Tuesday, July 23, 2024
Homeदेश-समाजडोसा साथ सांभर न देने पर बिहार के रेस्टॉरेंट पर कोर्ट ने ठोका जुर्माना:...

डोसा साथ सांभर न देने पर बिहार के रेस्टॉरेंट पर कोर्ट ने ठोका जुर्माना: कहा – ग्राहक को हुई मानसिक, शारीरिक और आर्थिक पीड़ा

अदालत ने जुर्माना भरने के लिए 'नमक' नाम के इस रेस्टोरेंट को 45 दिन का समय दिया है। कोर्ट ने कहा कि अगर जुर्माने को समय पर नहीं भरा गया तो इस पर 8 प्रतिशत के हिसाब से ब्याज लगेगा और ब्याज सहित जुर्माने को भरना पड़ेगा।

बिहार में डोसा के साथ सांभर नहीं परोसने पर कोर्ट ने रेस्टोरेंट पर 3,500 रुपए का जुर्माना लगाया है। उपभोक्ता अदालत ने कहा कि सांभर नहीं परोसने से ग्राहक को मानसिक, शारीरिक और आर्थिक पीड़ा एवं परेशानी हुई है। जुर्माना भरने के लिए कोर्ट ने रेस्टोरेंट के मालिक को 45 दिन का समय दिया है।

मामला बिहार के बक्सर जिले का है। पेशे से वकील मनीष गुप्ता अपने जन्मदिन के अवसर पर 15 अगस्त 2022 का ऑर्डर दिया। डोसा की कीमत 140 रुपए का भुगतान करने के बाद वह पैकेट लेकर अपने घर लौट आए। जब उसे खोलकर देखा तो उसमें सांभर नहीं था।

इसके बाद मनीष गुप्ता रेस्टोरेंट गए और सांभर के बारे में बात की। हालाँकि, रेस्टोरेंट ने इस पर ध्यान नहीं दिया कहा, ‘140 रुपये में क्या रेस्टोरेंट खरीदोगे’। इसके बाद मनीष गुप्ता ने उन्हें कानूनी नोटिस भेजा। नोटिस का भी उन्हें कोई जवाब नहीं मिला तो इसकी शिकायत उन्होंने जिला उपभोक्ता फोरम में की।

लगभग 11 महीने बाद बाद उपभोक्ता अदालत ने आवेदक मनीष गुप्ता को इस मामले में शारीरिक, मानसिक और आर्थिक रूप से पीड़ित बताया। इसके आधार पर अदालत ने रेस्टोरेंट पर 3500 रुपए का जुर्माना लगाया। इसमें मुकदमेबाजी के लिए 1500 रुपए और मूल जुर्माना की राशि 2000 रुपए है।

अदालत ने जुर्माना भरने के लिए ‘नमक’ नाम के इस रेस्टोरेंट को 45 दिन का समय दिया है। कोर्ट ने कहा कि अगर जुर्माने को समय पर नहीं भरा गया तो इस पर 8 प्रतिशत के हिसाब से ब्याज लगेगा और ब्याज सहित जुर्माने को भरना पड़ेगा।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इन्सिटटे ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -