कहा है कि मीडिया को उसका इंटरव्यू लेने की इजाजत नहीं दी जाए।

हाई कोर्ट ने उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) को जेल में बंद मुख्तार अंसारी को एक जेल से दूसरी जेल में शिफ्ट करने और अदालत में पेश करने के दौरान पूरी सुरक्षा मुहैया कराने का निर्देश दिया है। जस्टिस डॉ. कौशल जयेंद्र ठाकेर और जस्टिस शिव शंकर प्रसाद की पीठ ने कहा कि मुख्तार अंसारी की बीवी अफशा की याचिका पर यह निर्देश दिया है। 2021 में याचिका दायर कर उसने अपने शौहर के लिए सुरक्षा की माँग की थी।

वैसे यह आदेश ऐसे समय में आया है जब हाल ही में मीडियाकर्मी बनकर आए शूटरों ने प्रयागराज में माफिया अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ की गोली मारकर हत्या कर दी थी। इसे देखते हुए हाई कोर्ट ने कहा, “हम विचाराधीन कैदियों के इंटरव्यू के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन हाल के प्रकरण को देखते हुए यह प्रतिबंध विचाराधीन कैदी के हित में और उसकी सुरक्षा के लिए होगा।”

वहीं, शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष अली जैदी ने वक्फ संपत्ति पर माफियाओं के कब्जे का खुलासा किया है। उन्होंने ​कहा, “वक्फ संपत्ति पर कब्जा करना माफियाओं के लिए सबसे आसान है। अतीक अहमद ने भी वक्फ संपत्ति पर एक कॉम्प्लेक्स बनाया था। हमारे वक्फ की एक संपत्ति पर फर्जी दस्तावेज बनाकर अवैध रूप से कंपनी रजिस्टर कराकर प्लॉट किया गया था, जिसमें मुख्तार अंसारी की बीवी अफशा अंसारी निदेशक थी। यह जमीन करोड़ों रुपए की है। हमने प्रशासन को इसके बारे में लिखा है और इन मुद्दों को हल करने के लिए सरकार से मदद माँगी है।”

बता दें कि अप्रैल 2023 में अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ की तीन लोगों ने कैमरे के सामने हत्या कर दी थी। अतीक अहमद और उसके भाई की हत्या तब हुई, जब यूपी पुलिस उन्हें मेडिकल के लिए ले जा रही थी। अतीक अहमद का बेटा असद उससे पहले झाँसी में एक पुलिस एनकाउंटर में मारा गया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गलत साइड में फॉर्च्यूनर चला रहा था विधायक का भतीजा, टक्कर के बाद 19 साल के बाइक सवार की मौत: पुणे में पोर्शे कांड...

विधायक पाटिल ने कहा है कि उनके भतीजे ने भागने का प्रयास नहीं किया। साथ ही उन्होंने अपने भतीजे के शराब के नशे में होने की बात से भी इनकार किया।

हिमाचल में दुकान गई, यूपी में गिरफ्तार हुआ… जावेद को भारी पड़ा पशु हत्या की वीभत्स तस्वीर WhatsApp पर पोस्ट करना, बकरीद पर हिन्दुओं...

जलालाबाद के कोटला मोहल्ले के निवासी जावेद के अब्बा का नाम कल्लू कुरैशी है। वो पिछले 12-13 साल से नाहन में कपड़े और कॉस्मेटिक्स की दुकान चलाता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -