Saturday, February 4, 2023
Homeदेश-समाजई-कॉमर्स कंपनी के डिलीवरी बॉय ने 66 महिलाओं को बनाया शिकार: फीडबैक के नाम...

ई-कॉमर्स कंपनी के डिलीवरी बॉय ने 66 महिलाओं को बनाया शिकार: फीडबैक के नाम पर वीडियो कॉल, फिर ब्लैकमेल और रेप

जब पुलिस आरोपित डिलीवरी बॉय को पकड़ने गई, तब भी वो किसी महिला के साथ ही था। उस महिला को भी उसी तरह से डराया गया था। पुलिस को उसके पास से मोबाइल फोन और माइक्रोचिप्स पर कई महिलाओं की आपत्तिजनक तस्वीरें और वीडियोज मिले।

पश्चिम बंगाल के हुगली में एक ई-कॉमर्स वेबसाइट के डिलीवरी बॉय को गिरफ्तार किया गया है, जिसने 66 महिलाओं को ब्लैकमेल कर उनका रेप किया। उसे वहाँ पर लोग ‘सीरियल रेपिस्ट’ भी कह रहे हैं। महिलाओं ने उसके खिलाफ कड़ी सजा की माँग की है। उसका नाम विशाल बरमा है, जो डिलीवरी के बाद फीडबैक लेने के नाम पर महिलाओं को वीडियो कॉल करता था। महिलाओं को विश्वास में लेकर उन्हें कई बार कॉल करता था और तस्वीरें ले लेता था।

उन्हीं के जरिए आरोपित डिलीवरी मैन महिलाओं के साथ ब्लैकमेल और रेप की घटनाओं को अंजाम दिया करता था। वो उन महिलाओं को अपने साथ शारीरिक सम्बन्ध बनाने के लिए विवश करता था। क्योटा के त्रिकोण पार्क में रहने वाले उक्त युवक पर आरोप है कि उसने 66 महिलाओं का रेप किया। चंदन नगर कमिश्नरेट के अंतर्गत चुचुड़ा थाने की पुलिस ने उसे और उसके साथी सुमन मंडल को गिरफ्तार कर के जेल भेज दिया है। उसकी माँ ने भी अपने बेटे के अपराध को स्वीकार किया है।

वीडियो कॉल के दौरान वो महिलाओं के साथ बात करते हुए स्क्रीनशॉट्स ले लिया करता था। शनिवार (फरवरी 20, 2021) को इन दोनों को गिरफ्तार कर के अगले ही दिन अदालत में पेश किया गया, जहाँ न्यायाधीश ने उन्हें 5 दिनों की पुलिस कस्टडी में भेज दिया। उसने ज्यादातर गृहणियों को अपना शिकार बनाया। वो हथियार दिखा कर रुपए और गहने भी छीन लेता था। एक गृहिणी ने गहने छीनने की शिकायत लिखाई थी, जिसके बाद जाँच शुरू हुई।

‘सीरियल रेपिस्ट’ डिलीवरी बॉय को किया गया गिरफ्तार (वीडियो साभार: ABP Ananda)

जब पुलिस आरोपित डिलीवरी बॉय को पकड़ने गई, तब भी वो किसी महिला के साथ ही था। उस महिला को भी उसी तरह से डराया गया था। पुलिस को उसके पास से मोबाइल फोन और माइक्रोचिप्स पर कई महिलाओं की आपत्तिजनक तस्वीरें और वीडियोज मिले। वहीं उसका दोस्त और पेशे से पेंटर सुमन भी उसके साथ इन कृत्यों में शामिल था। उसके परिवार को इस बारे में कुछ नहीं पता। आरोपित ने दावा किया है कि उसके पास जो बंदूक है वो नकली है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तान ने Wikipedia को किया बैन, ‘ईशनिंदा’ वाले कंटेंट हटाने को राजी नहीं हुई कंपनी

पाकिस्तान ने कथित ईशनिंदा से संबंधित कंटेंट को लेकर देश में विकिपीडिया को बैन कर दिया है। इससे पहले उसे 48 घंटे का समय दिया था।

‘ये मुस्लिम विरोधी कार्रवाई’: असम में बाल विवाह के खिलाफ एक्शन से भड़के ओवैसी, अब तक 2200 गिरफ्तार – इनमें सैकड़ों मौलवी-पुजारी

असम सरकार की कार्रवाई के तहत दूल्हे और उसके परिजनों के अलावा पंडितों और मौलवियों को भी गिरफ्तार किया जा रहा है। ओवैसी बोले - ये मुस्लिम विरोधी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
243,756FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe