Tuesday, October 19, 2021
Homeदेश-समाजविशेष अदालत ने वाड्रा को दी विदेश जाने की छूट, ED ने पूछा 'अगर...

विशेष अदालत ने वाड्रा को दी विदेश जाने की छूट, ED ने पूछा ‘अगर वह लौटे ही नहीं तो?’

रॉबर्ट वाड्रा ने अपनी याचिका में कहा था कि उनकी बड़ी आँत में ट्यूमर है। उन्होंने इसकी पुष्‍ट‍ि के लिए सर गंगाराम अस्पताल का एक प्रमाण पत्र भी अदालत में दाखिल किया था।

सीबीआई की विशेष अदालत ने यूपीए अध्यक्ष सोनिया गाँधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा को इलाज कराने के लिए विदेश जाने की अनुमति दे दी है। विवादित कारोबारी वाड्रा को मेडिकल ट्रीटमेंट हेतु 6 सप्ताह के लिए विदेश जाने की अनुमति दी गई है। प्रवर्तन निदेशालय (ED) के विरोध के बावजूद विशेष अदालत ने वाड्रा को ये अनुमति दे दी। ईडी ने वाड्रा की उस याचिका का विरोध किया, जिसमें उन्होंने मेडिकल आधार पर ब्रिटेन सहित अन्य देशों की यात्रा की अनुमति माँगी थी। वाड्रा ने 29 मई को हुई पिछली सुनवाई में अदालत को बताया था कि सर गंगा राम अस्पताल के अनुसार ‘उनकी बड़ी आँत में एक छोटा ट्यूमर है’।

ईडी ने कहा कि वाड्रा जानबूझ कर लन्दन जाना चाहते हैं क्योंकि वहाँ इस मामले से जुडी कई चीजें हैं। अदालत ने यह भी कहा कि वाड्रा के ख़िलाफ़ जारी किया गया ‘लुक आउट सर्कुलर’ भी इस अवधि के दौरान लागू नहीं होगा। इससे पहले वाड्रा से सरकारी जाँच एजेंसियों द्वारा 7 घंटे तक पूछताछ की गई थी। वाड्रा पर विदेश में संपत्ति अर्जित कर उसका विवरण छिपाने और टैक्स से बचने का आरोप है।

हालाँकि, कोर्ट ने वाड्रा को नीदरलैंड और अमेरिका जाने की अनुमति तो दे दी लेकिन लन्दन जाने की अनुमति नहीं दी क्योंकि उनकी लन्दन की संपत्ति को लेकर ही मामला चल रहा है और वह वहाँ जाकर जाँच में गड़बड़ी कर सकते हैं। वहीं ईडी ने याचिका पर विरोध जताते हुए अदालत को बताया था कि मामले की जांच बेहद गंभीर पड़ाव पर है और ऐसा हो सकता है कि वाड्रा लंदन से लौटे ही नहीं?

इसके अलावा सरकारी एजेंसी ने वाड्रा द्वारा साक्ष्य से छेड़छाड़ करने की भी आशंका जताई है। वाड्रा पर बीकानेर में जमीन खरीद में अनियमितता और दिल्ली एनसीआर में जमीन हथियाने सहित कई मामले चल रहे हैं, जिसमें उनसे पूछताछ होती रहती है। शुक्रवार को भी उन्हें समन जारी किया गया था, लेकिन उन्होंने अपनी जगह वकीलों को भेज दिया। वाड्रा के विदेश जाने की ख़बर सामने आते ही सोशल मीडिया यूजरों ने पूछा कि कहीं अगर वो विदेश से लौटते ही नहीं हैं, तो क्या होगा?

रॉबर्ट वाड्रा ने अपनी याचिका में कहा था कि उनकी बड़ी आँत में ट्यूमर है। उन्होंने इसकी पुष्‍ट‍ि के लिए सर गंगाराम अस्पताल का एक प्रमाण पत्र भी अदालत में दाखिल किया था। याचिका में कहा गया था कि डॉक्टर ने दूसरा सुझाव लेने की सलाह दी है। उन्होंने दलील दी थी कि वह चिकित्सकीय परामर्श लेने के लिए विदेश जाना चाहते हैं। ईडी ने अदालत के सामने गंभीर मसला उठाते हुए सम्भावना जताई थी कि ऐसा हो सकता है कि वाड्रा विदेश से लौटे ही नहीं।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

इधर आतंकी गोली मार रहे, उधर कश्मीरी ईंट-भट्टा मालिक मजदूरों के पैसे खा रहे: टारगेट किलिंग के बाद गैर-मुस्लिम बेबस

कश्मीर घाटी में गैर-कश्मीरियों को टारगेट कर हत्या करने के बाद दूसरे प्रदेशों से आए श्रमिक अब वापस लौटने को मजबूर हो रहे हैं।

कश्मीर को बना दिया विवादित क्षेत्र, सुपरमैन और वंडर वुमेन ने सैन्य शस्त्र तोड़े: एनिमेटेड मूवी ‘इनजस्टिस’ में भारत विरोधी प्रोपेगेंडा

सोशल मीडिया यूजर्स इस क्लिप को शेयर कर रहे हैं और बता रहे हैं कि कैसे कश्मीर का चित्रण डीसी की इस एनिमेटिड मूवी में हुआ है और कैसे उन्होंने भारत को बुरा दिखाया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,884FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe