Thursday, August 5, 2021
Homeदेश-समाजतलाक पेपर पर हस्ताक्षर नहीं किया तो मोहम्मद अफजल ने 2 बच्चों सहित बीवी...

तलाक पेपर पर हस्ताक्षर नहीं किया तो मोहम्मद अफजल ने 2 बच्चों सहित बीवी को बनाया बंधक

"तलाक वाले कागजात पर हस्ताक्षर न करने से बौखलाए मेरे पति मोहम्मद अफजल ने मारपीट की। उसने मुझे और मेरे 2 बच्चों को कई दिनों तक घर में बंद कर के रखा।"

तीन तलाक के ख़िलाफ़ केंद्र सरकार ने क़ानून तो बना दिया लेकिन जबरन तलाक के मामले अभी भी सामने आ रहे हैं। बिहार में एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी व बच्चों को सिर्फ़ इसीलिए बंधक बनाए रखा क्योंकि वह अपनी बीवी से तलाक चाहता था। आरोपित की पत्नी ने तलाक सम्बंधित कागजात पर हस्ताक्षर करने से इनकार कर दिया था, जिसके बाद उसने अपने बीवी-बच्चों को ही बंधक बना लिया। मामला बिदुपुर थाना के अंतर्गत आने वाले दिलावरपुर का है।

पीड़िता ने बताया कि तलाक वाले कागजात पर हस्ताक्षर न करने से बौखलाए उसके पति मोहम्मद अफजल ने मारपीट भी की। उसने पीड़िता को अपने 2 बच्चों सहित कई दिनों तक घर में बंद कर के रखा। पीड़िता ने किसी तरह से इस घटना की सूचना पड़ोसियों के माध्यम से अपनी बहन को दी, जिसके बाद उसे आजाद कराया जा सका। महिला को सदर अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है।

पीड़िता ने बताया कि उसका पति पटना की किसी महिला के साथ प्रेम में है और उससे निकाह करना चाहता है। इसीलिए उसने तलाक सम्बंधित दतावेज पर हस्ताक्षर कराने के लिए जबरदस्ती की। पीड़ित महिला ने अपने पति पर प्रताड़ना का आरोप भी लगाया। विरोध किए जाने पर उसके पति मोहम्मद अफजल ने उसे कई दिनों तक प्रताड़ित किया। पीड़िता ने थाने में शिकायत दर्ज कराने की बात भी कही है।

तलाक पेपर पर हस्ताक्षर कराने के लिए पति ने प्रताड़ित किया (वीडियो साभार: लाइव हिंदुस्तान)

पीड़िता की बहन ने आरोप लगाया कि मोहम्मद अफजल और उसका पूरा परिवार मिल कर उसकी बहन को प्रताड़ित करता था। उसने न सिर्फ़ पीड़िता को बंधक बनाया बल्कि 4 दिनों तक खाना-पीना भी नहीं दिया। पुलिस ने कहा कि अभी तक पीड़ित पक्ष की तरफ से कोई मामला नहीं दर्ज कराया गया है और मामला दर्ज होते ही कार्रवाई की जाएगी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

इस्लामी आक्रांताओं की पोल खुली, सेक्युलर भी बोले ‘जय श्री राम’: राम मंदिर से ऐसी बदली भारत की राजनीतिक-सामाजिक संरचना

राम मंदिर के निर्माण से भारत के राजनीतिक व सामाजिक परिदृश्य में आए बदलावों को समझिए। ये एक इमारत नहीं बन रही है, ये देश की संस्कृति का प्रतीक है। वो प्रतीक, जो बताता है कि मुग़ल एक क्रूर आक्रांता था। वो प्रतीक, जो हमें काशी-मथुरा की तरफ बढ़ने की प्रेरणा देता है।

अगर बायोलॉजिकल पुरुषों को महिला खेलों में खेलने पर कुछ कहा तो ब्लॉक कर देंगे: BBC ने लोगों को दी खुलेआम धमकी

बीबीसी के आर्टिकल के बाद लोग सवाल उठाने लगे हैं कि जब लॉरेल पैदा आदमी के तौर पर हुए और बाद में महिला बने, तो यह बराबरी का मुकाबला कैसे हुआ।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,029FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe