Saturday, July 2, 2022
Homeदेश-समाजकुल्हाड़ी से हाथ काटकर बस्ते में छिपाया: शेर मोहम्मद नहीं चाहता था 'नौकरी वाली...

कुल्हाड़ी से हाथ काटकर बस्ते में छिपाया: शेर मोहम्मद नहीं चाहता था ‘नौकरी वाली बीवी’, रेणु की जिद्द देख वारदात को दिया अंजाम

रेणु के भाई रिपन ने कहा, "अगर बहन का आधा कटा हाथ समय से मिल जाता तो जब उसे ठीक कर सकते थे। हमने घर में छाना लेकिन कुछ कही नहींमिला। बाद में वह एक बस्ते में पड़ोसियों को मिला। लेकिन तब तक बहुत देर हो गई थी।"

पश्चिम बंगाल के पूर्वी बर्धमान में एक शौहर ने अपनी बीवी का हाथ सिर्फ इसलिए काट दिया क्योंकि वो नहीं चाहता था कि उसकी बीवी सरकारी अस्पताल में नर्स की नौकरी करे। वारदात 5 जून 2022 की सुबह उस समय अंजाम दी गई जब रेणु खातून सो रही थी और उसके शौहर सरीफुल शेख उर्फ शेर मोहम्मद ने उसका हाथ काटा।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, 23 साल की रेणु खातून का हाथ काटने के लिए उसके शौहर ने अपने दोस्तों का सहारा लिया और सोते समय कुल्हाड़ी से उसका हाथ काट डाला। पुलिस सूत्रों के अनुसार, रेणु ने बताया कि वो फौरन दुर्गापुर अस्पताल की ओर भागी जहाँ उसकी हालत स्थिर हुई। अब पुलिस ने महिला के पिता अजिजुल हक की तहरीर पर केस दर्ज किया है।

पूर्वी बर्धमान के कटवा के एडिशनल एसपी ध्रुव दास ने कहा, “हमें महिला के पिता से एक कंप्लेन मिली और हमने हत्या के प्रयास में केस को दर्ज किया। महिला का शौहर और उसके दोस्त फरार हैं। उन्हें पकड़ने के लिए दबिश दी जा रही है।”

सामने आई जानकारी बताती है कि रेणु केटूग्राम के चिनिशपुर की रहने वाली हैं। उन्होंने 2018 में कोलकाता के आरजी कर मेडिकल कॉलेज से जीएनएम डिग्री ली। लेकिन जब उन्होंने दुर्गापुर में काम करना शुरू किया तो उनके शौहर और ससुराल वालों को इससे दिक्कत होने लगी। किराने की दुकान चलाने वाले शेर मोहम्मद ने रेणु के नौकरी करने के निर्णय पर उन्हें तंग करना शुरू कर दिया।

उनके भाई ने बताया कि रेणु का निकाह 2017 में हुआ था लेकिन इसके बाद उसका जीना मुहाल कर दिया गया। ये यातनाएँ तब और बढ़ गई जब रेणु को सरकारी नौकरी का ऑफऱ आया जिसमें कहा गया था कि उन्हें नौकरी के लिए राज्य में कहीं भी पोस्ट किया जा सकता है।

पीड़िता के भाई रिपन शेख ने कहा कि शेर मोहम्मद ने सीधा उनकी बहन को काम पर जाने से मना कर दिया। मगर रेणु नौकरी पर जाना चाहती थी। रिपन ने बताया कि रेणु का हाथ काटने के बाद सरीफुल ने बताया कि उसने ये कदम सिर्फ इसलिए उठाया ताकि सुनिश्चित किया जा सके कि रेणु किसी हाल में जॉब न करे। इस काम को अंजाम देने के बाद उसने रेणु का हाथ भी अपने साथ ले गया ताकि किसी कीमत पर उसे जोड़ा न सके। रिपन कहते हैं, “अगर बहन का आधा कटा हाथ समय से मिल जाता तो जब उसे ठीक कर सकते थे। हमने घर में छाना लेकिन कुछ कही नहींमिला। बाद में वह एक बस्ते में पड़ोसियों को मिला। लेकिन तब तक बहुत देर हो गई थी।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘नूपुर शर्मा पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी गैर-जिम्मेदाराना’: रिटायर्ड जज ने सुनाई खरी-खरी, कहा – यही करना है तो नेता बन जाएँ, जज क्यों...

दिल्ली हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज एसएन ढींगरा ने मीडिया में आकर बताया है कि वो सुप्रीम कोर्ट के जजों की टिप्पणी पर क्या सोचते हैं।

‘क्या किसी हिन्दू ने शिव जी के नाम पर हत्या की?’: उदयपुर घटना की निंदा करने पर अभिनेत्री को गला काटने की धमकी, कहा...

टीवी अभिनेत्री निहारिका तिवारी ने उदयपुर में कन्हैया लाल तेली की जघन्य हत्या की निंदा क्या की, उन्हें इस्लामी कट्टरपंथी गला काटने की धमकी दे रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
202,399FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe