Monday, June 17, 2024
Homeदेश-समाजसरकारी अधिकारी बोलने गए थे पराली मत जलाओ, किसानों ने उन्हीं के हाथों लगवा...

सरकारी अधिकारी बोलने गए थे पराली मत जलाओ, किसानों ने उन्हीं के हाथों लगवा दी आग: पंजाब का वीडियो वायरल

पंजाब के किसानों की वायरल वीडियो में देख सकते हैं कि कैसे वो पहले सरकारी अधिकारियों को पकड़कर उनसे बहस करते हैं और फिर उन्हें माचिस देकर पराली में आग लगवाते हैं।

दिल्ली में एक ओर जहाँ बढ़ते प्रदूषण के पीछे आम आदमी पार्टी सरकार हरियाणा में जलने वाली पराली को दोष देने में लगी है और ये बता रही है कि पंजाब में तो सरकारी अधिकारी गाँव गाँव जाकर किसानों को पराली जलाने से रोक रहे हैं। उसी बीच सोशल मीडिया पर पंजाब के बठिंडा से एक वीडियो सामने आई है।

इस वीडियो में देखने को मिल रहा है कि कई किसान शर्ट-पैंट में खड़े दो व्यक्तिों को घेरकर उनसे तेज-तेज बात कर रहे हैं और उसके बाद उनमें से एक को देकर पराली में आग लगवा रहे हैं। वीडियो बनाने वाले को कहते सुना जा सकता है- ये देखो भाई ये आग बुझाने आए थे और अब खुद आग लगा रहे हैं।

ये वीडियो एक्स (पूर्व में ट्विटर) पर तो वायरल है ही इसके अलावा मीडिया ने भी इस घटना की वीडियो को शेयर किया है। दावा है कि ये शर्ट पैंट में नजर आ रहे व्यक्ति कोई और नहीं बल्कि सरकारी अधिकारी हैं। जो किसानों को पराली जलाने से रोकने के लिए गाँव गए थे।

एबीपी पंजाबी की रिपोर्ट के अनुसार, किसानों और सरकारी अधिकारियों के बीच में पहले बहुत देर तक खुले खेत में बहस होती रही। अधिकारी उन लोगों से पहले मना करते रहे कि वो पराली में आग नहीं लगाएँगे। बाद में किसान उन्हें कहते हैं कि वो अपने ऊपर अधिकारियों को जाकर बता दें कि उनपर दबाव बनवाकर पराली जलवाई गई थी।

अधिकारी उन्हें समझाते हैं कि इसके परिणाम बुरे हो सकते हैं, किसानों पर मामला दर्ज हो सकता है… लेकिन किसान तब भी बोलते हैं कि अगर ऐसा कुछ होता है तो वो खुद देख लेंगे। इसके बाद उनसे पराली में आग लगवा दी जाती है।

रिपोर्ट्स् के अनुसार ये मामला पंजाब के भटिंडा जिले के बुर्ज महमा का है। पत्रकार गगनदीप ने भी इस वीडियो को शेयर किया है। वीडियो की शुरुआत में स्पष्ट है कि कैसे दो अधिकारियों को धक्का दे देकर आगे किया गया और फिर सबके सामने उनसे आग लगवा दी गई।

गगनदीप सिंह के ट्वीट के अनुसार पंजाब मुख्यमंत्री ने कहा कि इस किसानों पर एफआईआर होगी जिन्होंने पराली जलाने से रोकने गए सरकारी अधिकारियों से जबरदस्ती की।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सेजल, नेहा, पूजा, अनामिका… जरूरी नहीं आपके पड़ोस की लड़की ही हो, ये पाकिस्तान की जासूस भी हो सकती हैं: जानिए कैसे ISI के...

पाकिस्तानी ISI के जासूस भारतीय लड़कियों के नाम से सोशल मीडिया पर आईडी बना देश की सुरक्षा से जुड़े लोगों को हनीट्रैप कर रहे हैं।

ऋषिकेश AIIMS में भर्ती अपनी माँ से मिलने पहुँचे CM योगी आदित्यनाथ, रुद्रप्रयाग हादसे के पीड़ितों को भी नहीं भूले

उत्तराखंड के ऋषिकेश से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यमकेश्वर प्रखंड का पंचूर गाँव में ही योगी आदित्यनाथ का जन्म हुआ था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -