Monday, September 27, 2021
Homeदेश-समाजIB के अंकित शर्मा की हत्या में अब तक 6 गिरफ्तार: दंगों के दौरान...

IB के अंकित शर्मा की हत्या में अब तक 6 गिरफ्तार: दंगों के दौरान चाकुओं से गोद नाले में फेंक दिया था

पुलिस ने चॉंदबाग में दंगों के दौरान एक अपराधी मूसा के फोन को सर्विलांस पर रखा था। उसी बातचीत में मुल्ला का नाम सामने आया। इसके बाद जब मुल्ला का फोन सर्विलांस पर लिया गया तो वह किसी से बात करते हुए सुनाई पड़ा- हमने एक को गोद दिया।

आईबी के कर्मचारी अंकित शर्मा की हत्या के सिलसिले में दिल्ली पुलिस ने अब तक 6 लोगों को गिरफ्तार किया है। उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हिंदू विरोधी दंगों के दौरान शर्मा की निर्मम तरीके से हत्या कर उनका शव नाले में फेंक दिया गया था। इस मामले में सबसे पहले सलमान उर्फ मुल्ला उर्फ नन्हे को गिरफ्तार किया गया था। उसने हत्या से जुड़े कई राज खोले थे। इसके बाद पॉंच और लोग गिरफ्तार किए गए हैं। इनके नाम हैं- फ़िरोज़, जावेद, गुलफाम, शोएब और अनस।

मुल्ला को गुरुवार को गिरफ्तार किया गया था। मुल्ला मूल रूप से अलीगढ़ का रहने वाला है। 2005 से वह दिल्ली के सुंदर नगरी इलाके में रह रहा है। वह प्याज की रेहड़ी लगाता था। सलमान के मुताबिक दंगाइयों ने अंकित का मजहब जानने के लिए उनके कपड़े उतारे थे। धर्म पुख्ता कर उन्हें चाकुओं से गोद डाला। सलमान ने बताया कि उसने खुद अंकित पर 14 बार चाकू से वार किए। अंकित के चेहरे पर काला कपड़ा डाल उन्हें आप के निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन के घर में ले जाया गया था।

ताहिर पहले से ही पुलिस की गिरफ्त में है। उसकी इमारत से पेट्रोल बम और पत्थर का जखीरा बरामद किया गया था। आरोप है कि उसकी इमारत से हिंदुओं को निशाना बनाकर हमले किए गए। गोलियॉं चलाई गई। अंकित की हत्या के सिलसिले में उसके पिता रविंद्र शर्मा ने दयालपुर थाने में एफआईआर दर्ज कराते हुए ताहिर हुसैन समेत कई अन्य लोगों को आरोपित बनाया था। अंकित का शव 26 फरवरी को चॉंदबाग के नाले से मिला था।

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार सलमान एक फोन कॉल से गिरफ्त में आया था। असल में पुलिस ने चॉंदबाग में दंगों के दौरान एक अपराधी मूसा के फोन को सर्विलांस पर रखा था। उसी बातचीत में मुल्ला का नाम सामने आया। इसके बाद जब मुल्ला का फोन सर्विलांस पर लिया गया तो वह किसी से बात करते हुए सुनाई पड़ा- हमने एक को गोद दिया। मूसा की भी तलाश की जा रही है। अंकित की हत्या में उसके शामिल होने का भी संदेह है।

दंगाइयों ने अंकित शर्मा के साथ दो अन्य हिंदू युवकों को भी पकड़ लिया था। दोनों किसी तरह उनके चंगुल से छुड़ाकर भागने में कामयाब हो गए थे। अंकित शर्मा के अकेले पकड़े जाने से दंगाइयों ने बेरहमी से उनकी हत्या दी थी, जिसकी पुष्टि पोस्टमार्टम रिपोर्ट से भी होती है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

देश से अवैध कब्जे हटाने के लिए नैतिक बल जुटाना सरकारों और उनके नेतृत्व के लिए चुनौती: CM योगी और हिमंता सरमा ने पेश...

तुष्टिकरण का परिणाम यह है कि देश के बहुत बड़े हिस्से पर अवैध कब्जा हो गया है और उसे हटाना केवल सरकारों के लिए कानून व्यवस्था की चुनौती नहीं बल्कि राष्ट्रीय सभ्यता के लिए भी चुनौती है।

‘टोटी चोर’ के बाद मार्केट में AC ‘चोर’, कन्हैया ‘क्रांति’ कुमार का कॉन्ग्रेसी अवतार

एक 'आंगनबाड़ी सेविका' का बेटा वातानुकूलित सुख ले! इससे अच्छे दिन क्या हो सकते हैं भला। लेकिन सुख लेने के चक्कर में कन्हैया कुमार ने AC ही उखाड़ लिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,789FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe