Saturday, October 23, 2021
Homeदेश-समाजकत्ल से पहले उतारे गए थे कपड़े; काला कपड़ा डालकर खींचकर ले गए थे...

कत्ल से पहले उतारे गए थे कपड़े; काला कपड़ा डालकर खींचकर ले गए थे IB अधिकारी अंकित शर्मा को ताहिर हुसैन के घर की तरफ: दिल्ली पुलिस

सलमान की गिरफ्तारी के बाद पुलिस को कुछ अहम जानकारियाँ भी मिली हैं जिनमें बताया जा रहा है कि आईबी अधिकारी अंकित शर्मा को मारने से पहले उनके ऊपर काला कपड़ा डाला गया था। इसके बाद उन्हें खींचकर आम आदमी पार्टी नेता तरीक हुसैन के घर की ओर ले जाया गया था। यही नहीं, उनकी हत्या करने से पहले उनके कपड़े भी निकाल लिए गए थे।

दिल्ली में हुए हिन्दू विरोधी दंगों में IB कर्मचारी अंकित शर्मा की हत्या के मामले में दिल्ली पुलिस ने पाँच नाम वाले एक शख्स को गिरफ्तार किया है। इसका नाम सलमान उर्फ हसीन उर्फ नन्हें उर्फ मोमिन उर्फ मुल्ला है।

सलमान की गिरफ्तारी के बाद पुलिस को कुछ अहम जानकारियाँ भी मिली हैं जिनमें बताया जा रहा है कि आईबी अधिकारी अंकित शर्मा को मारने से पहले उनके ऊपर काला कपड़ा डाला गया था। इसके बाद उन्हें खींचकर आम आदमी पार्टी नेता तरीक हुसैन के घर की ओर ले जाया गया था। यही नहीं, उनकी हत्या करने से पहले उनके कपड़े भी निकाल लिए गए थे।

ताहिर हुसैन मुस्तफाबाद विधानसभा क्षेत्र से आम आदमी पार्टी का पार्षद है। अधिकारियों के अनुसार, केंद्रीय जाँच एजेंसी ने हुसैन के खिलाफ इंटेलीजेंस ब्यूरो (आइबी) के अधिकारी की हत्या का आपराधिक मुकदमा भी दर्ज किया है। हुसैन इस समय दिल्ली पुलिस की हिरासत में है।

गौरतलब है कि छब्बीस वर्षीय IB अधिकारी अंकित शर्मा के परिवार ने हत्या का आरोप आम आदमी पार्टी पार्षद ताहिर हुसैन पर लगाया है। अंकित शर्मा 25 फरवरी को लापता हो गए थे। इसके ठीक अगले दिन उनका शव उत्तर-पूर्वी दिल्ली के दंगा प्रभावित चाँद बाग इलाके में उनके घर के पास एक नाले से मिला था।

अंकित शर्मा के भाई और पिता के बयान के आधार पर AAP नेता ताहिर हुसैन पर हत्या का मुकदमा दर्ज होने के बाद आम आदमी पार्टी ने उसे पार्टी से भी निलंबित कर दिया था। बाद में पुलिस ने इस मामले में ताहिर हुसैन को गिरफ्तार किया। हालाँकि, ताहिर हुसैन ने इस आरोपों को निराधार बताया है।

ताहिर हुसैन के साथ ही हिंसा फैलाने के अरोपित रियासत अली और दिलबर नेगी के हत्यारोपित शाहनवाज को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। इससे पहले कोर्ट ने रियासत अली को पुलिस रिमांड पर भेजा था। केंद्र सरकार दिल्ली दंगों में शामिल लोगों की पहचान तत्परता से कर रही है और दोषियों की गिरफ्तारियाँ कर रही है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘हिन्दुओ, औकात में रहो! तुम्हारी महिलाएँ हमारी हरम का हिस्सा थीं, दासी थीं’: यूपी पुलिस के हत्थे चढ़ा सपा नेता अदनान खान, हो रही...

ये फेसबुक पोस्ट आंबेडकर नगर के टांडा विधानसभा क्षेत्र में सपा यूथ विंग के विधानसभा अध्यक्ष अदनान खान का है, जिसमें हिन्दुओं को धमकी दी गई है।

जहाँ दकियानूसी ईसाई चला रहे टीके के खिलाफ अभियान, उन्हीं की मीडिया को करारा जवाब है भारत का 100+ करोड़

100 करोड़ का ये आँकड़ा भारत/भारतीयों के बारे में सदियों से फैलाए झूठ (अनपढ़, अनुशासनहीन, अराजक, स्वास्थ्य सुविधाहीन आदि) की बखियाँ उधेड़ रहा है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
131,033FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe