Saturday, October 16, 2021
Homeदेश-समाजमंदिर बचाने निकले नरेश सैनी ने ICU में ली आखिरी साँस, दंगाइयों ने मारी...

मंदिर बचाने निकले नरेश सैनी ने ICU में ली आखिरी साँस, दंगाइयों ने मारी थी गोली

नरेश के परिजनों के मुताबिक, जब वो यहाँ से मंदिर की ओर भागे उस समय सामने से 400-500 लोगों की भीड़ आई और उस भीड़ में से ही किसी ने नरेश पर गोली चला दी। गोली लगने के बाद नरेश की हालत इतनी गंभीर हो गई कि वो दोबारा होश में नहीं आए।

दिल्ली में हुए हिंदू विरोधी दंगों में कई बेकसूरों की जान गई। इन बेकसूरों में एक नाम नरेश सैनी का भी है। नरेश अब हमारे बीच नहीं हैं। उन्होंने कई दिन तक जीटीबी अस्पताल के आईसीयू में जिंदगी और मौत के बीच लड़ाई लड़ी और 4 मार्च को आखिरी साँस लेते हुए सबको हमेशा के लिए अलविदा कह गए।

ब्रह्मपुरी इलाके के गली नंबर-1 में रहने वाले नरेश सैनी हिंसा वाले दिन अपने घर से मंदिर बचाने निकले थे। उस समय सुबह के 4: 30 बजे। अन्य गली वालों की तरह उन्हें भी यही मालूम चला था कि मुस्लिमों की भीड़ मंदिर तोड़ने आई है। बस फिर क्या था? वो भी बाकी गली वालों के साथ निकल गए।

नरेश के परिजनों के मुताबिक, जब वो यहाँ से मंदिर की ओर भागे उस समय सामने से 400-500 लोगों की भीड़ आई और उस भीड़ में से ही किसी ने नरेश पर गोली चला दी। गोली लगने के बाद नरेश की हालत इतनी गंभीर हो गई कि वो दोबारा होश में नहीं आए। उन्हें जीटीबी अस्पताल भी ले जाया गया, लेकिन वहाँ भी वे आईसीयू में भर्ती रहे और 4 तारीख को उन्होंने दम तोड़ दिया।

परिजन बताते हैं कि दंगाई भीड़ ने जिस समय नरेश पर हमला किया उस समय वह बिलकुल निहत्थे थे, वे घर के पास स्थित मंदिर को बचाने निकले थे, मगर उन्हें क्या पता था कि उस दंगाई भीड़ का कहर उनपर ही टूटेगा।

गौरतलब है कि बेकसूर होने के बावजूद जान गँवाने वालों में नरेश सैनी की कहानी अकेले इतनी पीड़ादायक नहीं है। गोकुलपुरी के नितिन, आलोक तिवारी जैसे अनेकों की कहानियाँ बेहद दर्दनाक है। जिन्हें सुनकर ही मन सिहर जाए। दिलबर नेगी के साथ हुई निर्ममता तो रूह कँपा देने वाली है। 24 फरवरी को जिस समय दिल्ली में हिंसा भड़की थी, उसी शाम इन दंगों की क्रूर वास्तविकता का शिकार 20 साल के दिलबर सिंह नेगी को होना पड़ा था। दिलबर सिंह नेगी को दंगाइयों की भीड़ ने तलवार से काटने के बाद जलते हुए घर में आग के हवाले कर दिया था। बाद में जलकर राख हुए दिलबर नेगी की विडियो भी वायरल हुई थी।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दलित युवक लखबीर सिंह की हत्या के बाद संयुक्त किसान मोर्चा के बचाव में कूदा India Today, ‘सोर्स’ के नाम पर नया ‘भ्रमजाल’

SKM के नेता प्रदर्शन स्थल पर हुए दलित युवक की हत्या से खुद को अलग कर रहे हैं। इस बीच इंडिया टुडे ग्रुप अब उनके बचाव में सामने आया है। .

कुंडली बॉर्डर पर लखबीर की हत्या के मामले में निहंग सरबजीत को हरियाणा पुलिस ने किया गिरफ्तार, लगे ‘जो बोले सो निहाल’ के नारे

निहंग सिख सरबजीत की गिरफ्तारी की वीडियो सामने आई है। इसमें आसपास मौजूद लोग तेज तेज 'जो बोले सो निहाल' के नारे बुलंद कर रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
128,835FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe