Tuesday, June 18, 2024
Homeदेश-समाजबिहार में पुलिस ने छात्रों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा, वीडियो में दिखा कैसे बरसाई...

बिहार में पुलिस ने छात्रों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा, वीडियो में दिखा कैसे बरसाई लाठियाँ: उधर नीतीश कुमार को PM चेहरा प्रोजेक्ट करने में जुटी जदयू

कई छात्रों को इस पुलिसिया लाठीचार्ज में गंभीर चोटें आई हैं। छात्रों को वहाँ से भगाया जाने लगा और फिर अफरा-तफरी की स्थिति पैदा हो गई।

बिहार के आरा में छात्रों पर पुलिस ने जम कर लाठियाँ बरसाई हैं। बिहार से अक्सर शिक्षकों, आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं, भाजपा नेताओं और सरकारी परीक्षाओं के अभ्यर्थियों को पुलिस द्वारा पीटे जाने के वीडियो सामने आते रहते हैं। अब आरा में छात्र इसके पीड़ित बने हैं। मामला वीर कुँवर सिंह यूनिवर्सिटी (VKSU) का है, जहाँ शनिवार (23 दिसंबर, 2023) को सीनेट की बैठक हो रही थी। इस दौरान बाहर जुटे छात्रों ने जम कर विरोध प्रदर्शन किया। यूनिवर्सिटी प्रशासन ने पुलिस को बुला लिया।

ये छात्र बैठक का विरोध कर रहे थे। पुलिस उन्हें दौड़ा-दौड़ा कर पीटने लगी। बिहार के राज्यपाल विश्वनाथ आर्लेकर भी सीनेट की इस बैठक में शामिल होने के लिए आरा पहुँचे थे। इस दौरान छात्र संगठन के कुछ नेताओं ने विश्वविद्यालय के भीतर जाने की ज़िद की। कई छात्रों को इस पुलिसिया लाठीचार्ज में गंभीर चोटें आई हैं। छात्रों को वहाँ से भगाया जाने लगा और फिर अफरा-तफरी की स्थिति पैदा हो गई। वीडियो में बंदूकधारी पुलिसकर्मियों को लाठी से छात्रों को पीटते हुए देखा जा सकता है।

विरोध करने वालों में ‘अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP)’ के कई छात्र नेता भी शामिल थे। उनका कहना है कि यूनिवर्सिटी प्रशासन छात्रों की आवाज़ दबा रहा है, उन पर अत्याचार कर रहा है, जो बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय प्रशासन को छात्रों की माँगों के आगे झुकना पड़ेगा। वहीं वीडियो सामने आने के बाद आरा के पुलिस अधीक्षक कह रहे हैं कि लाठीचार्ज की कोई घटना नहीं हुई है, सिर्फ छात्रों को समझाया गया।

एसपी ने कहा कि वहाँ जुटे छात्रों से कहा गया कि वो अपना आवेदन दे दें, लेकिन छात्र यूनिवर्सिटी के दरवाजे पर चढ़ने लगे। उनका कहना है कि छात्रों को वहाँ से निकालने के क्रम में ही उन्हें चोटें आई हैं। उन्होंने कहा कि महिला एवं पुरुष दोनों बलों को वहाँ तैनात किया गया था। पुलिस आगे की कार्रवाई की बात कह रही है। उधर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी मोदी विरोधी गठबंधन में व्यस्त है। उन्हें बतौर पीएम उम्मीदवार प्रोजेक्ट किया जा रहा है। जदयू विधायक गोपाल मंडल ने I.N.D.I. गठबंधन से पूछा है कि आखिर नीतीश कुमार प्रधानमंत्री क्यों नहीं बन सकते?

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बेल्ट से पीटते, सिगरेट से दागते, वीडियो बनाते… 10वीं-12वीं की लड़कियों को निशाना बनाता था मुजफ्फरपुर का गिरोह, पुलिस ने भी मानी FIR में...

कुछ लड़कियों को तो जबरन शादी के लिए मंजूर किया गया। कई युवतियों को गर्भपात के लिए भी मजबूर किया गया। पुलिस ने मामला दर्ज करने में आनाकानी की।

NEET-UG में 0.001% की भी लापरवाही हुई तो… : सुप्रीम कोर्ट ने NTA और केंद्र सरकार को नोटिस जारी कर माँगा जवाब

सुप्रीम कोर्ट ने अहम टिप्पणी करते हुए कहा कि अगर 0.001 प्रतिशत भी किसी की खामी पाई गई तो हम उससे सख्ती से निपटेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -